एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय प्रबंधन के खिलाफ छात्रों ने मोर्चा खोला, सहायक आयुक्त ने विद्यार्थियों को समझाइश देकर कराया मामला शांत

देश, राज्य

मो. मुजम्मिल, जुन्नारदेव/छिंदवाड़ा (मप्र), NIT:

एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय में आज आठवीं से लेकर 12 वीं तक के छात्र-छात्राएं स्कूल प्रबंधन के खिलाफ धरने पर बैठ गए 5 घंटे चले इस घटनाक्रम में शासन प्रशासन के अधिकारियों ने काफी मान मनोबल कर छात्राओं को स्कूल में अंदर बैठने के लिए कहा लेकिन वह खुले आसमान के नीचे तेज धूप में बैठे है। सूचना पाकर सहायक आयुक्त ने विधार्थियो से बात की और इस समस्या का निराकरण कराने के लिए सात दिवस का समय मांगा तब जाकर छात्र और छात्राएं शाला के अंदर गई छात्राओं ने मीडिया को एक शिकायती पत्र सौंपा गया है। जिसमें प्राचार्य और इतिहास की शिक्षिका को हटाने की मांग करते हुए। उनके द्वारा प्रताड़ित करने के लिए जाने पर अपनी आपबीती बयां की है जिसमें बताया गया कि छात्र छात्राओं को मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है।जिसके कारण वे पढ़ाई नहीं कर पा रहे है। भय के चलते अभिभावकों को अपनी परेशानी नही बता पाए। पूर्व में प्राचार्या और इतिहास विषय की शिक्षिका की प्रताड़ना पर अधिकारियों से शिकायत किए जाने पर बदले की भावना से विधार्थियो को अपशब्द और जाति सूचक एवं अमर्यादित भाषा का प्रयोग करके साल भर परेशान करने और बोर्ड परीक्षा में फेल करें की धमकियां दी जाती है। इस समस्या को दूर करने सभी विद्यार्थियों ने एकसाथ आंदोलन का रस्ता अपनाया जिसपर सहायक आयुक्त एन एस बरकडे जनजाति कार्य विभाग ने विभागीय जांच कर प्रतिवेदन वरिष्ठ अधिकारियों को प्रस्तुत कर कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है।

Leave a Reply