डीजीपी ने पुलिस मुख्यालय में जोनल पुलिस महानिरीक्षकों, रेंज उप महानिरीक्षकों और पुलिस अधीक्षकों के साथ की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग | New India Times

जमशेद आलम, ब्यूरो चीफ, भोपाल (मप्र), NIT:

डीजीपी ने पुलिस मुख्यालय में जोनल पुलिस महानिरीक्षकों, रेंज उप महानिरीक्षकों और पुलिस अधीक्षकों के साथ की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग | New India Times

देश में 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के दृष्टिगत मध्य प्रदेश पुलिस अलर्ट मोड पर है। भोपाल स्थित पुलिस मुख्यालय में 20 मार्च को डीजीपी श्री सुधीर सक्सेना ने जोनल पुलिस महानिरीक्षक, रेंज उप महानिरीक्षक और पुलिस अधीक्षकों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस ली और रणनीति तैयार की। उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों को लोकसभा चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण और पारदर्शी तरीके से संपन्न करवाने के दिशा-निर्देश दिए।

धर्मगुरुओं से संवाद और समन्वय बनाए रखें

लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र प्रदेश की कानून-व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त रखने लिए पुलिस ने कवायद तेज कर दी है। इस बार चुनाव के दौरान ईद और होली का त्योहार पुलिस के सामने बड़ी चुनौती है। इस संबंध में डीजीपी ने रमजान, होली और ईद के अवसर पर कड़े सुरक्षा प्रबंध सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिलों में शांति समितियों की बैठकें करने के साथ ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी धर्मगुरुओं से समय-समय पर संवाद और समन्वय बनाए रखें। कहीं किसी प्रकार की समस्या या परेशानी होने की स्थिति में उसका समाधान समय से सुनिश्चित कराया जाए। त्योहारों के मद्देनजर सभी ध्यान रखें कि सांप्रदायिक सद्भाव बना रहे।

अवांछित तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करें

डीजीपी श्री सक्सेना ने कहा कि प्रजातांत्रिक प्रणाली में निष्पक्ष चुनाव करवाना हर पुलिसकर्मी का दायित्व है। उन्होंने कहा कि अवांछित तत्वों के विरुद्ध कड़ी निरोधात्मक कार्यवाही की जाए। सभी संवेदनशील क्षेत्रों व हॉट स्पॉट की लिस्ट बनाकर वरिष्ठ अधिकारी खुद उनका भ्रमण करें व सुरक्षा प्रबंधों की भी समीक्षा करें। उन्होंने मतदान केंद्रों, स्ट्रांग रूम तथा मतगणना केंद्रों की सुरक्षा के प्रभावी प्रबंधन, माफिया के विरुद्ध कार्रवाई, शराब व मादक पदार्थ तस्करों की धरपकड़ और अवैध शस्त्रों की बरामदगी को लेकर विस्तार से निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आयोजन स्थलों और मिली-जुली आबादी वाले क्षेत्रों और जुलूस मार्गों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था करें। उन्होंने सीसीटीवी और ड्रोन कैमरों के जरिये निगरानी और प्रमुख स्थानों पर डायल 100 की पीआरवी को मुस्तैद किए जाने के निर्देश दिए। साथ ही माइनर एक्ट, अवैध शराब, अवैध शस्त्र, मादक पदार्थों से संबंधित अपराधों पर भी प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि महिलाओं के साथ कोई अभद्रता की घटना ना हो। महिलाओं के साथ छेड़खानी करने वालों के विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई की जाए।

अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट को सक्रिय किया जाए

डीजीपी ने निर्देश दिया कि अंतर्राज्यीय चेक पोस्ट को सक्रिय किया जाए। अवैध मादक पदार्थ, अवैध हथियार और अन्य प्रतिबंधित वस्तुओं के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जाए। बॉर्डर मीटिंग पर चुनाव आयोग का विशेष फोकस रहता है। इसके दृष्टिगत डीजीपी ने सीमावर्ती जिलों के एसपी और अन्य प्रदेशों के पुलिस अधिकारियों से समन्वय और बॉर्डर चेकपोस्ट पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। संवेदनशील क्षेत्रों को चिन्हित कर उनकी विशेष निगरानी की जाए। सभी संबंधित विभागों से भी परस्पर समन्वय स्थापित कर शांति एवं कानून व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

सोशल मीडिया पर सतर्क दृष्टि रखें

डीजीपी ने कहा कि प्रत्येक जिले में सोशल मीडिया सेल स्थापित की गई है। सभी से अनुरोध है कि सोशल मीडिया और इंटरनेट की सूक्ष्मता से मॉनिटरिंग करें और उचित कार्रवाई करें। उन्होंने सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म पर प्रसारित संदेशों व वीडियो पर सतर्क दृष्टि रखने के निर्देश दिए। यदि कोई भ्रामक जानकारी सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रही है तो अविलंब इसका खंडन करें और सही जानकारी से अवगत कराएं। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को वारंटों की तामीली पर भी विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए।

रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और एयरपोर्ट पर विशेष निगरानी रखें

डीजीपी श्री सक्सेना ने कहा कि सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और एयरपोर्ट पर विशेष निगरानी रखें व इन स्थानों से आने-जाने वाले संदिग्धों की जानकारी जुटाएं। उन्होंने आचार संहिता के दौरान पुलिस द्वारा जब्त अवैध धनराशि, मादक पदार्थ  की जानकारी चुनाव आयोग को प्रतिदिन समय सीमा में प्रेषित करने, सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को यथाशीघ्र कम्युनिकेशन प्लान तैयार करवाकर उसका अध्ययन करने तथा ऐसे संवेदनशील क्षेत्र, जहां नेटवर्क की समस्या हो, उन्हें चिन्हित करने के निर्देश दिए।

त्योहारों व चुनाव के दौरान निगरानी बनाएं रखें: एडीजी इंटेलिजेंस

एडीजी इंटेलिजेंस श्री जयदीप प्रसाद ने कहा कि त्योहारों और चुनाव के दौरान सभी अधिकारी अपने जिलों में यात्री वाहनों में ओवरलोडिंग न हो, इस पर निगरानी रखें। उन्होंने कहा कि जहां पर सांप्रदायिक विवाद की स्थिति हो, ऐसे संवेदनशील क्षेत्र में सीसीटीवी के माध्यम से निगरानी रखें। साथ ही चुनाव के दौरान स्थिति न बिगड़े, इसके मद्देनजर क्षेत्र में रंगदारी करने वालों की जमानत रद्द करें।

त्योहारों व चुनाव को लेकर सभी जिलों के अधिकारियों ने दी व्यवस्थाओं की जानकारी

बैठक के दौरान डीजीपी श्री सक्सेना ने सभी जिलों के अधिकारियों से उनके जिलों में त्योहारों और चुनाव को लेकर क्या व्यवस्थाएं की गई हैं, इसके बारे में जानकारी ली। सभी जिलों के अधिकारियों ने त्योहारों में भीड़, शांति समिति की बैठकों, शराब, मादक पदार्थों की जब्ती और चुनाव के दौरान आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए क्या इंतजाम किए है, इस बारे में बताया। डीजीपी श्री सक्सेना ने सभी जिलों में की जा रही व्यवस्थाओं और तैयारियों पर संतुष्टि जताई और चुनाव बेहतर तरीके से संपन्न हो, इसके लिए सभी को शुभकामनाएं भी दीं।

By nit

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading