दतिया विकास के क्षेत्र में नई ऊंचाईयां छू रहा है: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र | New India Times

गुलशन परूथी, ब्यूरो चीफ, दतिया (मप्र), NIT:

दतिया विकास के क्षेत्र में नई ऊंचाईयां छू रहा है: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र | New India Times

मध्यप्रदेश शासन के गृह, जेल, संसदीय कार्य एवं विधि विधायी विभाग के मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने आज रविवार को दतिया में आयोजित अमर शहीद वीरांगना झलकारी बाई कोरी, कोली समाज के सामुदायिक भवन के नवनिर्मित बाउंड्री वॉल के लोकार्पण एवं सम्मान समारोह मेें मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। डॉ मिश्र ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि वीरागंना झलकारी बाई से हमें भी सबक लेना चाहिए। जिस प्रकार से उन्होंने अपनी मातृ शक्ति और बहादुरी का अद्भुत परिचय दिया था। उसी प्रकार से हमें भी उनके पद चिन्हों पर चलना चाहिए, उन्होने कहा कि जहां नारी एवं मातृ संस्कृति का सम्मान होता है वहां संस्कृति का उत्थान होता है। केन्द्र की मोदी सरकार एवं प्रदेश की शिवराज सरकार ने नारी के सम्मान के लिए अनेकों योजनायें एवं कार्यक्रम संचालित किये है। लाड़ली बहना योजना शुरू होने से जहां महिलाओं को सम्मान मिले वहीं आर्थिक रूप से भी आत्म निर्भर हो रही है। यह राशि धीरे-धीरे बढ़ते हुए प्रतिमाह 3 हजार रूपये प्राप्त होंगे।

दतिया विकास के क्षेत्र में नई ऊंचाईयां छू रहा है: गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र | New India Times

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधि योजना एवं प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत प्रतिवर्ष 12 हजार की राशि प्राप्त हो रही है। इसी प्रकार वृद्धावस्थ पेंशन योजना में एक हजार रूपये प्रतिमाह के मान से एक वर्ष में 12 हजार रूपये प्राप्त होंगे, केन्द्र एवं राज्य सरकार की योजनाओं के माध्यम से खाद्यान का वितरण, पढ़ाई, लिखाई की व्यवस्था, स्वास्थ्य सुविधायें आदि निःशुल्क उपलब्ध कराई जा रही है। म.प्र. सरकार ने महिलाओं के सशक्तिकरण के मामले में अनेकों कदम उठाये हैं। बेटी के जन्म से लेकर शादी तक की जिम्मेदारी राज्य सरकर ने ली है।

गृह मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि हमारी सरकार ने भीषण कोरोना काल में भी सभी वर्गों को सामान श्रेणी में रखकर घर-घर जाकर राशन सामग्री देकर सहायता उपलब्ध कराई थी। उन्होंने कहा कि जो बाहर से आ-जा रहे थे, उनको साधन और भोजन सामग्री उपलब्ध कराकर उनके गंतव्य स्थानों तक पहुंचाया था। यदि आपके समाज के किसी भी सदस्य को किसी भी प्रकार की समस्या एवं परेशानी हो तो तत्काल मुझे बताएं, मेरे घर के दरवाजे आप लोगों के लिए हमेशा खुले रहेंगे। गृह मंत्री डॉ. मिश्र ने जानकारी देते हुए बताया कि दतिया जिले में कई योजनाओं एवं विकास कार्यों में सबसे आगे चल रहा है। इसके कारण दतिया का नाम आज देश एवं प्रदेश में सबसे ऊपर आ रहा है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि दतिया के चहुमुखी विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी, शासन द्वारा चलाई जा रही सभी जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को जरूर मिलेगा, लेकिन इसमें आपको भी पूरा सहयोग कर आगे आना होगा।

गृह मंत्री डॉ. मिश्र ने कहा कि जो विकास दतिया में पिछले 15 वर्षो में हुआ है वह पूर्व वर्षो में कभी नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि दतिया हर क्षेत्रों में विकास की ओर अग्रसर हो रहा है। जो दतिया वर्षो पहले प्रदेश स्तर पर एक छोटा का कस्बा एवं पिछड़ा, वीरान दतिया माना जाता था आज वहीं दतिया प्रदेश स्तर पर हर क्षेत्र में अपनी ऊंचाईयों को छू रहा है। साथ ही पूरे प्रदेश में दतिया के विकास की चर्चाएं उच्च स्तर पर हो रही है।

इस अवसर पर कोरी समाज के लोगों द्वारा गृहमंत्री डॉ मिश्रा, को शॉल, श्रीफल व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया, गृहमंत्री डॉ मिश्र ने समाज की प्रतिभावान छात्र-छात्राओं का प्रशास्ति पत्र प्रदान कर सम्मान भी किया, गृहमंत्री डॉ मिश्र ने कार्यक्रम में उपस्थित लोगों से वहां पेड़ पाैंधे लगाने की भी अपील की जैसे वातवरण शुद्व हो।

कार्यक्रम में नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि श्री प्रशान्त ढेगुंला, उपाध्यक्ष प्रतिनिधि श्री योगेश सक्सेना, श्री जीतू कमरिया, श्री अतुल भूरे चौधरी, श्री विपिन गोस्वामी, श्री पी.एल. लुहारिया, श्री के.के. नारौलिया,श्री घनश्याम शेर, श्री अर्जुन सिंह, श्री राजू पटवा, डां जी.एल वर्मा, श्री कैलाश चन्द्र सूत्रकार, श्री दयाराम पटवा, श्री कल्याण सिंह पटवा, श्री शिवचरन शाक्य, श्री चंदन सिंह शाक्य, श्री मोहन पटवा सहित, जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

By nit

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading