मेरे पूरे कार्यकाल में कोई न कोई चुनाव होते रहे, सभी जीते भी: मनोज भीमसेन लधवे | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

मेरे पूरे कार्यकाल में कोई न कोई चुनाव होते रहे, सभी जीते भी: मनोज भीमसेन लधवे | New India Times

एक दिन पहले भारतीय जनता पार्टी ने संगठन में बड़ा बदलाव करते हुए भाजपा जिलाध्यक्ष बदल दिया। मनोज भीमसेन लधवे की जगह डॉ. मनोज माने को भाजपा जिलाध्यक्ष बनाया गया है। इसे लेकर शनिवार शाम निवृत्तमान भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने मीडिया के सामने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां बताई। उन्होंने कहा कि वरिष्ठों के मार्गदर्शन और कार्यकर्ताओं के सहयोग से मेरे कार्यकाल में संगठन की संरचना मज़बूत हुई है। प्रदेश और स्थानीय नेतृत्व का आभार व्यक्त करता हुं। साथ ही नवनियुक्त जिलाध्यक्ष डॉ. मनोज माने का कार्यकाल मेरे कार्यकाल से बेहतर हो, इसी शुभकामना के साथ बधाई देता हूं।

निवृत्तमान जिलाध्यक्ष मनोज भीमसेन लधवे ने कहा- मेरे कार्यकाल में नेपानगर की विधायक रही सुमित्रा कास्डेकर कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आई थीं। तब उप चुनाव हुए और पहले जहां हम 1200 वोटों से हारे थे तो वहीं उपचुनाव में 26 हजार वोटों से चुनाव जीते। इसके बाद सांसद नंदु भैया का निधन होने पर लोकसभा उपचुनाव हुए। तब उपचुनाव में ज्ञानेश्वर पाटिल रिकार्ड 82 हजार वोटों से जीते। अकेले बुरहानुपुर जिले ने 52 हजार वोट दिए थे। जनपद पंचायतों के दोनों अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, जिला पंचयत में हमारा अध्यक्ष उपाध्यक्ष चुना गया। महापौर चुनाव में पूर्व महापौर अतुल पटेल की पत्नी माधुरी अतुल पटेल विपरीत परिस्थितियों में भी चुनाव जीतीं। इसी तरह शाहपुर नगर परिषद का भी चुनाव मेरे कार्यकाल में हुआ और हम वह भी जीते। मेरे कार्यकाल में लगातार चुनाव का दौर चलता रहा। इस बार भी हम दोनों विधानसभा सीटें जीते हैं। नेपानगर में 42 हजार तो बुरहानपुर में 30 हजार से ज्यादा वोटों की लीड मिली। इसका श्रेय पार्टी के कार्यकर्ताओं को देता हूं। मेरी नज़र में बहुत अच्छा कार्यकाल रहा। कोरोना काल के समय भी सेवा करने का मौक़ा मिला। डॉक्टरों की टीम बनाकर कैसे मदद की जा सकती है, वह किया। इंजेक्शन से लेकर भोजन, दवाईयां बंटवाई। इसमें पार्टी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

प्रदेश का पहला ज़िला जहां अटल जी की समाधि
मनोज भीमसेन लधवे ने कहा बुरहानपुर प्रदेश का ऐसा पहला ज़िला है जहां अटल जी की समाधि है। उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां बुरहानपुर में थी। हमने संजय नगर में अटलजी की समाधि बनाई। यह देशभर में दूसरी समाधि है जो दिल्ली के बाद बुरहानपुर में है। मप्र की एकमात्र समाधिक बनाई है।

ज़िला कार्यालय के लिए प्रदेश सरकार से खरीदी ज़मीन
निवृत्तमान जिलाध्यक्ष मनोज भीमसेन लधवे ने कहा-बुरहानपुर प्रदेश का एकमात्र ऐसा ज़िला है जहां भाजपा कार्यालय के लिए सरकार से ज़मीन खरीदी गई है। पहले हमारे पास जिला कार्यालय नहीं था। हमने सरकार से ज़मीन खरीदी। सरकार ने कैबिनेट में प्रस्ताव लेकर एकमात्र बुरहानपुर जिले को ज़मीन दी है। ज़िले का कार्यालय बनना भी शुरू हो गया है। कॉलम खड़े हो गए। हमने सामाजिक काम भी किए। भोलाना गांव गोद लिया गया। 2011 से रक्तदान करा रहे हैं। 25 हजार से ब्लड डोनेशन कराया गया। आज भी वह काम कर रहे हैं। ज़िले के नेतृत्व का सहयोग मिलता रहा। कल परिवर्तन हुआ। इसके संकेत पहले से थे। मेरा कार्यकाल भी पूरा हो गया था। बूथ से पन्ना समिति बनाई है। हमें उम्मीद है कि नए जिलाध्यक्ष डॉ. मनोज माने के नेतृत्व में पार्टी लोकसभा का चुनाव रिकार्ड वोटों से जीतेगी। जैसे बाकी चुनाव जीतते आए हैं वैसे यह चुनाव भी जीतेंगे।

मेरा कार्यकाल पूरा हो गया
यह आरोप गलत है कि बागियों को सपोर्ट करने के कारण मुझे हटाया गया, बल्कि मेरा कार्यकाल पूरा हो गया था। हम पूरे समय पार्टी के लिए काम करते रहे। जिनकी शिकायत मिलती रही, उन्हें पार्टी से बाहर करते रहे। मैंने 32 लोगों को निलंबित किया। था। चुनाव के बाद पहली बैठक थी जिसमें जिला महामंत्री ने तब नाराजी जताई थी, लेकिन वह आपस की बात थी और उस समय जो परिस्थिति बनी थी तो उन्होंने अपना विरोध दर्ज कराया था।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading