फांसी के फंदे पर लटकता हुआ मिला सामूहिक दुष्कर्म की शिकार नाबालिग लड़की का शव, केस उठाने के लिए लड़की व परिजनों को धमकाए जाने से डिप्रेशन में थी लड़की

अपराध, देश, राज्य

अतीश दीपंकर/श्यामानंद सिंह, भागलपुर (बिहार), NIT:

बिहार के भागलपुर जिला के कहलगांव अनुमंडल के पीरपैंती प्रखंड के रानी दियारा के चटैया गांव में समाज को शर्सार करने वाली घटना सामने आई है, वहां सामूहिक दुष्कर्म के बाद एक किशोरी का शव घर के शौचालय में फांसी लटका हुआ पाया गया है। मृतका की छोटी बहन शौचालय गई तो देखा कि बड़ी बहन का शव फंदे से झूल रहा था। छोटी बहन के शोर करने पर उसकी मां और परिजन मौके पर पहुंचे और नाबालिग लड़की के शव को फंदे से उतारा लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद परिजनों ने पुलिस को घटना की जानकारी दी। सूचना पर एकचारी दियारा थाना पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची और परिजनों से पूछ-ताछ की।

थानाध्यक्ष ने बताया कि, परिजन किशोरी के डिप्रेशन में होने के कारण आत्महत्या की बात कह रहे हैं।

दरअसल तीन युवकों ने 29 जुलाई 2020 को मृतका के साथ बहियार में घास काटने के दौरान गैंगरेप किया था। गांव के ही अमन यादव, रवि यादव, अंकुश यादव ने गैंगरेप किया था जो फिलहाल जेल में हैं।

किशोरी के दादा ने बताया कि, घटना के बाद से ही पोती काफी तनाव में रहती थी। वह अपनी मां से कहती थी कि घर से बाहर निकलने पर लोग तरह-तरह का कमेंट करते हैं। मृतका के परिजनों का कहना है कि आरोपी एवं उसके परिजन केस उठाने की धमकी देते थे। मृतका के चाचा ने बताया कि पीड़िता को केस उठाने की धमकी दी जाती थी नहीं उठाने पर पीड़िता के परिजनों को मारने की बात आरोपी कहते थे और आरोपियों ने पैसे की लालच भी दी थी। परिजनों को शक है कि पीड़िता को मार कर के शव को टांग दिया गया होगा।

सूत्रों की अगर मानें तो आरोपी के जेल जाने के बाद भी आरोपी के परिजन पीड़िता के परिजनों को केस उठाने की धमकी देते थे लेकिन पीड़िता के परिजनों का कहना था कि हम लोग केस लड़ेंगे और उसके अंजाम तक पहुंचाएंगे। इसके बाद इस तरह की घटना घट गई,

Leave a Reply