भाजपा बागियों के नामांकन बरकरार: संकटमोचक गिरीश महाजन कि महिमा को लगा ग्रहण

देश, राजनीति, राज्य

अब्दुल वाहिद काकर, ब्यूरो चीफ, धुले (महाराष्ट्र), NIT:

भाजपा के संकटमोचक मंत्री गिरीश महाजन की काबिलियत पर उत्तर महाराष्ट्र में बीजीपी के बागियों ने ग्रहण दिया है। तीन में से मात्र एक बागी उम्मीदवार ने सोमवार को बीजेपी महागठबंधन के प्रत्याशी के सामने से नामांकन पत्र वापस लिया है वहीं पर अन्य तीन प्रत्याशियों ने भाजपा के संकटमोचक मंत्री गिरीश महाजन के आदेश को कचरे की टोकरी में डाल दी है।

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने महाजनादेश यात्रा के जलगांव आगमन पर कहा था कि
“आप सभी की रजामंदी को स्विकृत कर मैं गिरीश महाजन को विधानसभा चुनावों में सफ़लता प्राप्त करने के लिए अपने साथ ले जा रहा हूँ, अब वह केवल अपना नामांकन दाखिल करने और विजयी प्रमाणपत्र लेने ही जामनेर पधारेगे।” महाजनादेश यात्रा में मुख्यमंत्री देवेंद्र फ़डनवीस के इस बयान से जलसंपदा मंत्री गिरीश महाजन के संकटमोचक वाली महिमा का भाजपा के भक्तों ने खुब महिमा मंडन किया। यही नहीं संकटमोचक पर श्रद्धा के बलबुते सैकड़ों दागी कांग्रेसियों ने भाजपा के विवश घाट पर स्नान कर स्वयं को पवित्र कर और भाजपा का चोला ओढ लिया लेकिन जैसे जैसे महागठबंधन को लेकर चुनाव प्रक्रिया ने तेजी पकडी वैसे संकटमोचक की क्षमता तब जबाब देने लगी जब उनके ही भक्त सत्ता सुख की चाह में खुली बगावत पर उतर आए। कल बागियो से चर्चा करने धुलिया पहुंचे महाजन को बागियों के सख्त तेवर के कारण मायूस होकर उलटे पैर जलगांव लौटना पड़ा था। नामांकन वापसी के आखिरी दिन धुलिया शहर से एकमात्र भाजपा बागी प्रत्याशी डाॅ माधुरी बोरसे ने मैदान छोड़ दिया जब कि साक्रि और शिरपुर में बगावत का झंडा इतना बुलंद रहा कि संकटमोचक की महिमा भी उसे झुका नहीं स्की।

विकास पुरुषोत्तम मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस के जुबानी अपने चाहिते सहयोगी संकटमोचक कि गयी गौरवगाथा और बल प्रोत्साहन को उनके पार्टी के बागियो द्वारा लगाए जा रहे ग्रहण से कही भाजपा शिवसेना को सत्ता का बनवास ना भोगना पडे .विदीत हो कि धुलिया जिले की साक्री तहसील से बीजीपी की पूर्व महापौर मंजुला गावीत ने बगावत कायम रखते हुए बीजेपी के प्रत्याशी इंजीनियर मोहन सूर्यवंशी तथा शिरपुर से बीजीपी बागी डॉक्टर जितेंद्र ठाकुर ने बीजेपी प्रत्याशी काशीराम पावरा के सामने कड़ी चुनौती खड़ी कर दी है इसी तरह से शिंदखेड़ा में मंत्री रावल के सामने शिवसेना के बागी शाना सोनवणे ने पर्चा वापस नहीं लेकर वही पर संकटमोचक मंत्री गिरीश महाजन की साख दांव पर लगी है।

Leave a Reply