घंसौर में राशन वितरण के नाम पर हुआ भ्रष्टाचार: गरीबों से राशन बांटने के नाम पर वसूले गये पैसे, कार्रवाई की मांग को लेकर एसडीएम को सौंपा गया ज्ञापन

देश, भ्रष्टाचार, राज्य, समाज

पीयूष मिश्रा, ब्यूरो चीफ, सिवनी (मप्र), NIT:

सिवनी जिले के आदिवासी बहुमूल्य विकासखंड घंसौर के अंतर्गत आने वाले ग्राम कुदवारी में शासन की योजना के तहत कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए गरीब जरूरतमंदों को दो माह का राशन प्रदान करने के निर्देश के बाद राशन वितरण के दौरान ग्राम कुदवारी के पंचायत कर्मचारी ग्रामीणों से वाहन भाड़ा के नाम पर रुपए मांग रहे हैं, जिसकी शिकायत ग्रामीणों द्वारा एसडीएम से करके मामले की जांच कर जांच कर कार्रवाई की मांग की गई है। ज्ञापन सौंपने पहुंचे सुखचैन, सुरेश संतराम सहित अन्य ग्रामीणों ने ज्ञापन के माध्यम से बताया कि शासन की योजना के तहत कोविड-19 संक्रमण के चलते लाॅक डाउन के दौरान गरीब व्यक्तियों के भोजन की व्यवस्था करने के उद्देश्य से निःशुल्क राशन वितरण कराया जा रहा है। ग्राम पंचायत कुदवारी के कर्मचारियों द्वारा गरीब व्यक्तियों से राशन का भाड़ा 20 से ₹50 तक वसूल किया जा रहा है। जब ग्रामीण इस पर आपत्ति दर्ज कराते हैं तो उन्हें धमकी दी जाती है कि उनका राशन कार्ड से नाम काट देंगे, आप लोगों का राशन रुकवा देंगे, शासन की योजना का लाभ नहीं मिलने देंगे, हमारी पहुंच ऊपर तक है। ग्रामीणों ने ज्ञापन में बताया कि शिकायत होने के बाद कुछ लोगों के साथ मिलकर फर्जी हस्ताक्षर करके पंचायत कर्मी पंचनामा बनाकर जांच आदि से बच जाते हैं कुछ भ्रष्ट पंचायत कर्मियों की कार्यप्रणाली की निष्पक्ष जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग ज्ञापन में की गई है।

Leave a Reply