जिलाधिकारी ने "जल ज्ञान यात्रा" को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना | New India Times

अरशद आब्दी, ब्यूरो चीफ, झांसी (यूपी), NIT:

जिलाधिकारी ने "जल ज्ञान यात्रा" को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना | New India Times

आज कलेक्ट्रेट प्रांगण से जिलाधिकारी श्री अविनाश कुमार ने हरी झंडी दिखाकर “जल ज्ञान यात्रा” का शुभारंभ किया। हाथों में जल संरक्षण से जुड़े स्लोगन लिए प्राथमिक विद्यालय के बच्चों ने रैली में प्रतिभाग किया।
“जल ज्ञान यात्रा” को रवाना करने से पूर्व जिलाधिकारी श्री अविनाश कुमार ने कहा कि भावी पीढ़ी को जल जीवन मिशन की परियोजनाओं का सहभागी बनाने के लिए उत्तर प्रदेश में ””जल ज्ञान यात्रा”” का शुभारंभ किया गया है। इस यात्रा का असल मकसद यह है कि स्कूली बच्चों को अभी से पानी के महत्व के बारे में बताया जाए ताकि जल संरक्षण की भावना बालपन से ही पनप जाए। उन्होंने कहा कि भूगर्भ जल जागरुकता के माध्यम से भी बच्चों को पानी के महत्व के बारे में बताया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि “जल ज्ञान यात्रा”में शामिल बच्चों को गुलारा पेयजल योजना में एसटीपी का भ्रमण करते हुए वॉटर टेस्टिंग लैब जहां पानी टेस्टिंग की भी जानकारी बच्चों को मौके दी जाएगी ताकि शुद्ध पानी के बारे में उन्हें जानकारी मिल सके। इस दौरान बच्चों को पाइप वाटर सप्लाई स्कीम की जानकारी दी गई। इसके अतिरिक्त जल संरक्षण, जल प्रबंधन, जल संचयन के बारे में भी बिंदुवार जानकारी दी गई।

जिले में पहली बार नमामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग की ”जल ज्ञान यात्रा’ आयोजित की गई। जल ज्ञान यात्रा की शुरूआत ग्राम गुलारा से हुई। यहां पीने के स्वच्छ पानी पहुंचाने की प्रक्रिया को स्कूली बच्चों ने समझा। जल जांच प्रयोगशाला पहुंचकर पानी जांच के इंस्ट्रूमेंट्स के बारे में बच्चों ने स्कीम के प्रोजेक्ट मैनेजर से सवाल भी किये. प्रयोगशाला में पानी में कठोरता कैसे जांचते हैं, बैक्टीरिया का कैसे पता लगाते हैं आदि के बारे में भी बच्चों को बताया गया. ग्रामीणों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने के लिए बनाई गई जल जांच प्रयोगशाला में फील्ड टेस्ट किट से पानी श्रोतों की जांच देखकर स्कूली बच्चे अचंभित रह गये।

“जल ज्ञान यात्रा” में मौजूद अधिकारी ने बच्चों को ओवर हेड टैंक (पानी टंकी) का भ्रमण कराया और पीने योग्य पानी की सप्लाई कैसे की जाती है, इसकी जानकारी दी।”जल ज्ञान यात्रा”में शामिल छात्र-छात्राओं ने इस दौरान बच्चों ने घर-घर तक पहुंचे नल कनेक्शन देखे और शुद्ध जल प्राप्त कर रहे ग्रामीणों से बातचीत भी की।”जल ज्ञान यात्रा” के दौरान स्कूली बच्चों ने महत्वाकांक्षी जल जीवन मिशन की हर घर जल योजना को करीब से जाना. पहली बार जनपू में आयोजित “जल ज्ञान यात्रा” में गांव-गांव, घर -घर तक पहुंच रहे स्वच्छ पेयजल की प्रक्रिया को स्कूली बच्चों ने समझा. पानी पहुंचाने के लिये तैयार किये गए संसाधनों को देखा. पीने के स्वच्छ पानी से लाभार्थियों को मिल रहे लाभ की जानकारी मिलने पर वो आश्चर्यचकित रह गये।

“जल ज्ञान यात्रा” के दौरान बच्‍चों ने नल कनेक्‍शन प्राप्‍त करने वाले ग्रामीण परिवारों से बातचीत कर उनके सुखद अनुभवों को जाना,यहां उन्‍होंने नल की टोंटी खोल स्‍वच्‍छ पेयजल पीकर साफ पानी के महत्व को समझा।
इस मौके पर अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे श्री अशोक कुमार सिंह, अधिशासी अभियंता जल निगम श्री रणविजय सिंह, श्री फैजल पीएमसी सहित सभी ब्लॉकों से आए पूर्व माध्यमिक विद्यालय अमरोख, कंपोजिट विद्यालय सुल्तानपुर, पूर्व माध्यमिक विद्यालय इमिलिया, उच्चतर प्राथमिक विद्यालय अड़जार, उच्चतर प्राथमिक विद्यालय बामेर, उच्चतर प्राथमिक विद्यालय गुरसराय, उच्चतर प्राथमिक विद्यालय खरकासानी, उच्चतर प्राथमिक विद्यालय लुहारी एवं उच्चतर प्राथमिक विद्यालय भूपनगर के छात्र-छात्राओं सहित जल निगम के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading