समिति प्रबंधक एवं बैंक मैनेजर की मिलीभगत से किसानों के हड़पे गये लाखों रुपए, न्याय पाने के लिए किसान एक साल से लगा रहे हैं चक्कर

अपराध, देश, भ्रष्टाचार, राज्य

राकेश यादव, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

केसली के अंतर्गत आने वाली सेवा सहकारी समिति पलोह (केवलारी कला) के पूर्व समिति प्रबंधक अवध बिहारी श्रीवास्तव एवं वर्तमान समिति प्रबंधक उनके पुत्र विवेक श्रीवास्तव तथा जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा केसली के मैनेजर टी आर आठिया की मिलीभगत से किसानों के लाखों रुपए फर्जी केसीसी लोन बनाकर निकाले गए हैं, इस बात का खुलासा किसानों ने सूचना के अधिकार के तहत जानकारी प्राप्त करके किया है। किसान भरत लाल मुखरैया ने बताया की मैंने कभी भी जिला सहकारी केंद्रीय बैंक केसली में खाता नहीं खुलवाया किंतु जब मुझे पता चला की मेरे नाम से इस बैंक में कोई खाता संचालित है तो मैंने सूचना के अधिकार के तहत इस खाते की जानकारी निकलवाई जिससे हम चौंक गए, मेरे खाते से वर्ष 2013 से 2018 तक बारह लाख अड़सठ हजार तीन सौ रुपये फर्जी केसीसी बनाकर निकाले गए, इसी तरह कल्यान यादव के नाम से वर्ष 2014 से 2019तक चार लाख इक्यावन हजार आठ सौ रुपये, इनकी पत्नी अमोल रानी के नाम से एक लाख सात हजार छियालीस रुपये रतन राजपूत के नाम से 259600 रुपए, भागीरथ यादव के नाम से 130000 रुपया, चैन सिंह ठाकुर के नाम पर ₹69000 रुपए फर्जी तरीके से निकाले गए हैं। जशवंत सिंह राजपूत, स्नेहलता गुप्ता, रघुबीर राजपूत, मलखान यादव (खटोला) के नाम पर भी फर्जी कर्ज दर्शाया गया है। राशि निकासी पत्रकों में एक ही व्यक्ति के कई तरीके से हस्ताक्षर हैं इनमें भारी कांट छांट की गई है। कर्ज सूचियों में भी काफी कांट छांट की गई है। लखन बाबूलाल राजपूत के नाम पर भी फर्जी खाता खोला गया है।

किसानों की बगैर मर्जी के खोले गए खाते

किसान मुन्ना गौड़, भरत लाल, पूरन राजपूत, रतन राजपूत ने कहा कि हमने कभी सहकारी बैंक केसली में जाकर खाता नहीं खुलवाया और ना ही कोई दस्तावेज दिए, किसानों ने बैंक में सूचना के अधिकार के तहत आवेदन लगाकर जानकारी ली कि मुझे हस्ताक्षर पत्रक एवं खाता खोलने के लिए जरूरी वैध दस्तावेज की प्रमाणित प्रति दी जाय तो बैंक मैंनीजार टी आर आठिया कोई जानकारी नहीं दे पाए।

सूचना के अधिकार के तहत भी नहीं दी पूरी

जानकारी :-किसान भरत ,रतन कल्याण, भागीरथ, इंद्राज ,पहलाद,चेन सिंह का कहना है कि हमने जो जानकारी मांगी है वह बैंक मैनेजर टी आर आठिया द्वारा पूरी नहीं दी गई पूरी जानकारी लेने के लिए हम कई बार बैंक के चक्कर लगा चुके हैं।

न्याय पाने के लिए एक साल से भटक रहे हैं किसान

केवलारी के 15 किसानों ने बताया कि हम लोगों के साथ जो फर्जीवाड़ा हुआ है उसका न्याय पाने के लिए हम किसान एक साल से भटक रहे हैं 29 जनवरी 2019 में तत्कालीन तहसीलदार संगीता महतो ने समिति का कुछ रिकार्ड जब्त किया था यह रिकार्ड 7 दिसंबर 2019 तक एसडीएम कार्यालय देवरी में रहा किसान कई बार एसडीएम के पास गये इस दौरान तीन एसडीएम बदल गए किंतु किसानों को न्याय नहीं मिला पीड़ित किसान केबिनेट मंत्री माननीय हर्ष यादव जी से भी मिले और फर्जीवाड़ा के संबंध में पूरी जानकारी दी। मंत्री जी ने निष्पक्ष जांच का आदेश देने की बात कही थी। उपायुक्त सहकारिता विभाग को भी किसानों ने अपना आवेदन प्रस्तुत किया उन्होंने जांच तो करवा ली लेकिन दोषियों पर कार्यवाही नहीं हुई किसानों ने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के महाप्रबंधक डी के राय को भी शिकायत पत्र दिया किन्तु अभी तक दोषियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।
समाजसेवी धनीराम गुप्ता ने की किसानों की मदद :-जय किसान कर्ज माफी योजना के बाद सेवा सहकारी समिति पलोह में हुए फर्जीवाड़े की जानकारी सामने आई, केवलारी कला निवासी धनीराम गुप्ता ने किसानों को उचित मार्गदर्शन दिया तथा सूचना के अधिकार के तहत जानकारी निकलवा कर मामले का पर्दाफाश किया धनीराम गुप्ता का कहना है कि सागर जिले में ही 178 सहकारी समितियां हैं शासन को गंभीरता से इन समितियों की जांच करवाना चाहिए तभी समितियों की कार्यप्रणाली की सही जानकारी जनता के सामने आ पाएगी। सरकार को किसानों की हित में शीघ्रता से दोषियों पर कार्रवाई करना चाहिए धनीराम गुप्ता वर्तमान में भारतीय किसान यूनियन जनशक्ति के प्रदेश प्रभारी भी हैं ।

सेवा सहकारी समिति पलोह का जांच का प्रतिवेदन प्राप्त हो गया है किसानों के कर्ज वितरण की जानकारी एवं रिकार्ड समिति प्रबंधक द्वारा प्रस्तुत नहीं किया गया है दोषियों पर शीग्रता सी कारवाई की जाएगी: एस पी कौशिक उपायुक्त सहकारिता जिला सागर।
किसानों का शिकायती पत्र प्राप्त हुआ है जांच के लिए अधिकारी नियुक्त कर दिए हैं अभी वह छुट्टी पर हैं छुट्टी से वापस आने पर इस संबंध में जानकारी दे पाएंगे: डी के राय।
महाप्रबंधक जिला सहकारी केंद्रीय बैंक सागर
अति व्यस्तता के कारण हम किसानों को पूरी जानकारी नहीं दे पाए हैं शीघ्रता से सभी को जानकारी देने का प्रयास करेंगे । यदि इस में मुझे कोई परेशानी होती है तो इसके लिए मैं तैयार हूं: टीआर आठिया, प्रबंधक जिला सहकारी केंद्रीय बैंक शाखा केसली।

Leave a Reply