दूसरी शादी का झांसा देकर दो विवाहित महिलाओं का अपहरण कर करवाया गया बलात्कार, एक महिला सहित चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज

अपराध, देश, राज्य

त्रिवेंद्र जाट, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

देवरी के महाराजपुर थाना के पनारी गांव की दो विवाहित महिलाओं को पड़ोस में ही रहने वाले एक दंपति द्वारा अच्छे घर मे शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का ताजा मामला प्रकाश में आया है. पुलिस ने एक दिन पहले मुख्य आरोपी को पूंछतांछ के लिये बुलाया और 151 की कार्यवाही कर छोड़ दिया। उसके बाद गुस्साए ग्रामीणों और परिजनों ने बुधवार को महराजपुर थाने का घेराव किया जिस पर देवरी से एसडीओपी पूजा शर्मा ने पहुंचकर मामला शांत कराया और आरोपियों के विरुद्ध मामला पंजीबद्ध कराया।

7 जुलाई को एक ही परिवार की दो महिलाओं को पड़ोस में रहने वाले दंपति ने अच्छे घर में शादी कराने का झांसा देकर ले गए थे जिस पर महाजपुर पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज किया था। जानकारी के अनुसार महराजपुर के पनारी गांव की एक 20 वर्षीय विवाहित महिला ने बुधवार को थाना महाराजपु में अपने परिजनों के साथ जाकर आरोपियों के विरुद्ध आवेदन देकर अपराध दर्ज कराने की बात कही। आवेदन में महिला ने बताया कि मेरे पड़ोस में रहने वाली कल्पना चढार और उसका पति मुझे एवं मेरी जेठानी को अच्छे घर मे शादी का झांसा देकर ले गए थे क्योंकि मेरे पति आये दिन छोटी छोटी बातों को लेकर झगडते थे इसका फायदा उठाते हुए पड़ोसी कल्पना ने कहा कि तेरा पति आये दिन झगड़ता रहता है। और तुम्हारे घर में खाने केलिये भी नहीं है। तेरे पति ने तेरे लिये किया ही क्या है। तू कहे तो मै तेरी शादी किसी अच्छे घर में करवा दूँ तो मै कल्पना कि बातों में आ गई और फिर 7 जुलाई को कल्पना ने मुझे ओर मेरी जेठानी को मेरे परिवार के खिलाफ भड़काया तो हम दोनो कल्पना कि बातो मे आ गये और दूसरी जगह शादी करने के लिये तैयार हो गये। और फिर कल्पना के कहने पर हम दोनों सागर पहुच गए सागर मे हमे कल्पना चढार के मामा रामदयाल चढ़ार, व राजेश चढार मिले जो हम दोनों को अपने साथ सैदपूर थाना पठारी जिला विदिशा लेकर गये।वहा हम दो दिन तक रहे। और फिर तीसरे दिन रामदयाल मेरी जेठानी को लेकर कही चले गए।में अकेली वही रुकी रही करीब 3 दिन बाद कोई नही आया तो मैने कल्पना को फोन लगाया कि मामा अभी तक जेठानी को लेकर नहीं आये है।और कल्पना ने कहा कि तुम्हारी जेठानी को अच्छी जगह पर सेट कर दिये है तुम चिन्ता मत करो। तुम्हें लेने के लिये भी हम किसी को भेज रहे हैं। मैंने कल्पना से कहा की मुझे अपनी जेठानी से बात करना है तो किसी ने मेरी बात नहीं कराई और इस दौरान रामदयाल अकेले घर आया तो मैंने पूछा कि मेरी जेठानी कहा है तो रामदयाल ने उसे राजस्थान में बेचने की बात कही तो घबराकर मैंने अपने पति मोहन को फोन किया और बताया कि मैं सैदपुर में हूँ। फिर मैं सागर के लिये बस में बैठी और रास्ते में जब बस रूकी तो कैलाश चढार और कन्हैया चढार दोनों ने मुझे बस से नीचे उतार कर जंगल की ओर ले गये और दोनों ने मिल कर मेरे साथ जबरजस्ती गलत काम किया और मुझे फिर से सैदपुर रामदयाल के घर ले गये और दोनों ने मुझसे कहा था कि यदि किसी को कुछ भी बताया तो जेठानी और तुम्हें जान से खत्म कर देंगे। दिनांक 17 जुलाई को मेरे जेठ रेवाराम अहिरवार पुलिस को लेकर सैदपुर पहुंचे और मुझे घर ले आये लेकिन मेरी जेठानी उनके पास अभी भी है तो डर के कारण पुलिस को कुछ नहीं बताया और मेरे परिवार वालो ने घर पर मुझसे जेठानी के बारे में व मेरे साथ हुई घटना के बारे में पूछा जो मैंने डरते हुए 20 जुलाई को आप बीती पति व घर वालों को सुनाई और बुधवार 21 जुलाई को मेरे पति, जेठ व सास, ससुर के साथ थाने में कल्पना चढार, कैलाश चढार, कन्हैया चढार, रामदयाल चढार, राजेश चढार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। जिस पर पुलिस ने आरोपियों की विरुद्ध धारा
376-डी,120-बी,366,370,506,34 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं इस मामले में देवरी की एसडीओ पुलिस पूजा शर्मा ने बताया कि मामले में गुम इंसान का किया गया था जिसके बाद पुलिस ने 16 तारीख को एक महिला को दस्तयाब किया था लेकिन महिला ने कुछ नहीं बताया उसके बाद जब महिला ने अपने परिजनों के साथ आकर जानकारी दी तो आरोपियों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है वही उन्होंने बताया की सभी आरोपियों की तलासी के लिये टीम भेज दी गई है जल्द ही सभी को गरफ्तार किया जाएगा। वहीं इस पूरे घटनाक्रम को लेकर महिला के परिजन द्वारा पुलिस की कार्यप्रणाली को संदिग्ध बताया है और पैसों का लेनदेन कर आरोपियों को छोड़े जाने की बात कही।

Leave a Reply