सिंधिया व उनके समर्थक मंत्री, विधायक 14 महीनों क्यों चुप रहे, भाजपा से मिलकर सिंधिया जी ने कराया लोकतंत्र का अपहरण: चौधरी

देश, राजनीति, राज्य

त्रिवेंद्र जाट, सागर (मप्र), NIT:

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा मध्य प्रदेश के  22 पूर्व विधायकों व मंत्रियों को भाजपा के साथ मिलकर बंदी बनवा कर भाजपा में शामिल कराने पर मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री श्री सुरेंद्र चौधरी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि सिंधिया जी ने गांधीवादी विचारधारा को छोड़कर गोडसे की विचारधारा अपनाकर लोकतंत्र का अपहरण कराकर मध्य प्रदेश के लाखों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के अथक परिश्रम से बनी मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार को गिराने की घिनौने कृत्य की कड़े शब्दों में जितनी निंदा की जाए उतनी कम है।

उन्होंने श्री सिंधिया द्वारा कांग्रेस पार्टी पर उनकी उपेक्षा किए जाने पर लगाए गए आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि श्री सिंधिया जी आप अपने कांग्रेस पार्टी के शुरुआती सफर को स्मरण करें कि वर्ष 2001 में आपने कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की थी तब सदस्यता ग्रहण करने के तत्काल बाद ही आपको कांग्रेस पार्टी ने लोकसभा का प्रत्याशी बनाया यही नहीं कांग्रेस नीत यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री के पद पर बैठाने के साथ ही अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव जैसे महत्वपूर्ण पद देने के साथ-साथ पार्टी के गंभीर और अति आवश्यक निर्णयों की कमेटियों आदि अन्य जवाबदरियां  भी आपको देने के बावजूद आपको कांग्रेस पार्टी में आप को उपेक्षा नजर आई तो यह स्वतः स्पष्ट है कि आप गांधीवादी विचारधारा से नहीं गोडसे की विचारधारा से प्रभावित रहे। श्री चौधरी ने श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से सवाल करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश सरकार के 14 महीनों के कार्यकाल के दौरान आप के समर्थक मंत्री और विधायक सत्ता के नशे में इस कदर चूर थे कि सरकार बनाने में अपना खून पसीना एक कर देने वाले कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं की अनसुनी और आपके गृह व संसदीय क्षेत्र में 2 अप्रैल 2018 के दलित आंदोलन में अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों की हुई हत्या व सैकड़ों निर्दोष लोगों पर दर्ज किए झूठे प्रकरण, शिवपुरी में भाजपा नेता द्वारा अनुसूचित जाति वर्ग के युवक को जिंदा जला देने की घटना हो या डबरा में संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा के साथ घटित घटना के साथ ही टीकमगढ़ में संत शिरोमणि गुरु रविदास जी महाराज की जयंती के दिन घटित घटना के साथ  साथ अनुसूचित जाति वर्ग व कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ घटित घटनाओं पर श्री सिंधिया जी आप और आप के समर्थक मंत्री विधायक क्यों चुप्पी साधे रहे इस बात का जवाब मध्य प्रदेश की  साढ़े सात करोड़ जनता आपसे चाहती है।

Leave a Reply