खबर का असर: रिश्वत मामले में मटेरा पुलिस चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर

देश, भ्रष्टाचार, राज्य

फराज़ अंसारी, ब्यूरो चीफ, बहराइच (यूपी), NIT:

सोशल मीडिया में बीते दिनों पुलिस चौकी में पैसा लेते हुए वायरल वीडियो जिले में चर्चा का विषय तो बना ही था साथ ही इससे डंडामार महकमे की साख को और भी बट्टा लग रहा था। वायरल वीडियो मीडिया की सुर्खियां बनीं तो पुलिस कप्तान साहब ने भी तत्काल मामले को संज्ञान में लेते हुए जांच के आदेश जारी कर दिये जिसके बाद चौकी इंचार्ज साहब को लाइन हाजिर कर दिया गया।

दरअस्ल थाना कोतवाली नानपारा क्षेत्र अन्तर्गत मटेरा चौकी इंचार्ज के रिश्वत लेते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। इस खबर को एनआईटी ने 11 जनवरी को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। जिसके बाद पुलिस कप्तान ने कड़े तेवर दिखाते हुए उपनिरीक्षक सहित मटेरा चौकी इंचार्ज को लाइन हाज़िर कर दिया। ज्ञात हो कि मटेरा चौकी में तैनात दरोगा जी का पैसे लेते हुए वीडियो वायरल हुआ था और वीडियो वायरल होने के बाद बहराइच पुलिस की खूब किरकिरी हूई थी। इस वायरल वीडियो को उजागर कर पीड़ित ने दावा करते हुए आरोप लगाया था कि दरोगा जी ने रिश्वत के पैसे लिये थे हालांकि वीडियो वायरल करने के बाद पीड़ित ने कप्तान ऑफिस पहुंच कर कार्यवायी की मांग भी की थी, वहीं इस खबर को हमने प्रमुखता से उजागर किया था जिसके बाद आज पुलिस कप्तान ने इस उजागर खबर पर बड़ी कार्यवायी की है।
बताते चलें कि 11 जनवरी 2020 को “रिश्वत लेते हुए पुलिस अधिकारी का वीडियो हुआ वायरल, पुलिस विभाग में मचा हडकंप, पीड़ित ने शिकायती पत्र देकर की निलंबित करने की मांग” शीर्षक की एक खबर NIT ने प्रकाशित की थी जिसमें हमने बताया था कि वायरल वीडियो में मटेरा चौकी इंचार्ज द्वारा पीड़ित से रिश्वत का रुपया लेने का दावा किया गया है। बताते चलें कि थाना कोतवाली नानपारा क्षेत्र के कग्गर निवासी पीड़ित बृजेश ने एक वायरल वीडियो के माध्यम से चौकी इंचार्ज मटेरा शिवनाथ यादव पर बिजली का पोल हटवाए जाने के नाम पर 5000 रुपया रिश्वत लेने का आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक महोदय से आरोपी दरोगा को निलंबित किये जाने की गुहार लगाई थी। पीड़ित ने आरोप लगाया था कि चौकी इंचार्ज साहब ने 5000 रुपये रिश्वत लिया था जिसका उसने वीडियो बना लिया था। पीड़ित बृजेश आरोप था कि पैसा लेने के बावजूद भी जब विद्युत पोल नहीं हटा तो पीड़ित ने दोबारा दरोगा जी से जब सम्पर्क साधा तो इंचार्ज साहब ने 10000 की डिमांड और कर दी और ताकीद किया कि मेरा कुछ नहीं कर पाओगे जो हम पैसा लेते हैं उसे ऊपर तक पहुंचाते हैं। वहीं सोशल मीडिया पर दरोगा जी का रिश्वत लेते हुए वीडियो जब वायरल हुआ तो इस मामले से डंडा मार विभाग में हड़कंप समझ गया था और मामले का संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव ग्रोवर ने तत्काल जांच के निर्देश भी जारी कर दिए थे और इस जांच का जिम्मा पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को सौंपी गई थी। जिसके बाद आज पुलिस अधीक्षक डॉ0 गौरव ग्रोवर ने निरीक्षक श्री शेषनाथ यादव, प्रभारी चौकी मटेरा थाना को० नानपारा को तात्कालिक प्रभाव से चौकी मटेरा थाना कोतवाली नानपारा से पुलिस लाइन्स में लाइन हाजिर कर दिया है। पुलिस अधीक्षक द्वारा की गयी कार्यवायी के बाद से डंडामार विभाग में हड़कंप मच गया है। वहीं इस कार्यवायी के बाद से पुलिस अधीक्षक डॉक्टर गौरव ग्रोवर के बेहतर, सुलभ, निष्पक्ष व ईमानदार पुलिसिंग व्यवस्था देने के दावे एक बार फिर चरितार्थ होते दिखाई दिये हैं।

Leave a Reply