एटीएम बदलकर ठगी करने वाले शातिर बदमाश को साइबर पुलिस ने किया गिरफ्तार

अपराध, देश, राज्य

हिमांशु सक्सेना, ग्वालियर (मप्र), NIT:

राज्य साइबर पुलिस जोन-ग्वालियर ने साइबर क्राइम से जुड़े एक बड़े मामले का पर्दाफाश किया है, जिसमें आरोपी शातिर अंदाज में लोगों के एटीएम कार्ड बदलकर ठगी की वारदात को अंजाम देता था। आरोपी ने पूछताछ में भी पुलिस को घुमाने के कई प्रयास किए लेकिन वह विफल रहा। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी से तीन लाख से ज्यादा के चेक और 18 करीब एटीएम कार्ड व एक मोबाइल बरामद कर लिया है। पुलिस अभी आरोपी से पूछताछ कर अन्य ठगी के मामलों का खुलासा करने में जुटी है।

जानकारी के मुताबिक़ आरोपी एटीएम बूथ पर झांसा देकर लोगों के एटीएम कार्ड बदलकर ठगी करता था जो कि एटीएम से पैसे निकालने वालों को टारगेट कर एटीएम मशीन, शॉपिंग मॉल एवं पैट्रोल पंपों पर लगी पॉस मशीनों के माध्यम से कार्ड से रूपयों को कराता था। पुलिस ने आरोपी अश्वनी दुबे उर्फ छुन्ना पंडित से 3,13,000/-रुपए के चैक, 18 अळट कार्ड एवं 01 मोबाईल फॉन जब्त किया है। बताया गया है कि आरोपी जुआ खेलने एवं स्मैक पीने का आदि है और जेब कतरों एवं नशेडियों को पैसे देकर डेबिट कार्ड खरीदकर ठगी की वारदात को अंजाम देता था।

दरअसल पुलिस अधीक्षक राज्य साइबर पुलिस जोन-ग्वालियर सुधीर अग्रवाल ने बताया कि एटीएम कार्ड के माध्यम से लाखों रुपए ठगी की शिकायत लगातार प्राप्त हो रही थी। जिस पर तत्काल कार्यवाही करने हेतु एक टीम गठित की गई। जिसमें टीम द्वारा बारीकी से पड़ताल की तो पता चला कि कि आरोपी ने फरियादी के बदले हुए कार्ड का कई जगह उपयोग करके वारदात को अंजाम दे रहा है। वहीं जांच में सामने आया कि आरोपी द्वारा फरियादियों के कार्ड से पैसे निकाले के लिए पीओएस मशीन के माध्यम से एक बडा अमाउंट कैश किया है। जिसमें आरोपी ने पेट्रोल पंप से एक बड़ा अमाउन्ट निकाला है। इसके बाद आरोपी की पहचान होने पर टीम ने उसकी गिरफ्तारी हेतु शहर के कई ठिकानों पर दबिश दी और बदमाश को पकड़ लिया। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला कि आरोपी बहुत शातिर होने के साथ-2 बैंकिंग ट्रांजेक्शन की उच्च जानकारी रखता है और लोगों को बड़ी चालाकी से अपनी बातों में फंसाकर अपने काम को अंजाम देता था। पुलिस की इस कार्रवाई में उप निरीक्षक अनिल शर्मा, उप निरीक्षक शैलेन्द्र राठौर, सउनि धीरज शर्मा की अहम भूमिका रही।

Leave a Reply