पूर्व विधायक हुतात्मा गुरुशरण छाबडा जी की जयंती पर राष्ट्रीय स्तर पर युथ वर्ल्ड सोशल मंच द्वारा किया गया वेबिनार का आयोजन, छाबड़ा जी को याद कर उनके सपने को साकार करने का लिया संकल्प: पूनम अंकुर छाबड़ा

देश, राज्य, समाज

भैरु सिंह राजपुरोहित, ब्यूरो चीफ, बीकानेर (राजस्थान), NIT:

शराबबंदी आंदोलन के जनक सूरतगढ़ के पूर्व विधायक शहीद गुरुशरण जी छाबडा जी की जयंती के अवसर पर यूथ वर्ल्ड सोशल मंच की ओर से एक राष्ट्रीय स्तर की संवाद संगोष्ठी का वर्चुअल आयोजन किया गया। उपस्थित सभी ने शहीद गुरुशरण जी छाबडा जी को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

यूथ वर्ल्ड सोशल मंच निदेशक मधुमाया सिंह ने बताया की मंच द्वारा शराब बंदी आंदोलन और सशक्त लोकायुक्त की मांग को लेकर अपने प्राणों का बलिदान देने वाले शहीद गुरुशरण जी छाबडा की 72 वी जयंती पर नशा मुक्त हो समाज विषय को लेकर संगोष्ठी का वर्चुअल आयोजन रखा गया जिसमें मुख्य अतिथि के रुप मे वरिष्ठ समाज सेवी और शिक्षा विद डॉ सुरेन्द्र गोयल सिरसा, मुख्य वक्ता सम्पूर्ण शराब बंदी आंदोलन जस्टिस फ़ॉर छाबडा जी संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबडा, संगोष्ठी की अध्यक्ष सीमा वालिया बीकानेर, विशिष्ठ अतिथि साहित्यकार रश्मिलता मिश्रा बिलासपुर, नेशनल एडवाइजर अलका हेजल भटिंडा, डॉ सत्यनारायण चोधरी जयपुर, पत्रकार राजेन्द्र सिंह पूनाडिया, प्रख्यात कवि सुख सिंह आऊवा, यूथ वर्ल्ड निदेशक मधुमाया सिंह दिल्ली, रागिनी उपलपवार भोपाल, डॉ अपर्णा मिश्रा बिलासपुर, वरिष्ठ कवियत्री डॉ रजनी झा हरिद्वार, मीनाक्षी राजपुरोहित अजमेर, डॉ कृष्ण कुमार मिश्र बिहार, निरुपमा त्रिर्वेदी इंदौर, रश्मि नामदेव कोटा, सुखमिला अग्रवाल मुम्बई, हसन रज्जा डीडवाना, सुरेखा दीक्षित बिलासपुर, गोपाल जोशी बीकानेर, जसपाल सिंह अजमेर , एडवोकेट गोपाल कोडेचा बाड़मेर, विक्रम सिंह रास, प्रतीक शर्मा आगरा सहित कई गणमान्य हस्तियां वर्चुअल संवाद में पटल पर मौजूद रहे।

शहीद गुरुशरण छाबडा जी 72 वीं जयंती पर आज की यूथ वर्ल्ड सोशल मंच की संगोष्ठी की मुख्य वक्ता पूनम अंकुर छाबडा ने उनके जीवनव्रत पर प्रकाश डाला और उनके सपनों को साकार करने को संकल्पित होकर शराब बंदी आंदोलन की जानकारी साझा की।

वंही मुख्य अतिथि डॉ सुरेन्द गोयल ने अपने उद्बबोधन में कहा की छाबडा जी एक देव पुरुष थे जिन्होंने इस समाज से शराब रुपी जहर का खात्मा करने को अपने प्राणों का बलिदान दे दिया उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जा सकता, हम सब मिलकर उनके नेक सपनो को साकार करेगे ।डॉ सत्यनारायण चोधरी ने बहुत विस्तार पूर्वक छाबडा जी के कार्यो पर प्रकाश डाला, तो कवि सुख सिंह आऊवा ने काव्य के माध्यम से श्रद्धा सुमन अर्पित किए और रशिमलता मिश्रा ने कहा की नशा ही नाश की जड़ है और हम सब को मिलकर इस जहर का खात्मा समाज देश से करना है , डॉ रजनी झा हरिद्वार ने काव्य के माध्यम से नशे के वर्तमान हालात पर अपनी बात रखी , सभी वक्ताओ में नशा मुक्ति पर सार्थक विचार सांझा किये।

वही समारोह अध्यक्ष सीमा वालिया बीकानेर ने कहा की समाज को जागरुक करने की आवश्यकता है और हम सब को मिलकर इस शराब है खराब के नारे को हर व्यक्ति के दिमाग मे बिठाना है। संगोष्ठी का संचालन करते यूथ वर्ल्ड सोशल मंच प्रमुख डॉ भैरु सिंह राजपुरोहित ने पूनम अंकुर छाबडा द्वारा सतत जारी शराब बंदी आंदोलन की जानकारी पटल पर सांझा की और आज छाबडा जी की जयंती पर इस वर्चुअल संवाद में जुड़ने वाले सभी देशभर के प्रबुद्धजन का आभार प्रकट किया।

Leave a Reply