लेक्चरर को नौकरी से निकालने से नाराज़ बहुजन समाज और भीम सेना ने धरना-प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन | New India Times

साबिर खान, गुरुग्राम/नई दिल्ली, NIT:

लेक्चरर को नौकरी से निकालने से नाराज़ बहुजन समाज और भीम सेना ने धरना-प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन | New India Times

द्रोणाचार्य राजकीय महाविद्यालय में वर्ष 2014 से कार्यरत एक्सटेंशन लेक्चरर डॉ० कल्याण सिंह ‘भारत’ को नौकरी से निकाले जाने के खिलाफ बहुजन समाज रोड पर अा गया। कॉलेज की प्रिंसिपल पूजा खुल्लर पर कानूनी कार्रवाई करने और असिस्टेंट प्रोफेसर कल्याण सिंह ‘भारत’ को नौकरी पर बहाल करने की मांग को लेकर लघु सचिवालय के सामने एक दिवसीय धरना दिया गया जिसमें प्रिंसिपल पूजा खुल्लर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई। अपनी मांगों को लेकर बहुजन समाज और अखिल भारतीय भीम सेना ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। कॉलेज प्रिंसिपल पूजा खुल्लर पर आरोप है कि उन्होंने एक्सटेंशन लेक्चरर कल्याण सिंह ‘भारत’ को बिना कोई नोटिस दिए और बिना किसी अपराध के नौकरी से निकाल दिया और उन्हें जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया गया जिसकी शिकायत सिटी थाना, पुलिस कमिश्नर, अनुसूचित जाति/ जनजाति आयोग, मुख्यमंत्री हरियाणा सरकार और शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारियों से की गई लेकिन प्रिंसिपल पूजा खुल्लर पर कोई कानूनी कार्रवाई नहीं की गई।

कॉलेज प्रिंसिपल के इस तानाशाही रवैए के खिलाफ एक्सटेंशन लेक्चरर सहित बहुजन समाज का गुस्सा फुट पड़ा और कल्याण सिंह ‘भारत’ के समर्थन में बहुजन समाज रोड पर उतर आया। आरोप है कि कॉलेज प्रिंसिपल बिना शिक्षा विभाग की अनुमति और बिना पीडब्लयूडी विभाग की अनुमति के कॉलेज की इमारतों के नाम अपनी मर्जी से बदल रही थी। जिसपर कल्याण सिंह ने कॉलेज प्रिंसिपल को एक पत्र देकर मांग की कि कॉलेज की लाइब्रेरी एंड इंफॉर्मेशन सेंटर का नाम संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ० भीमराव अम्बेडकर जी के नाम पर रखा जाए और आर्ट्स ब्लॉक का नाम शिक्षा की देवी माता सावित्री बाई फूले जी के नाम पर रखा जाए। आरोप है कि इस मांग पर तिलमिलाई कॉलेज प्रिंसिपल पूजा खुल्लर ने असिस्टेंट प्रोफेसर कल्याण सिंह को जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया और नौकरी से निकाल दिया। हालांकि इन आरोपों से कॉलेज की प्रिंसिपल पूजा खुल्लर ने इनकार किया है। उनका कहना है कि उन्होंने आपातकालीन बैठक बुलाने के बाद लेक्चरर कल्याण सिंह को नौकरी से निकाला है क्योंकि उन्होंने अभद्र व्यवहार किया था। कॉलेज की प्रिंसिपल की यह सफाई अधिकारियों के गले नहीं उतर रही है क्योंकि इस बात की जानकारी कॉलेज प्रिंसिपल ने किसी भी उच्च अधिकारी को नहीं दी है। वहीं लेक्चरर असिस्टेंट प्रोफेसर कल्याण सिंह ने इसकी शिकायत तमाम अधिकारियों से की है। बहुजन समाज के लोगों ने कॉलेज की प्रिंसिपल पूजा खुल्लर पर अनुसूचित जाति/ जनजाति अधिनियम में मुकदमा दर्ज करके कार्यवाही करने की मांग की है। बताया जा रहा है कि एक्सटेंशन लेक्चरर डॉ० कल्याण सिंह ‘भारत’ समय-समय पर कॉलेज के गरीब तबके के छात्र-छात्राओं की समस्याओं को प्रशासन के समक्ष रखते थे व उनका समाधान कराते थे जो प्रिंसिपल पूजा खुल्लर को बिल्कुल पसंद नहीं था।

भीम सेना आई समर्थन में, दी चक्का जाम की चेतावनी, छात्रों और वकीलों ने भी दिया कल्याण सिंह को समर्थन

लेक्चरर को नौकरी से निकालने से नाराज़ बहुजन समाज और भीम सेना ने धरना-प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन | New India Times

असिस्टेंट प्रोफेसर एक्सटेंशन लेक्चरर कल्याण सिंह ‘भारत’ के समर्थन में अखिल भारतीय भीम सेना भी मैदान में उतर आई है। भीम सेना चीफ़ नवाब सतपाल तंवर भीम सैनिकों के साथ धरना स्थल पर पहुंचे और हरियाणा की खट्टर सरकार सहित कॉलेज की प्रिंसिपल पूजा खुल्लर को खूब खरी खोटी सुनाई। ज्ञापन दिए जाने को लेकर प्रशासन ने धरना दे रहे लोगों से अपील की कि 5 लोग जाकर एसडीएम को ज्ञापन दे आएं लेकिन भीम सेना अधिकारियों को बाहर बुलाने की जिद्द पर अड़ गई। भीम सेना चीफ़ नवाब सतपाल तंवर ने कहा कि किसी भी अधिकारी के पास हम नहीं जाएंगे। अधिकारी स्वयं यहां आकर उनके ज्ञापन लें और कार्यवाही कराएं अन्यथा हम यहीं भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे। अधिकारियों को उनके दफ्तर से बाहर बुलाने की मांग करते हुए भीम सेना ने लघु सचिवालय के मुख्य गेट को घेर लिया जिस पर ऐतिहातन भारी संख्या में पुलिस बल लगाकर स्थिति को संभाला गया लेकिन फिर भी भीम सेना नहीं मानी। मामला बिगड़ता देख आनन फानन में एसडीएम जितेंद्र ढांडी मौके पर पहुंचे तब जाकर ज्ञापन सौंपा जा सका। अखिल भारतीय भीम सेना चीफ़ नवाब सतपाल तंवर ने चेतावनी दी है कि एक्सटेंशन लेक्चरर कल्याण सिंह को नौकरी पर बहाल नहीं किया गया तो वे 2 अप्रैल 2018 को दोहरा देंगे। तंवर ने शहर में चक्का जाम की चेतावनी दी है। कल्याण सिंह का समर्थन करने जिला अदालत के वकील और गुरुग्राम के कॉलेजों के छात्र भी पहुंचें। अखिल भारतीय भीम सेना ने भी कल्याण सिंह की नौकरी बहाल करने की मांग और कॉलेज प्रिंसिपल पूजा खुल्लर पर मुकदमा दर्ज करके उन्हें सस्पेंड करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के नाम 3 सूत्रीय मांग का ज्ञापन एसडीएम को सौंपा है।

इस धरने में मुख्य रूप से अखिल भारतीय भीम सेना चीफ़ नवाब सतपाल तंवर, राष्ट्रीय प्रभारी अनिल तंवर, बहुजन संघर्ष समिती खांडसा व भीम सेना खांडसा से ईश्वर सिंह, लॉ कॉलेज के छात्र जलजीत, भारतीय समन्वय संगठन लक्ष्य के जिला प्रभारी नेत्रपाल, राष्ट्रीय सेवा योजना निदेशालय दिल्ली से मनोज कुमार, राजकीय महाविद्यालय कनीना से एक्सटेंशन लेक्चरर धर्मवीर भारती, पं. जवाहरलाल नेहरू कॉलेज फरीदाबाद के एक्सटेंशन लेक्चरर रजनीश कुमार, प्रोफेसर संजीव कुमार, राजकीय कन्या महाविद्यालय सेक्टर 14 गुरुग्राम के प्रोफेसर वजीर, बसपा के गुरुग्राम लोकसभा प्रभारी प्रताप सिंह कदम, धूप सिंह, बलदेव मेहरा एडवोकेट, बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष रविन्द्र तंवर, द पॉवर ऑफ ह्यूमन राइट्स फाउंडेशन के रोहित मदान, हरिचंद, अमिलाल, स्वर्ण सिंह, एडवोकेट कमल सिंह, एडवोकेट मुकेश तंवर, एडवोकेट उमेश मेहरा, एडवोकेट मैडम बलजीत कौर, एडवोकेट मंदीप मेहरा आदि गणमान्य लोग मौजूद थे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading