देवरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आयोजित नसबंदी शिविर में मरीजों को नहीं उपलब्ध कराये जा रहे हैं वाहन, सरकारी राशि के बंदरबांट का आरोप

देश, भ्रष्टाचार, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

राकेश यादव, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

शासन प्रदेश के नागरिकों के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चला रही है लेकिन वह जमीनी स्तर पर बेअसर दिखाई दे रही है। आज जो तस्वींरें निकलकर सामने आई वह मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं की बदहाली के साथ साथ स्थानीय प्रशासन की पोल खोलती हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए बदनाम देवरी का सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एक बार फिर सुर्खियों में है। ताजा मामला देवरी स्वास्थ्य केन्द्र से सामने आया है जहां पर सरकारी सुविधाओं का लाभ मरीजों को नहीं मिल रहा है। सरकार के द्वारा नसबंदी कराने वाली महिलाओं के लिए प्रति महिला 250 रूपए की राशि उपलब्ध कराई जाती है परंतु स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों के द्वारा उस राशि का बंदरबांट किया जा रहा है। रविवार एवं गुरूवार को देवरी के स्वास्थ्य केन्द्र में लगने वाले नसबंदी शिविर में पहुंची महिलाओं के लिए किसी भी प्रकार के वाहन की सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई। यहां हम आपको बताते चलें कि स्थानीय प्रशासन की बेरुखी के चलते यहां पर नगर की प्राइवेट गाडियां अस्पताल परिसर के सामने देखी जा सकती हैं जो मरीजों से पाँच सौ रूपये से लेकर दो हजार रुपए तक ले लेती हैं केवल घर छोडऩे के लिए जबकि मरीज घर से अस्पताल अपने स्वयं के खर्च पर पहुंचते हैं।

रविवार को देवरी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में नसबंदी शिविर लगाया गया था जहां पर नगर के साथ-साथ क्षेत्र की महिलाएं अधिक संख्या में पहुंचीं जो कि अधिकतर गरीब वर्गों से आती हैं परंतु उन्हें किसी भी प्रकार की सुविधाओं का लाभ नहीं मिला है।

अपनी बहू का आॅपरेशन कराने पहुंचे देवेंद्र यादव निवासी बीना ने बताया कि मैं अपनी बहू को लेकर स्वयं के खर्च पर अस्पताल पहुचा हूँ जिसका मुझे 400 रुपये लगे हैं और इतने ही जाने मे लगेंगे। उन्होंने कहा कि मैं तो पास का व्यक्ति हूँ इसलिए मुझे कम पैसे लगे हैं परंतु जो दूर से नसबंदी कराने आते हैं उन मरीजों से यह खर्च वहन नहीं किया जा सकता।

सबसे ज्यादा कैंप लगते हैं देवरी स्वास्थ्य केन्द्र में

देवरी क्षेत्र ग्रामीण क्षेत्रों के लगा हुआ है जिससे इस क्षेत्र में नसबंदी कैंप ज्यादातर लगाए जाते हैं जो कि रविवार एवं गुरुवार को लगते हैं। अब इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के द्वारा राशि को किस तरह बंदरबांट किया जा रहा है।

इस प्रकार की कोई भी राशि नहीं आती है, नियम देखकर पता करूंगा, मुझे इस विषय में कोई जानकारी नहीं है: एम.के.जैन बी एम ओ देवरी

नसबंदी कराने वाली महिलाओं के लिए आवागमन की राशि का प्रावधान है बाकी बीएमओ से पता करता हूँ कि क्या मामला है: सीएमओ सागर।

Leave a Reply