मध्य प्रदेश में भाजपा ने अपने सांसदों को विधानसभा का टिकट देकर साबित किया है कि पार्टी आत्मविश्वास की कमी के संकट से जूझ रही है: कमलनाथ | New India Times

अबरार अहमद खान/मुकीज खान, भोपाल (मप्र), NIT:

मध्य प्रदेश में भाजपा ने अपने सांसदों को विधानसभा का टिकट देकर साबित किया है कि पार्टी आत्मविश्वास की कमी के संकट से जूझ रही है: कमलनाथ | New India Times

भाजपा ने विधानसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों की दूसरी सूची में दिग्गजों को शामिल कर सियासी गलियारों में खलबली मचा दी है।
भाजपा ने विभिन्न अंचलों में अपना गढ़ बचाने के लिए तीन केंद्रीय मंत्री एवं चार सांसदों को प्रत्याशी बनाकर बड़ा दांव खेला है। तो वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म X (Twitter) पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि,

“दूसरी लिस्ट पर एक ही बात फिट है- नाम बड़े और दर्शन छोटे। भाजपा ने मप्र में अपने सांसदों को विधानसभा की टिकट देकर साबित कर दिया है कि भाजपा न तो 2023 के विधानसभा चुनाव में जीत रही है, न 2024 के लोकसभा चुनाव में। इसका सीधा अर्थ ये हुआ कि वह यह मान चुकी है कि एक पार्टी के रूप में तो वह इतना बदनाम हो चुकी है कि चुनाव नहीं जीत रही है, तो फिर क्यों न तथाकथित बड़े नामों पर ही दांव लगाकर देखा जाए।”

कमल नाथ ने जीत का दावा करते हुए लिखा “भाजपा आत्मविश्वास की कमी के संकटकाल से जूझ रही है। अबकी बार भाजपा अपने सबसे बड़े गढ़ में, सबसे बड़ी हार देखेगी। कांग्रेस भाजपा से दोगुनी सीट जीतने जा रही है। भाजपा की डबल इंजन की सरकार डबल हार की ओर बढ़ रही है।”

By nit

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d