जमीअत उलमा मध्यप्रदेश की हस्ताक्षर अभियान के ज़रिये भारत सरकार से सीएए एवं एनआरसी जैसे काले क़ानून को वापस लेने के लिए लगातार उठाई जा रही है आवाज़

देश, राज्य

अबरार अहमद खान/मुकीज खान, भोपाल (मप्र), NIT:

जमीअत उलमा मध्यप्रदेश के बैनर तले शहर भोपाल में NRC, एवं CAA के विरोध में डोर टू डोर हस्ताक्षर अभियान लगातार चलाया जा रहा है। इसी क्रम में आज भानपुर वार्ड 73 में हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। जिसमें हजारों कि संख्या में विरोध हस्ताक्षर हुआ।
हस्ताक्षर अभियान की अगुवाई कर रहे हाजी मोहम्मद इमरान ने मीडिया से रूबरू हो कर कहा कि NRC, CAA के विरोध में हज़रों की संख्या में हस्ताक्षर बताते हैं कि भारत की जनता इस काले क़ानून के विरोध में खड़ी है भारत सरकार को हट धर्मी से ऊंचा उठकर भारत की अवाम की भावनाओं का ख़्याल रखते हुए इस कानून को वापस लेना चाहिए। आगे उन्होंने कहा कि ऐसा कोई भी क़ानून भारत की 140 करोड़ देश की जनता को मंजूर नही जो देश की एकता भाई चारे को तोड़े और जिससे देश की तरक़्क़ी में बाधा उत्पन्न हो देश में नागरिकता क़ानून पहले से मौजूद है। और हमारे मुल्क़ में धर्म की बुनियाद पर नागरिकता कभी नही दी गई और न दी जानी चाहिए।

नए क़ानून की ज़रूरत देश में नहीं है जो हमारी गंगी जमनी तहज़ीब की बुनियादों को खोखला करे। भारत का संविधान ही है जो हमे एक दूसरे से जोड़े रखा है औऱ दुनियां में हमारे मुल्क़ का नाम रोशन किया हुआ है। ऐसे में भारत सरकार ने देश की तरक़्क़ी शिक्षा की और से ध्यान हटा कर भारत की जनता को NRC,CAA काले क़ानून की गुमराहियों में सड़कों पर ला रखा है ऐसे में इस कानून की वापसी ही देश हित मे होगी हस्ताक्षर अभियान में हर अमन पसंद शहरी काले क़ानून के विरोध में है तो भारत सरकार भारत की जनता की भावनाओ का सम्मान करना चाहिए।

आज हस्ताक्षर अभियान में हाफ़िज़ ईस्माइल बैग, मौलाना अज़हर नदवी, अरमान अली, मुफ्ती मोहम्मद राफे, मोहम्मद फरहान, मोहम्मद यासिर, फईम उद्दीन, मुजाहिद मोहम्मद खान, जमीअत उलमा की टीम के साथ जमीअत उलमा मध्यप्रदेश के प्रेस सचिव हाजी मोहम्मद हारून भी उपस्थित रहे।

One thought on “जमीअत उलमा मध्यप्रदेश की हस्ताक्षर अभियान के ज़रिये भारत सरकार से सीएए एवं एनआरसी जैसे काले क़ानून को वापस लेने के लिए लगातार उठाई जा रही है आवाज़

Leave a Reply