जिम्मेदार अधिकारियों की मिलीभगत से नशे के कारोबारी कर रहे है युवाओं की जिंदगी से खिलवाड़

अपराध, देश, भ्रष्टाचार, राज्य

वी.के.त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर-खीरी (यूपी), NIT:

नशे से जिंदगियां बर्बाद हो रही हैं, नशे की लत में पड़कर युवा भटक रहे हैं और यही वजह है कि अपराध भी बढ़े हैं। नशे की लत के कारण ही अवैध धंधे शहरी व ग्रामीण इलाकों में बढ़ रहे हैं। पिछले छह माह में ही हजारों लीटर अवैध शराब पकड़ी जा चुकी है। शराब के अलावा गांजा, चरस, अफीम, नशीली गोलियां, डोडा पोस्त, हेरोइन मादक पदार्थों का प्रयोग बढ़ रहा है जो स्वास्थ्य के लिहाज से बेहद खतरनाक है। नशे की वजह से सड़क हादसों की संख्या तो बढ़ी ही है इसके अलावा दुष्कर्म, चोरी, हत्या जैसे मामले भी सामने आए हैं।

नशे की लत में बर्बाद हो रही हैं जिंदगियां

नगर के लोगों का कहना है कि युवा पीढ़ी नशे के दलदल में इस तरह से फंस गई है कि अब मां बाप के हाथ में भी कुछ नहीं रह गया है। अगर पुलिस व प्रशासन की बात की जाए तो यदि वह ऐसे नशेड़ी युवाओं को धरपकड़ कर सफेद चोला ओढ़कर नशीले पदार्थ बेचने वालों पर शिकंजा आसानी से कस सकती है लेकिन भ्रष्ट अधिकारी यह करना नहीं चाह रहे हैं।
डॉक्टरों का कहना है कि नशे से व्यक्ति की सेहत को नुकसान होता है। नशे की आदत पड़ जाने पर इसे छोड़ना मुश्किल हो जाता है। अधिक नशा व्यक्ति की मृत्यु की वजह भी बन जाता है। स्वच्छ समाज के निर्माण के लिए लोगों को आगे आना चाहिए और समाज को नशा मुक्त बनाने में सहयोग करना चाहिए।

Leave a Reply