ताप्ती मेगा रिचार्ज योजना हेतु पीएम नरेन्द्र मोदी को पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने लिखा पत्र | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

ताप्ती मेगा रिचार्ज योजना हेतु पीएम नरेन्द्र मोदी को पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने लिखा पत्र | New India Times

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भाजपा प्रदेश प्रवक्ता एवं पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस (दीदी) ने अपर ताप्ती कछार में ‘‘भूजल पुनरभरण‘‘ का अद्वितीय व अद्भुत प्रयास को उनके संज्ञान में लाने हेतु पत्र प्रेषित किया।

श्रीमती चिटनिस ने प्रेषित पत्र में सर्वप्रथम प्रधानमंत्री को लिखा है कि ‘‘नारी शक्ति वंदन अधिनियम‘‘ पारित कर आपने दशकों से दिखाए जा रहे सपने को घंटों में साकार कर दिया, इस हेतु आपका बार-बार धन्यवाद। साथ ही जी-20 सम्मेलन के यशस्वी आयोजन तथा इससे दुनियां में भारतवर्ष का परचम लहराने के लिए आपका और भारत सरकार का दिल की गहराईयों से अभिनंदन करती हूं। अंग्रेजी भाषा में एक कहावत है जो इस आयोजन पर बिल्कुल सटीक बैठ रही है। ‘‘ए सक्सेसफुल टीम इज ए ग्रुप ऑफ मैनी हेंड्स एण्ड वन माईंड‘‘।

श्रीमती अर्चना चिटनिस द्वारा लिखे पत्र में उन्होंने कहा कि मैं इस अवसर पर आपकी पारखी नजरों में ताप्ती कछार में स्थित अदभूत भूजल गर्भीय संरचना के बारे में जानकारी लाना चाहूंगी। ताप्ती कछार में सतपुड़ा पर्वत की तलहटी में ताप्ती नदी तथा सतपुड़ा पर्वत श्रृंखला के समानांतर ‘‘भूभ्रंश‘‘ (फाल्ट) है। इसी भूभ्रंश से सटकर अत्यंत पाझर (परमेबल) ‘‘बजाड़ा झोन‘‘ (बजाडा झोन) पाया गया है। प्रकृति की इस विशेषता के कारण बरसात में स्थानीय नदी नालों का पानी अधिकांश भू-जल को पुनर्भरित करता चलता हैं। भारत सरकार के भू-जल बोर्ड ने इस आश्चर्यजनक फेनोमीनन को देखते हुए संशोधन पुस्तिका प्रकाशित कर बताया है कि ताप्ती के बरसाती बाढ़ के पानी को इस भूभ्रंश से सटकर चलाया जाए तो बड़े पैमाने पर भू-जल रिचार्ज हो सकता है ऐसा निष्कर्ष भू-जल बोर्ड द्वारा निकाला गया।

श्रीमती चिटनिस ने कहा कि आपके कार्यकाल के प्रारंभ में ही दिसंबर 2014 में भारत सरकार ने ‘‘टास्क फोर्स‘‘ का गठन किया। जिसने टेक्निकली फिजिबिलीटी प्रमाणित करते हुए यह निष्कर्ष निकाला कि ‘‘मेगा रिचार्ज परियोजना ‘‘एक लाख मिलियन लिटर्स (30 टीएमसी) पानी पुनरभरण करने वाली दुनिया की अद्वितीय परियोजना है। यह मप्र और महाराष्ट्र राज्य का संयुक्त उपक्रम है जो केला उत्पाद क्षेत्र के लिए एक वरदान साबित होगी। श्रीमती चिटनिस ने कहा कि मेरा ही नहीं बल्कि सभी का दृढ़ विश्वास है कि ऐसी अद्भुत, अद्वितीय एव आवश्यक परियोजना का क्रियान्वयन आपके आशीर्वाद तथा मार्गदर्शन से ही संभव है।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading