पुलिस कप्तान के निर्देशन में पुलिस फ़ोर्स ने ग्राम पाचौरी में दी दबिश। संदेहियों एवं निगरानी बदमाशों के घरों में चलाया गया तलाशी अभियान, ड्रोन से हुई निगरानी | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

पुलिस कप्तान के निर्देशन में पुलिस फ़ोर्स ने ग्राम पाचौरी में दी दबिश। संदेहियों एवं निगरानी बदमाशों के घरों में चलाया गया तलाशी अभियान, ड्रोन से हुई निगरानी | New India Times

बुरहानपुर पुलिस अधीक्षक श्री देवेंद्र कुमार पाटीदार के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अंतर सिंह कनेश, एसडीओपी नेपानगर श्री निर्भय सिंह अलावा के नेतृत्व में आज थानों एवं पुलिस लाइन की संयुक्त टीमों द्वारा खकनार थानाक्षेत्र अंतर्गत ग्राम पाचौरी में दबिश दी गई। आगामी चुनाव के दृष्टिगत पुलिस कप्तान के निर्देशन अवैध हथियारों के निर्माण, परिवहन, क्रय विक्रय पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। इसी कड़ी में आज ग्राम पाचौरी में दबिश देकर तलाशी अभियान चलाया गया। जिसमें अवैध हथियार निर्माण में लिप्त संदेहियों एवं निगरानी बदमाशो के घरों की तलाशी की गई। तलाशी हेतु वरिष्ठ अधिकारियों के नेतृत्व में चार अलग-अलग टीमें बनाई गई जिसमें महिला पुलिस बल को भी शामिल किया गया।

अलग अलग पुलिस टीमों द्वारा घरों की तलाशी लेते हुए संदेही मलखानसिंह, नेहंगसिंह, तरणसिंह, युवराजसिंह , सरताज, समन, शेरसिंग, गुरूचरणसिंह हरबनसिंह, तहरसिंह, रिछपाल, हरविन्दर, विनोद, नानक, बराडसिंह के यहां तलाशी ली गई। निगरानी बदमाश महेन्द्र, रीछपालसिंह, अतिकसिंह सतपालसिंह, तैहरसिंग, रामसिंग, कमलसिंग, तरणसिंग आदि के घरों एवं खलिहानों की तलाशी लेते केवल महिलाए एवं बच्चे मिले जिनसे निगरानी बदमाशो के बारे में पुछने पर काम करने एवं रिश्तेदारी में जाना बताया गया। पुलिस चैकिंग के दौरान गांव के सभी मकान एवं वाहन चैक किये गये। गांव से लगे हुए इलाके और जंगल के रास्तों की डॉग स्कॉड के साथ सर्चिंग की गई। चेकिंग की सम्पूर्ण कार्यवाही ड्रोन कैमरे की निगरानी में की गई।

पुलिस अधीक्षक द्वारा वहां मौजूद ग्राम वासियों को बुलाकर उन्हें हथियार बनाने का कार्य छोड़ने की समझाइश दी गई। उन्हें समझाया गया कि अपराधिक गतिविधियो में लिप्त रहने से उनका नुकसान हो रहा है। सिकलीगर समाज का नाम बदनाम हो रहा है। कुछ लोगों के अपराधो में लिप्त होने के बावजूद पूरे समाज को अपराधिक प्रवत्ति का माना जाता है। अवैध हथियार बनाने का काम छोड़ने पर ही वे समाज की मुख्यधारा से जुड़ पाएंगे। दबिश की कार्यवाही में पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एसडीओपी नेपानगर के निर्देशन में थाना प्रभारी खकनार, रक्षित निरीक्षक, विभिन्न थानों का बल , पुलिस लाइन का बल सहित करीबन 100 अधिकारी/कर्मचारी मौजूद रहे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading