गोपाष्टमी पर हिंगोनिया गोशाला में गायों की दुर्दशा देख दोनों नगर निगम महापौर भड़कीं

देश, राज्य

हरकिशन भारद्वाज, जयपुर (राजस्थान), NIT:

बाड़ों में मृत पड़ी गायों को देख महापौर ने सवाल दागे तो अधिकारियों से जवाब देते नहीं बना। गुर्जर ने ट्रस्ट के पदाधिकारियों को भी साफ कहा कि गोशाला की दशा सुधारने के लिए इसका काम आपको सौंपा गया था लेकिन यहां गायों की दुर्दशा से लग रहा है कि गायों की ठीक ढंग से देखभाल नहीं हो रही है। महापौर ने गोशाला उपायुक्त से हिंगोनिया की रिपोर्ट तलब की है।

गोपाष्टमी पर गायों के पूजन के लिए सबसे पहले ग्रेटर महापौर सौम्या गुर्जर गोशाला पहुंची थी। यहां बाड़ों में साफ-सफाई सही नहीं मिलने पर महापौर ने नाराजगी जताई। महापौर आईसीयू में पहुंची तो वहां गायें मृत पड़ी थीं। इस पर महापौर ने मौत के बाद भी गायों के लाशें लावारिस पड़े रहने को लेकर सवाल पूछा तो अधिकारियों ने तपाक से कहा कि गायों की मौत अभी-अभी हुई है। महापौर ने अन्य मृत गायों के संबंध में वही सवाल पूछे तो अधिकारियों ने एक ही जवाब दिया। इस पर महापौर भड़क गईं और अधिकारियों को कहा कि क्या अभी हाथ लगाते समय ही हुई हैं क्या? कई बाड़ों में चारा भी गीला पड़ा था, इस पर महापौर ने पूछा आखिर गायें गीले चारे को कैसे खाएंगी? गुर्जर ने करीब एक घंटे तक गोशाला का गहनता से निरीक्षण किया और वहां के हालातों को देखकर डीसी गोशाला से रिपोर्ट तलब की है।

मुनेश बोलीं, गायों पर नहीं हो राजनीति

सौम्या गुर्जर के गोशाला से जाने के बाद हैरिटेज नगर निगम की महापौर मुनेश कुमारी भी गायों के पूजन के लिए गोशाला पहुंची। उन्होंने भी गाय का पूजन करने के बाद एक घंटे तक गोशाला का निरीक्षण किया और वहां फैली अव्यवस्थाओं को लेकर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि गायों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। गोशाला की स्थिति क्रिटिकल है और इसमें सुधार किया जाएगा।

Leave a Reply