मदरसा सआदतल उलूम, मेघनगर में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया स्वतन्त्रता दिवस, शासकीय व निजी संस्थाओं व अन्य जगहों पर भी पूरे जोश व खरोश के साथ किया गया ध्वजारोहण<br> | New India Times

रहीम शेरानी हिन्दुस्तानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

मदरसा सआदतल उलूम, मेघनगर में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया स्वतन्त्रता दिवस, शासकीय व निजी संस्थाओं व अन्य जगहों पर भी पूरे जोश व खरोश के साथ किया गया ध्वजारोहण<br> | New India Times

झाबुआ ज़िले के मेघनगर रम्भापुर रोड़ पर मदरसा सआदत अल, उल्लुम और साथ में संचालित सआदत स्कूल ऑफ एक्सीलेंसी में 15 अगस्त आज़ादी का दिन धूमधाम से मनाया गया।
प्रातः 8:30 पर ध्वजारोपण मौलाना नसीर एहमद साहब ने किया तिरंगे को सलामी देकर राष्ट्रगान गाकर देश की उन्नति के लिए दुआएं एवं प्रार्थना की गई।

मदरसा सआदतल उलूम, मेघनगर में पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया स्वतन्त्रता दिवस, शासकीय व निजी संस्थाओं व अन्य जगहों पर भी पूरे जोश व खरोश के साथ किया गया ध्वजारोहण<br> | New India Times

इस पावन मोके पर मदरसे के नाज़िम मोलाना नाशिर एहमद ने बच्चों को आज़ादी की अहमियत और मुल्क को आज़ाद करवाने में इस मुल्क के मुजाहिद्दीन ओर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की कुर्बानियों के बारे में बताया।
और इसके साथ ही बताया कि लम्बी जद्दोजहद करके इस आज़ादी को हासिल किया है अंग्रेजों का तसल्लुत इतना जालिमाना था कि ज़ुल्म की इन्तिहा पार कर दी थी और यहाँ पर बसने वालो को एक दूसरे का दुश्मन बना दिया था।

इस मुल्क को हमने अपने खून से सींचा है। हमारे असलाफ़ ने अपनी जानों को देकर भारत को आज़ाद करवाया है
हमने बलिदान दिया है क़ुरबानी दी है ओर इसी तरीके से सब धर्मों के लोगों ने आज़ादी में हिस्सा लिया और सबने कंधे से कंधा मिलाकर इस मुल्क को अंग्रेजों से आज़ाद करवाया है।

जुट होकर हमे इस मुल्क के माहौल को दोबारा खुशनुमा करना है इसके लिए सबको एक होना पड़ेगा हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध, आदि इस मुल्क में रहने वाले जितने बाशिन्दे है सब को मिलकर लड़ना होगा और भाईचारा ओर अमन फैलाना होगा ।
इसके बाद बच्चों ने कुराने पाक नाते शरीफ के साथ देशभक्ति के तराने गाए गए।
बच्चों को परेड भी कराई और सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्ता हमारा गीत को बच्चों ने गाया पश्चात देश में अमन शांति – आपसी भाई चारा कायम रहे इसकी दुआ के बाद आपसी भाई चारा कायम रहे ऐसी दुआ की गई।

मदरसे एवं स्कूल के ये मुख्य अतिथि उपस्थित रहे

कार्यक्रम है मदरसा स्टॉफ मौलाना नासिर सा. ,मौलाना एहमद सा., मौलाना उस्मान साहब, मौलाना इलियास सा.
सादतल स्कूल स्टाफ में मौजूद रहे शेरखान पठान, आमीर खान, अशहद खान, जितेन्द्र बारिया, सेजम मकवाना आदि ।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading