खंडवा से इंडियन मुजाहिदीन के आंतकी को एमपी एटीएस ने किया गिरफ्तार, लोन वुल्फ अटैक की थी योजना, निशाने पर थे सुरक्षा बल के जवान | New India Times

अबरार अहमद खान/मुकीज खान, भोपाल (मप्र), NIT:

मध्यप्रदेश एटीएस द्वारा खंडवा से इंडियन मुजाहिदीन के आंतकी को गिरफ्तार किया गया है। बताया जा रहा है कि लोन वुल्फ अटैक की योजना थी जिस के, निशाने पर सुरक्षा बल के जवान थे।
आईजी एटीएस डॉ. आशीष ने आज पुलिस मुख्‍यालय भोपाल में आयोजित पत्रकार वार्ता में जानकारी दी कि मध्यप्रदेश एटीएस द्वारा गुरुवार 4 जुलाई को प्रात: खंडवा से प्रतिबंधित संगठन इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) से जुडे़ आतंकी फ़ैज़ान पिता हनीफ़ शेख (34 वर्ष) को उसके निवास कंजर मोहल्ला, सलूजा कॉलोनी खंडवा पर दबिश देकर गिरफ्तार किया है। उसके विरूद्ध धारा 13(1) (बी), 18, 20, 38 विधि विरूद्ध क्रियाकलाप (निवारण) अधिनियम, 1967 का अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

आतंकी के पास से भारी मात्रा में आईएम, आईएसआईएस एवं अन्‍य आतंकी संगठनों से संबंधित जेहादी साहित्‍य, 4 मोबाइल फोन, 1 पिस्‍टल व 5 जिंदा कारतूस, सिमी संगठन के सदस्‍यता फॉर्म जप्‍त किए गए हैं। इसके कब्‍जे से जप्‍त मोबाइल फोन एवं डिजिटल डिवाइस में भी विभिन्‍न आतंकी संगठन- इंडियन मुजाहिदीन, आईएसआईएस, जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा आदि के जेहादी साहित्‍य, वीडियो एवं फोटो प्राप्‍त हुए हैं। गिरफ्तार आतंकी के प्रतिबंधित संगठन सिमी के सदस्‍यों से भी संपर्क होना पाया गया है।

यह अपने सोशल मीडिया- फेसबुक आईडी पर इंडियन मुजाहिदीन से संबंधित जिहादी पोस्ट कर आईएम/आईएसआईएस की विचारधारा का प्रचार-प्रसार कर रहा था। साथ ही इसके द्वारा पाकिस्तान में चल रहे मुजाहिदीन ट्रेनिंग कैंप्स की वीडियो, मसूद अजहर (जैश-ए-मोहम्मद) लश्कर-ए-तैयबा की तक़रीर पोस्‍ट करते हुए कंधार विमान अपहरण की कहानी तथा मुल्ला उमर के बयान एवं अंसार ग़ज़वा-तुल-हिन्द (एजीएच) से संबंधित पोस्ट सोशल मीडिया के माध्‍यम से प्रसारित किए जा रहे थे।

फैजान द्वारा लोन वुल्फ अटैक (Lone Wolf Attack) करने की योजना थी, जिसके लिए सुरक्षा बल के जवानों एवं उनके परिजनों की निगरानी एवं रेकी की जा रही थी। इसके द्वारा ऐसा हमला कर स्‍वयं को इंडियन मुजाहिदीन के यासीन भटकल एवं सिमी सरगना अबू फैजल की तरह बड़ा मुजाहिद सिद्ध करना था। अपनी योजना को अंजाम देने के लिए इसके द्वारा स्‍थानीय अवैध हथियार कारोबारी तथा राज्‍य के बाहर के लोगों से सम्‍पर्क कर पिस्‍टल एवं कारतूस एकत्र किए जा रहे थे। प्रकरण में आरोपी की पुलिस रिमांड लेकर अग्रिम पूछताछ की जा रही है एवं इसके अन्य सहयोगियों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है।

मध्‍यप्रदेश एटीएस द्वारा विगत 3 वर्षों में प्रतिबंधित/रेडिकल नेटवर्क का भांडाफोड़

एटीएस, मध्‍यप्रदेश द्वारा प्रदेश में सक्रिय प्रतिबंधित एवं रेडिकल संगठनों जैसे कि- SIMI, PFI, ISIS, JMB, HuT, Al-Sufa, LWE (Maoist) की गतिविधियों पर लगातार निगाह रखी जाती है।

विगत 3 वर्षों में की गई गिरफ्तारी

·                     Popular Front of India (PFI) के 22

·                     Islamic State of Iraq and Syria (ISIS)/ Al-Sufa के 6

·                     Jamaat-ul-Mujahideen Bangladesh (JMB) के 6

·                     Hizb-ut-Tehrir (HuT) के 16

·                     LWE (Maoist) के 04

·                     IM के 1

कुल 55 आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके कब्‍जे से भारी मात्रा में हथियार, गोला बारूद, राष्‍ट्रविरोधी साहित्‍य, आपत्तिजनक दस्‍तावेज एवं डिजिटल उपकरण जप्‍त करने में सफलता अर्जित की गई है।

प्रतिबंधित संगठन है इंडियन मुजाहिदीन

• इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) को हिंसक उग्रवादी गतिविधियों के कारण भारत सरकार द्वारा वर्ष 2013 में प्रतिबंधित संगठन घोषित किया गया है।

• संगठन का उद्देश्‍य हिंसक तरीकों से भारत में इस्‍लामी राज्‍य की स्‍थापना करना है।

• भारत में वर्ष 2005 से 2013 तक दिल्‍ली, मुंबई, हैदराबाद, अहमदाबाद, पुणे आदि स्‍थानों पर हुए बम धमाकों में आईएम की संलिप्‍तता रही है ।

मध्‍यप्रदेश से इंडियन मुजाहिदीन (IM) के सम्‍पर्क

· आईएम सरगना रियाज भटकल द्वारा संगठन में भर्ती एवं प्रशिक्षण के लिए मध्‍यप्रदेश के सिमी सदस्‍यों के सहयोग से मजबूत नेटवर्क स्‍थापित किया गया था।

· सिमी एवं आईएम आतंकियों द्वारा कारित अहमदाबाद सीरियल बम ब्‍लास्‍ट प्रकरण में वर्ष 2022 में मध्‍यप्रदेश के सिमी सरगना सफदर नागौरी सहित 3 आरोपियों को फांसी तथा अन्‍य 5 आरोपियों को अजीवन कारावास के दण्‍ड से दण्डित किया गया है।

इस्लामिक स्टेट इन इरान एंड सीरिया (आईएसआईएस)

ISIS अपने चरमपंथी विचारधारा एवं क्रूर रणनीति के लिए जाना जाता है, जिसका उद्देश्‍य वैश्विक इस्लामी साम्राज्य स्थापित करना है।

मध्‍यप्रदेश ATS द्वारा ISIS के विरूद्ध की गई प्रभावी कार्यवाही

· वर्ष 2015 में ISIS से जुड़े 5 युवकों को रतलाम से किया गिरफ्तार।

· वर्ष 2017 में भोपाल-उज्‍जैन पैसेंजर ट्रेन में हुए बम ब्‍लास्‍ट में शामिल उत्‍तरप्रदेश के 3 आरोपी गिरफ्तार।

· वर्ष 2022 में निम्‍बाहेड़ा, राजस्‍थान में जप्‍त विस्‍फोटक प्रकरण में ISIS/Al-Sufa के 3 आरोपी गिरफ्तार।

· वर्ष 2023 में जबलपुर से ISIS Module के 3 आरोपी गिरफ्तार, ISIS के गिरफ्तार इन आतंकियों से भारी मात्रा में हथियार, गोला बारूद, राष्‍ट्रविरोधी साहित्‍य, आपत्तिजनक दस्‍तावेज एवं डिजिटल उपकरण जब्त किये गए।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading