मुस्लिम समाज ने मीरा-भाईंदर में विकास के नाम पर दिया बीजेपी को वोट, मुस्लिम वोटों की सहभागिता से मिली पूर्ण बहुमत: डॉ आसिफ़ शेख

देश, राजनीति, राज्य, समाज

Edited by Sabir Khan; 

मीरा-भाईंदर (महाराष्ट्र), NIT; ​मिरा भाईंदर महानगरपालिका के इतिहास मे पहली बार भाजपा पूर्ण बहुमत से जीत कर आई है।इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को मिले पुर्ण बहुमत में जहां अन्य समाज के लोगों का योगदान रहा वहीं मुस्लिम समाज के वोटों ने भी काफी अहम रोल अदा की।

 मिरा भाईंदर महानगरपालिका चुनाव के समय वरिष्ठ नगरसेवक व पुर्व विराेधी पक्ष नेता डॉ.आसिफ शेख बीजेपी में शामिल हो गए थे।जिसका फायदा बीजेपी को मनपा चुनाव में मिला और वह पूर्ण बहुमत के साथ जीत कर आई। ​ज्ञात हो कि पूर्व विधायक गिल्बर्ट जाॅन मेंडोंसा के अपने समर्थक नगरसेवकों व कार्यकर्ताओं के साथ राकांपा छोड़ शिवसेना में शामिल हो गए थे जिससे एनसीपी में एकमात्र वरिष्ठ नगरसेवक व पुर्व राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त महाराष्ट्र सरकार के महामंडल अध्यक्ष पद पर रह चुके हैं ही बचे थे। मनपा चुनाव के समय डॉ.आसिफ शेख ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, प्रदेशाध्यक्ष रावसाहेब दानवे व विधायक नरेंद्र मेहता की माैजुदगी में भारतीय जनता पार्टी में प्रवेश की। बीजेपी में शामिल होने के बाद आसिफ़ शेख ने मिरा भाईंदर में मुस्लिम समाज के सभी लोगों को मुस्लिम वेल्फेअर असाेसिएशन के माध्यम से एक मंच पर लाकर चुनाव में विकास के लिए बीजेपी को  पुर्ण समर्थन देने का आवाहन किया था। मिरा भाईंदर के विभिन्न इलाकों में रहनेवाले मुस्लिम समाज ने पहली बार भाजपा के पक्ष में बड़ी संख्या में एकतरफ़ा मतदान किया है जिसकी वजह से भाजपा की सिटाें में बढाेतरी हुई है । मिरा भाईंदर मनपा चुनाव में प्रभाग क्र १, ७, ८, ९, १०, १३, १४, १५,१७, १९, २२ व २४ आदि क्षेत्रों में रहने वाले मुस्लिम समाज के दहेलवी, बरेलवी, शिया, सुन्नी, दाऊदी बाेहरा, चिलिया, खाेजा आदि सभी मतदाताआें ने पहली बार कांग्रेस व राकांपा के बजाय भाजपा को विकास के नाम पर वोट दिया है। ​डॉ.आसिफ शेख ने NIT को बताया कि उन्होंने मुस्लिम समाज काे भराेसा दिलाया है कि वह  मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस व एमएलए नरेंद्र मेहता से ऊर्दू स्कुल, कॉलेज, मरकज़ भवन, क़ब्रिस्तान के लिए विभिन्न इलाकों में डीपी प्लान में जगह आरक्षित करके मस्जिद व मदरसाें की समस्या हल करवायेंगे। बता दें कि मिरा भाईंदर मनपा चुनाव के इतिहास में पहली बार भाजपा काे ६१ सीटों पर जीत हासिल हुई है। पुर्ण बहुमत की मिलने से मेयर, डीप्टी मेयर,स्टेंडिंग कमिटी चेयरमैन के अलावा सभी समितियाें पर भाजपा का ही क़ब्ज़ा हाेगा। इस चुनाव में जहॉं एक आेर राकांपा व बहुजन विकास आघाडी का सुपडा साफ़ हो गया है वहीं शिवसेना को २२ व कांग्रेस का १२ सिटाें पर ही संतोष करना पड़ा है।

Leave a Reply