केन्द्र सरकार द्वारा कर्मचारियों का मंहगाई भत्ता जुलाई से 5 प्रतिशत बढ़ाने के आदेश जारी होने के बाबजूद नहीं मिल रहा है बढ़ा हुआ मंहगाई भत्ता, शिक्षा मंत्री को सौंपा गया ज्ञापन

देश, राज्य

यूसुफ खान, ब्यूरो चीफ, धौलपुर (राजस्थान), NIT:

केन्द्र सरकार द्वारा कर्मचारियों का महगाई भत्ता जुलाई से 5 प्रतिशत बढ़ाने के आदेश जारी होने के बाबजूद अब तक राज्य सरकार द्वारा न बढ़ाने से राज्य कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। इस सम्बंध मेें आज कर्मचारियों व शिक्षक संघठन ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को जिला अध्यक्ष चन्द्रभान चौधरी के नेतृत्व में ज्ञापन देकर मुख्यमंत्री से जल्द मंहगाई भत्ता दिलाने की मांग की है। अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी सयुंक्त महासंघ (एकीकृत) के जिला अध्यक्ष चन्द्रभान चौधरी ने बताया कि राज्य सरकार हमेशा से केंद्र सरकार की घोषणा के बाद राज्य कर्मचारियों को बढ़ा हुआ मंहगाई भत्ता उसी समय से देती आई हैं लेकिन इस बार पांच माह बीत जाने के बाद भी राज्य सरकार ने बढ़ा हुआ महगाई भत्ता नहीं दिया जबकि जुलाई से बढ़ा हुआ मंहगाई भत्ता अक्तूबर से केन्द्रीय कर्मचारियों को नगद मिलना शुरू हो गया। इस प्रकार सरकार का रवैया अपना कर कर्मचारी विरोधी होने के संकेत दे रही है। महामंत्री योगेश पाण्डे ने माँग करते हुए राज्य सरकार से महगाई भत्ता जल्द देने की माँग की अगर ऐसा नही हुआ तो आगे बड़ा आंदोलन कर्मचारियों को करना पड़ेगा।
शिक्षक संघ एकीकृत की जिला अध्यक्ष रेखा शर्मा ने शिक्षा मंत्री के नाम का ज्ञापन सौपते हुए बताया कि राजस्थान में करीब50हजार शिक्षक बी एल ओ है जिन्होंने व्यख्याता परीक्षा के लिए आवेदन किया है पंचायत चुनाव के चलते इन्हें तैयारी का मौका भी नही मिला औऱ पंचायत चुनाव में भी शिक्षको की ड्यूटी लगेगी तो ऐसे में इस परीक्षा में शिक्षक कैसे भाग लेंगे।पंचायत चुनाव के चलते व्याख्यता परीक्षा की तिथि आगे की जाए।शिक्षा मंत्री से माँग की गई है।
इस मौके पर सयोजक अजय पुनिया, वी टी एस ए के अध्यक्ष घनश्याम शर्मा, कृषि प्रवक्षेक संघ के जिला अध्यक्ष देवेन्द परमार, लोकेन्द्र गुर्जर, शिक्षक संघ एकीकृत की जिला अध्यक्ष रेखा शर्मा, भारत गुर्जर, गंगाराम गुर्जर, मनोज पोसवाल, चिकित्सा महासंघ के ओमप्रकाश मंगल, नर्सज एशोसिएशन महेश गोस्वामी, पटवार संघ से रामनिवास, शुशील आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply