यूथ विंग समर्पण युवा संगठन के युवाओं ने स्थापना दिवस पर रक्तदान कर हर विषम परिस्थितियों में निरंतर सेवा कार्य करने का लिया संकल्प

देश, राज्य, समाज

पीयूष मिश्रा, ब्यूरो चीफ, सिवनी (मप्र), NIT:

कोरोना जैसी महामारी से देश जूझ रहा है और जहाँ लोग इस विषम परिस्थिति में जिला चिकित्सालय जाने भी कतरा रहे हैं वहीं सहयोग सेवा समर्पण का भाव लेकर आज 1 जून को यूथ विंग समर्पण युवा संगठन के स्थापना दिवस को सफल बनाने के लिए युवाओं ने जिला अस्पताल पहुँचकर रक्तदान किया। अपनी यूथ विंग का हौसला बढ़ाने मातृशक्ति संगठन भी वहाँ उपस्थित युवाओं द्वारा लगभग 22 यूनिट के आस पास रक्त दान किया गया। जिसमें यूथ विंग के आग्रह पर नगर निरीक्षक श्री महादेव नागोतीया जी ने भी युवाओँ की खूब हौसला अफजाई की एवं संगठन की इस पहल को सराहा।

अस्पताल स्टाफ ने अचानक किये गए इस रक्तदान से बहुत खुशी जाहिर की है। स्टाफ का कहना था कि लॉक डॉउन की वजह से अस्पताल के ब्लड बैंक में रक्त की बहुत कमी हो गई थी जिससे मरीजों को काफी मुश्किलों का सामना कर पड़ रहा था लेकिन आप लोगों के द्वारा अचानक दिए गए इस तोहफे ने हमारे स्टाफ की चिंता दूर की है क्योंकि आज भी कोरोना के संकट से लोग इस कार्य को करने में कहीं न कहीं चिंतित हैं पर इस माहौल में भी यूथ विंग द्वारा किये गए इस कार्य ने एक अच्छा संदेश दिया है। यूथ विंग के अध्यक्ष आशीष माना ठाकुर द्वारा बताया गया कि पूर्व काल से सामाजिक गतिविधियों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया है निरंतर निस्वार्थ भाव से समाज व जनहित के कार्यों में अग्रसर होकर काम किया है इस बीच मुझे मध्यप्रदेश के प्रख्यात मातृ शक्ति संगठन के साथ काम करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ संगठन के साथ काम करने के बाद मुझे एक ऐसी प्रेरणा मिली कि युवाओं को समाज व देशप्रेम की भावनाओं के प्रति जाग्रत करना अति आवश्यक है। हमने जनहित में समाजहित में अनेक कार्य किये मातृशक्तियों द्वारा किये गए कार्यों से मैं बहुत प्रभावित हुआ फिर मेरे मन में एक बात आई कि नगर के युवाओं को अगर सही दशा व दिशा कोई दे सकता है तो वह मातृ शक्ति संगठन है जिस पर मैंने कुछ अपने मित्रों से चर्चा कर समाजहित में कार्य करने हेतु प्रेरित किया जिसमें 32 सदस्यों ने इस संगठन की शूरुआत 1 जून 2017 में मातृ शक्ति संगठन को प्रेरणा मानकर यूथ विंग का गठन किया गया। जिसे मातृशक्ति संगठन की अध्यक्ष श्रीमती सीमा चौहान द्वारा समर्पण युवा संगठन का नाम दिया गया। यूथ विंग ने समाज के प्रत्येक क्षेत्र में अनेकों काम किये जिससे आज यूथ विंग किसी पहचान का मोहताज नहीं रहा यूथ विंग ने इन 3 वर्षों में जिला प्रशासन के साथ अनेक कार्य किये हैं यहाँ तक के जिला प्रशासन से लेकर अधिकारी वर्ग भी युवाओं की इस निःस्वार्थ सेवा भाव से बहुत प्रभावित हुआ है। अब यूथ विंग में युवाओं की बढ़ती हुई संख्या लगभग 60 से 65 हो चुकी है। आज यूथ विंग के स्थापना दिवस के अवसर पर संगठन के सदस्यों द्वारा रक्तदान करने के बाद एक दूसरे को मिठाई खिलाकर बधाई शुभकामनाएं दी गईं एवं संकल्प लिया गया कि हर परिस्थितियों में हम समाज के लिए आगे आकर कार्य करेंगे।

Leave a Reply