पूर्व कैबिनेट मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र लिखकर की सीएसआर के तहत बुरहानपुर के जिला अस्पताल का चयन करने की मांग

देश, राज्य

मेहलक़ा अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

मध्यप्रदेश की पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं बुरहानपुर जागरूक महिला प्रतिनिधि श्रीमती अर्चना चिटनीस दीदी ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान एवं मध्य प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी को पत्र प्रेषित कर बुरहानपुर के जिला अस्पताल को सीएसआर (कार्पोरेट सोशल रिस्पोंसबिलिटी) के तहत चयनित किए जाने हेतु मांग रखी है, जिससे बुरहानपुर के जिला अस्पताल की आवश्यकताएं काफी हद तक परिपूर्ण हो सके।
श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा कि मध्यप्रदेश की मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान एवं मेरे विगत कार्यकाल के दौरान बुरहानपुर जिले के लिए प्रत्येक विभाग में करोड़ों रुपए की लागत से अनेकों कार्य हुए हैं। स्वास्थ्य सेवाओं की दृष्टि से भी बुरहानपुर जिले के लिए लगभग 30 करोड़ रुपए की लागत का जिला अस्पताल स्वीकृत कर उसे पूर्ण भी करवाया। बुरहानपुर को 5 करोड़ रुपए की लागत का एएनएम सेंटर भी प्राप्त हुआ। इसके साथ ही कम्यूनिटी हेल्थ सेंटर, प्रायमरी हेल्थ सेंटर तथा सब सेंटर के रूप में पर्याप्त इंफ्रास्ट्रक्चर जिले को प्राप्त हुआ।

श्रीमती चिटनिस ने कहा कि बुरहानपुर जिला भोपाल से करीब 350 किलोमीटर की दूरी पर महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित है। 6 से 7 घंटे का समय भोपाल पहुंचने में लग जाता है। खंडवा का मेडिकल कॉलेज भी भारतीय जनता पार्टी सरकार की ही देन है। जिसके कारण शनै-शनै खंडवा स्वास्थ्य सेवाओं की दृष्टि से बेहतर होता जा रहा है।
श्रीमती अर्चना चिटनिस ने प्रेषित पत्र में कहा कि बुरहानपुर एक आदिवासी बाहुल्य जिला होते हुए, खेतीहर, औद्योगिक व अन्य श्रमिकों की एक बड़ी आबादी का जिला है। शासन की अनुशंसा पर सीएसआर के तहत किसी बड़े उद्योग समूह से 15 से 20 करोड़ की सहायता सहज ही मिल सकेंगी, ऐसा मेरा विश्वास है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के इस काल में बहुत ही विषम परिस्थितियों का सामना हमने किया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने मरीजों को ऑक्सीजन सुलभ करवाने की व्यवस्थाओं की तत्काल प्रभाव से स्वीकृति दी थी, संवेदनशीलता व त्वरित निर्णय से पूरे क्षेत्र को राहत मिली है।
श्रीमती चिटनिस ने कहा कि 15 से 20 करोड़ रुपए की वन टाईम सपोर्ट सहायता से बुरहानपुर के जिला अस्पताल की आवश्यकताएँ काफी हद तक परिपूर्ण हो सकेगी। महाराष्ट्र बॉर्डर पर स्थित इस छोटे पर जीवंत जिले की 8 लाख जनता की ओर से बुरहानपुर जिला अस्पताल को सीएसआर अंतर्गत सहायता के लिए चयन किए जाने हेतु अनुरोध करती हूं।

Leave a Reply