बुरहानपुर में निःशुल्क दीनदयाल कोचिंग क्लासेस का हुआ शुभारंभ, महापौर, सांसद एवं पूर्व मंत्री सहित गणमान्य जनों ने की शिरकत | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

बुरहानपुर में निःशुल्क दीनदयाल कोचिंग क्लासेस का हुआ शुभारंभ, महापौर, सांसद एवं पूर्व मंत्री सहित गणमान्य जनों ने की शिरकत | New India Times

शासकीय विद्यालयों में अध्यनरत कक्षा 10वीं एवं 12वीं के विद्यार्थियों के लिए प्रत्येक रविवार एवं शासकीय अवकाश के दिनों में बुरहानपुर में पंडित दीनदयाल कोचिंग क्लासेस निःशुल्क का शुभारंभ पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं प्रदेश भाजपा प्रवक्ता श्रीमती अर्चना चिटनीस दीदी की अध्यक्षता एवं क्षेत्रीय सांसद श्री ज्ञानेश्वर पाटिल के मुख्य अतिथि में एक गरिमामय कार्यक्रम में गुरूवार को इंदिरा कॉलोनी स्थित परमानंद गोविंदजीवाला ऑडिटोरियम में संपन्न हुआ। विशेष अतिथि के रूप में महापौर श्रीमती माधुरी अतुल पटेल, कलेक्टर बुरहानपुर प्रविण सिंह, जिला पंचायत उपाध्यक्ष गजानन महाजन, शाहपुर नगर परिषद अध्यक्ष प्रतिनिधि वीरेन्द्र तिवारी, जिला शिक्षाधिकारी रविन्द्र महाजन, सेवानिवृत्त प्राचार्य प्राणवीर सिंह सिसौदिया, पार्षद संभाजीराव सगरे, धनराज महाजन, अशोक महाजन, एजाज़ अशरफी,जफर फ्रूटवाले, रूद्रेश्वर एंडोले, मनोज टंडन, भाजयुमो जिलाध्यक्ष वैभव महाजन एवं भरत रावल सहित अन्य जनप्रतिनिधि व गणमान्य जन मौजूद रहे। इस अवसर पर श्री दुर्गाप्रसाद अग्रवाल ने स्वयं एवं उनकी पत्नी श्रीमती आशा अग्रवाल द्वारा कोचिंग क्लासेस में अपनी सेवाएं देने हेतु स्वयं उपस्थित होकर सहमति दी है। इस सेवा कार्य के संचालन हेतु 11 हजार रूपए देने की भी घोषणा की।
इस अवसर पर पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस ने कहा कि बुरहानपुर क्षेत्र के विद्यार्थियों का भविष्य उज्वल बनाने हेतु निःशुल्क कोचिंग क्लासेस आयोजित करने हेतु विचार मन में आया। फलस्वरूप पिछले 3-4 माह से सर्वे कराकर शासकीय विद्यालय के विद्यार्थियों को चिन्हित करने सहित इच्छुक व्याख्याताओें से सहमति उपरांत कोचिंग क्लासेस शुरू करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि इसके पूर्व वर्ष 2016 से 2018 तक इस प्रकार की निःशुल्क कोचिंग क्लासेस आयोजित गई थी, जिसका परिणाम यह रहा कि परीक्षा परिणाम में वृद्धि हुई थी। किन्तु कोरोनाकाल के कारण कोचिंग आयोजित नहीं हो सकी। एक बार पुनः प्रयास कर कोचिंग क्लासेस आयोजित करने हेतु निर्णय लिया गया है। श्रीमती चिटनिस ने कहा कि मैं स्वयं भी इन कोचिंग क्लासेस में पढ़ाने जाउंगी और अपनी सेवाएं दूंगी।श्रीमती अर्चना चिटनिस ने बताया कि बुरहानपुर विधानसभा क्षेत्र के सावित्रीबई फुले शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बुरहानपुर, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय लालबाग, शासकीय उर्दू कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय हरीरपुरा बुरहानपुर, शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय शाहपुर, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय फोफनार एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय चापोरा में इन 6 स्थानों पर कोचिंग क्लासेस निःशुल्क होगी। कोचिंग क्लास प्रत्येक रविवार को होंगी। प्रत्येक रविवार एवं शासकीय अवकाश के दिनों को प्रातः 11 से दोपहर 3 बजे तक कोचिंग क्लासेस में विद्यार्थी अपनी जिज्ञासाओं का हल पा सकेंगे।
श्रीमती चिटनिस ने कहा कि शासकीय हाईस्कूल एवं उ.मा.विद्यालयों में जिन विषयों के शिक्षकों का अभाव है ऐसे विषयों की निःशुल्क कोचिंग क्लासेस प्राथमिकता के आधार पर प्रारंभ की जा रही है। उन्होंने बताया कि इन 6 स्थानों पर आयोजित होने वाली कोचिंग क्लासेस में विषय विशेष के करीब 44 अच्छे शिक्षकों ने अपनी सेवाएं देने की स्वीकृति प्रदान की है। कोचिंग क्लासेस का करीब 8 हजार से अधिक विद्यार्थी सेवाएं लेंगे। श्रीमती चिटनिस ने बताया कि बुरहानपुर में 57 शासकीय हाईस्कूल/शासकीय हायर सेकंडरी स्कूलें है। हमने बुरहानपुर जिला अंतर्गत वर्ष 2008-2009 से वर्ष 2013-2014 तक 32 माध्यमिक शालाओं का हाईस्कूलों में तथा 27 हाईस्कूलों का हायर सेकंडरी में उन्नयन कराया, जिसमें हाईस्कूल प्राचार्यों के 32 एवं हायर सेकंडरी प्राचार्यों के 27 पद भी स्वीकृत कराए थे।
इस अवसर पर सांसद ज्ञानेश्वर पाटिल ने कहा कि पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस द्वारा सराहनीय कार्य किया जा रहा है।अर्चना दीदी द्वारा विद्यार्थियों को जो प्लेट फार्म उपलब्ध कराया गया है, यह अभियान देश और प्रदेश में अनूठा अभियान साबित होगा। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी अलग-अलग कोचिंग न जाकर एक ही स्थान पर कोचिंग में जाएंगे। उनका हमारे बुुरहानपुर के सर्वश्रेष्ठ शिक्षक मार्गदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षक ही देश का भविष्य बना सकते है। शिक्षक भी इस अनूठे अभियान को सफल बनाए। रोल मॉडल के रूप में एक बार पुनः प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान बुरहानपुर की सराहना कर सके। श्री पाटिल ने कहा कि इस कोचिंग क्लासेस का नाम पंडित दीनदयाल जी उपाध्याय के नाम से रखा गया है। दीनदयाल जी कमजोर लोगों की सेवा करने वाले थे। उन्होंने समाज सुधारने का काम किया है।
कलेक्टर प्रविणसिंह ने कहा कि पंडित दीनदयाल कोचिंग क्लासेस निःशुल्क निर्णय लिया गया है। यह कोई सरकारी टार्गेट नहीं है। पूर्व मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस की पहल पर शिक्षकों ने अपनी स्वयं की जिम्मेदारी और खुद का कार्य समझकर बच्चों को अतिरिक्त मार्गदर्शन करने का दिल से निर्णय लिया है। बुरहानपुर के 44 सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों का चयन कर उनका और अधिक मार्गदर्शन बच्चों को मिल सकेंगा। इस सेवा में शिक्षकों ने स्वयं अपनी सहमति प्रदान की है। यह बहुत ही सराहनीय कार्य है। इस प्रयास से आगामी परीक्षा परिणाम निश्चित ही उत्कृष्ट होंगे। साथ ही कोचिंग क्लासेस में अपनी सेवाएं देने वाले शिक्षकों को अतिरिक्त मानदेय भी किया जाएगा। यह यश-कीर्ति प्रोत्साहित करने हेतु किया गया है। उन्होंने शिक्षकों से कहा कि परिणाम सिद्ध करना चाहिए कि बुरहानपुर के शिक्षक बेस्ट शिक्षक है।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading