प्रधानमंत्री आवास योजना में हो रही भ्रष्टाचार को लेकर गरीब महिला ने पी.ओ को दिया शिकायती पत्र

अपराध, देश, भ्रष्टाचार, राज्य

गणेश मौर्य, ब्यूरो चीफ अंबेडकरनगर (यूपी), NIT:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ड्रीम प्रोजेक्ट आवास योजना के तहत 2022 तक देश के गरीबों को आवास मुहैया करा देने की घोषणा की गई है। प्रधानमंत्री ने गरीबों को छत और उनके सपने को पूरा कर भी रही है जिसके अंतर्गत नगरीय और ग्रामीण क्षेत्रों में पात्र लाभार्थियों को आवास बनवाने के लिए सरकार अच्छी खासी राशि दे रही है। नगरीय क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास के लिए ढाई लाख रुपये 3 किस्तों में दिए जाने का प्रावधान है, जिसमें पहली किस्त 50,000 काम शुरू होने से लेकर लिंटर तक के निर्माण के लिए डेढ़ लाख रुपए और तीसरी किस्त 50,000 उसके बाद के मिलना होता है मगर भ्रष्टाचार की दीमक ने इस योजना को भी खा लिया है। जी हां हम बात कर रहे हैं अकबरपुर शहर क्षेत्र के वार्ड नंबर 23 बावनपुर का जहां सभासद पति शिवपूजन उर्फ चिंटू द्वारा पैसे की मांग भी की जा रही है और पैसा ना देने पर पात्र को अपात्र घोषित करवा दिया जा रहा है। 27 जनवरी 2020 को इस वार्ड में आवास के जांच के नाम पर भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है, जिसमें साफ तौर पर खुलासा हुआ है कि बिना रिश्वत दिए गरीबों को आवास नहीं मिल सकता और गरीबों को पात्रता की सूची में नहीं डालते और इस बात का भी खुलासा हुआ है कि कई बार पात्र होने के बावजूद गरीब का नाम शामिल करने के बजाय अवैध वसूली करके अपात्र व्यक्तियों का नाम चयनित कर लेते हैं। बताया जाता है कि अकबरपुर नगर पालिका सभासद पति शिवपूजन आवास दिलवाने के नाम पर कई लोगों से वसूली कर चुके हैं जो पैसा न देने की दशा में उसके घर पर जाकर तरह की धमकी दे रहा है कि आवास नहीं दिया जाएगा।

हैरान कर देने वाली सच्चाई आई सामने

एक तरफ तो केंद्र और प्रदेश सरकार लगातार भ्रष्टाचार मिटाने के दावे कर रही है लेकिन दूसरी तरफ आमजन और विपक्ष लगातार भ्रष्टाचार बढ़ने का आरोप लगा रहे हैं। पीड़िता सरोज कुमारी पति राजेश कुमार बावनपुर वार्ड नंबर 23 ने परियोजना अधिकारी अकबरपुर अंबेडकरनगर को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाते हुए सभासद पति पर कार्रवाई करने की मांग की है। सरोजा कुमारी ने बताया कि पैसा मांगने को लेकर वीडियो वायरल होने के बाद धमकियां मिल रही हैं।

Leave a Reply