प्रशासन व मीडिया द्वारा संयुक्त रुप से कोरोना से मुक्ति के लिए किया गया जन जागरूकता अभियान का शुभारंभ

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

रहीम शेरानी हिदुस्तानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

झाबुआ जिले के थांदला में कोरोना महामारी से पूर्णरूपेण मुक्ति के लिए 18 वर्ष से ऊपर के हर युवा वर्ग से लेकर हर पुरुष, महिला वैक्सीन लगवाए. इस महामारी के विरुद्ध जन जागरूकता अभियान का शुभारम्भ स्थानीय प्रशासन द्वारा थांदला मीडिया कर्मियों के सहयोग से स्थानिय जिला सहकारी केंद्रीय बैंक परिसर में शुरू किया गया.

पिछले कुछ समय से प्रशासन द्वारा मीडिया की उपेक्षा को लेकर प्रशासन व मीडिया के बीच चल रहा टकराव गुरुवार को जनपद सभा हाल में हुई बैठक में समाप्त हो गया। इस बैठक में प्रशासन की ओर से एसडीएम सुश्री ज्योति परस्ते ने नगर सहित ग्रामीण अंचलों में शत प्रतिशत वैक्सिनेशन हो इस विषय पर मीडिया से सुझाव व सहयोग की बात रखी।

मीडिया की ओर से वरिष्ठ पत्रकार कुन्दन अरोड़ा, अक्षय भट्ट, मुकेश अहिरवार, धर्मेंद्र पांचाल, सुधीर शर्मा सहित अनेक पत्रकारों ने प्रशासन को अनेक महत्वपूर्ण सुझाव देते हुए क्षेत्र को कोरोन्मुक्त करने सम्पूर्ण सहयोग प्रदान करने के लिए आश्वस्त किया था।

जनजागरूकता अभियान शुरू

वैक्सीन लगवाने हेतु ग्रामीण अंचलों में जनजागरूकता शुरू करने के अभियान का श्री गणेश सीसीबी की स्तानीय शाखा से किया गया जहां अधिकाधिक ग्रामीण एकत्रित होते हैं।
इस अवसर पर अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) ज्योति परस्ते ने बैंक में उपस्थित ग्राहकों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी से बचने के लिए एक मात्र उपाय टीकाकरण ही है, टीका लगवा कर आप अपनेआप, परिवार, समाज, गांव को सुरक्षित रख सकते हैं इसलिए प्रशासन आपसे निवेदन करता है कि यहां से जाने के पश्चात अपने गांव में चल रहे टीकाकरण अभियान का हिस्सा बनें व अधिक से अधिक लोगों को टीका लगवाने का प्रयास करें।
इसी कड़ी में अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) मनोहर गवली ने ग्रामीणों को कहा की अगर हम स्वस्थ रहेंगे तो हमारा परिवार स्वस्थ रहेगा, इसका एकमात्र विकल्प है टीकाकरण. एसडीओपी गवली ने बताया कि पुलिस विभाग में भी हर जवानों व उनके परिवारों का टीकाकरण हो चुका है। मैंने स्वयं व मेरे पूरे परिवार और मेरी 70 वर्षीय माताजी ने भी टीका लगवाया है।

आप लोगों के बीच में जो भ्रांति फैली है उसे दूर कर सभी टीका लगवाएं।
कार्यक्रम में तहसीलदार शक्ति सिंह चौहान ने समस्त खाता धारक किसान भाइयों से हाथ जोड़कर निवेदन किया कि आप सर्वप्रथम टीका लगवा कर अपने व अपने परिवार को सुरक्षित करिए, अपने गांव में जाकर अपने परिवार को व फलिये के लोगों को टीका लगवाने की सलाह देवें।

कार्यक्रम में ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर अनिल राठौर ने टीकाकरण के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि नगरीय क्षेत्रों में तो टीकाकरण का कार्य निर्बाध गति से चल रहा है किंतु ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी अधिकांश लोग टीकाकरण से वंचित होकर झूठी भ्रांतियों से डरे हुए हैं, उन भ्रांतियों को दूर कर हर व्यक्ति को टीका लगवाना है।
कार्यक्रम में जिला सहकारी बैंक के प्रबंधक पारसिंह मुणिया ने अपना अंदाज में किसानों को खाताधारकों को समझाया कि टीका अपने लिए महत्वपूर्ण है जिंदगी बचाने के लिए आपको टीका लगवाना ही है. आदिवासी भाइयों में तरह-तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं, मन में डर है कि टीका लगवाने से बुखार आ जाता है, आदमी की मौत हो जाती है, ऐसा कुछ भी नहीं है, मैंने और मेरे पूरे परिवार ने टीका लगवाया है. आप सभी लोगों से आह्वान करता हूं कि आप भी टीका लगवाएं, मास्क लगाएं, दो गज की दूरी रखें, स्वस्थ रहें, घर पर रहें, अनावश्यक रूप से कहीं पर भी ना घूमें.

पत्रकारों ने किया संबोधित

इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार कुन्दन अरोड़ा ने ग्रामीणों को भीली भाषा मे संबोधित करते हुए कहा कि खेतों में अपनी फसल को बचाने के लिए आप लोग दवाई का छिड़काव इसलिए करते हैं कि कीड़े मर जायें पर पौधा नहीं मरे। हम बीमार होते हैं तो सुई इसलिए लगवाते हैं कि जल्दी ठीक हों तो इसी तरह हमको इस कोरोना महामारी को खत्म कर बीमारी फैलने से पहले टीका लगवाकर अपने को व अपने परिवार को बचाना है। यही नहीं यहां से गांव जाने के बाद अपने गांव, फलिये व सभी नाते- रिश्तेदारों को भी टीका लगाने के लिए कहना है। टीके को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में जो गलत फहमी फैली है कि आदमी टीका लगाने के बाद बुखार से पीड़ित हो जाता है यहाँ तक कि मृत्यु हो जाती है इसे प्रशासन व स्तानीय जनप्रतिनि दूर कर ग्रामीणों को विश्वास में लेकर टीकाकरण के उचित प्रयास करें।
कार्यक़म में पत्रकार अक्षय भट्ट ने अपने संबोधन में भीली भाषा में ग्रामीणों को टीकाकरण के महत्व को समझते हुए पूरे परिवार के सदस्यों को टीका लगवाने पर जोर देते हुए कहा कि मैंने अपने पूरे परिवार को ठीक लगवाया है। अक्षय भट्ट ने प्रशासन के जिम्मेदारों को बताया कि आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र होने से ग्रामीणजन रूढ़िवादीता व झाड़फूंक में विश्वास करते हैं, इन्हें समझाना होगा कि टीका लगाने से ही इस महामारी का अंत है, स्वयं टीका लगवावें, अपने इस्ट मित्र, परिवार को भी प्रोत्साहित करें। कार्यक़म को सुधीर शर्मा, मुकेश अहिरवार ने भी संबोधित किया।

ग्रामीणों ने कहा टीका लगवाएंगे

आयोजन के दौरान वक्ताओं द्वारा ग्रामीणों से टीका न लगवाने के कारण पूछने पर अनेक ग्रामीणों ने बताया कि गांवों में ऐसी बातें होती हैं कि इससे बीमार हो जाते, हाथ पांव दर्द करते व मर भी जाते हैं। अंत में ग्रामीणजनों ने कहा कि वे अब टीका लगवाएंगे।

जनजागरूकता अभियान के इस कार्यक्रम में पत्रकार कमलेश तलेरा, नीलिमा डाबी, पिंकी पाठक, मानक लाल जैन, मनीष वाघेला, सहित समस्त कर्मचारी उपस्थित थे. बैंक परिसर में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र थांदला की मेडिकल टीम भी मौजूद थी जिनके द्वारा समस्त खातेदारों की जांच की. इस अभियान के तहत शासन के निर्देश पर वृहद स्तर पर कोरोना जांच अभियान भी चलाए जा रहा है. कार्यक्रम का संचालन महेंद्र उपाध्याय व आभार प्रदर्शन वरिष्ठ पत्रकार सुधीर शर्मा ने किया तथा प्रशासन के इस तरह के आयोजन के लिये मीडिया सदैव सहयोग हेतु तत्पर रहेगी। आज के इस कार्यक़म के लिये सभी का विशेष रूप से जिला सहकारी केंद्रीय बैंक का आभार व्यक्त करते हैं।

Leave a Reply