रात को सोते समय वृद्ध की गोली मार कर हत्या, क्षेत्र में फैली सनसनी

अपराध, देश, राज्य

वी.के.त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर-खीरी (यूपी), NIT:

भीरा थानाध्यक्ष की सक्रियता व कठोरता के चलते
काफी समय से शांत चल रहे भीरा थाना क्षेत्र में हत्या की सूचना मिलने पर पूरे क्षेत्र में खलबली मच गई है। भीरा थाना क्षेत्र के ग्राम मुड़िया हेमसिंह में मंगलवार की रात को खेत पर सो रहे एक वृद्ध की गोली मारकर हत्या कर दी गई। 

मिली जानकारी के अनुसार भीरा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले गांव मुड़िया हेमसिंह में रहने वाले 65 वर्षीय वृद्ध दन्ना मंगलवार की शाम को रोज की तरह खाना खाकर खेत की रखवाली करने के लिए खेत पर गए, बुधवार सवेरे आठ बजे जब उनका पुत्र रामभजन खाना  लेकर पहुंचा तो अपने पिता दन्ना की खून से लथपथ लाश  चारपाई पर देखकर सन्न रह गया। राम भजन ने फोन द्वारा अपने परिजनों व गांव वालों को घटना की सूचना दी। हत्या की खबर सुनते ही गांव में सन्नाटा फैल गया और सभी ग्रामीण घटनास्थल की तरफ दौड़े और पूर्व प्रधान नंन्हू लाल ने मौके पर पहुंचकर राम भजन से पुलिस को सूचना देने को कहा राम भजन ने फोन द्वारा चौकी इंचार्ज बिजुआ को अपने पिता के हत्या हो जाने की सूचना दी तब तक क्षेत्र के लोगों की भीड़ घटनास्थल पर पहुंच चुकी थी। बिजुआ चौकी इंचार्ज विपिन कुमार घटना के सूचना मिलते ही तुरंत अपने फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मौके का मुआयना किया। बहुत देर तक चली छानबीन में पता चला कि दन्ना के सीने में नजदीक से गोली मारकर हत्या की गई थी। पुलिस ने वहां मौजूद लोगों व मृतक के परिवार से जानकारी ली उसके बाद परिजनों व रिश्तेदारों के पहुंचने पर शव को सील कर शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया तथा आगे की कार्रवाई के लिए पोस्टमार्टम की रिपोर्ट मिलने के बाद करने की बात कही। दन्ना के पुत्र राम भजन ने बताया की पुलिस को तहरीर दे दी गई है, तहरीर में राम भजन ने अपने सगे ताऊ के लड़के लालजी व रमेश कुमार पर अपने पिता की हत्या करने के आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। राम भजन ने बताया कि ताऊ के लड़के रमेश व लाल जी से और मेरे पिताजी से जमीन को लेकर मुकदमा चल रहा था। 20 डिसमिल जमीन के लिए कई साल मुकदमा चला और हमेशा अदालत ने मेरे पिताजी दन्ना के पक्ष में ही फैसला सुनाया। रमेश व लालजी  फैसला होने के बावजूद जमीन पर अवैध रूप से काबिज रहे थक हार कर मेरे पिता दन्ना ने लोगों से पंचायत बुलाई और पंचायत में उपरोक्त जमीन छोड़ने के लिए कहा लेकिन फिर भी अभियुक्त दन्ना से रंजिश मान रहे थे और मौके की तलाश में थे और मौका मिलते ही उन्होंने घटना को अंजाम दे डाला जबकि दन्ना के पुत्र राम भजन व उनका परिवार से अभियुक्तों के घर आना-जाना भी था और सारी बातें यह लोग भूल चुके थे लेकिन अभियुक्तों के सीने में कांटे की तरह जब रही वर्चस्व की रंजिश के चलते दन्ना अपनी जान से हाथ धो बैठे।

Leave a Reply