पूर्व कैबिनेट मंत्री द्वारा प्रस्तुत 113 करोड़ रुपए की विकास योजना पर जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष ने उठाए सवाल, पूर्व मंत्री पर जनता से अपनी हार का बदला लेने का आरोप लगाते हुए निवर्तमान महापौर को भी लपेटा

देश, राजनीति, राज्य

मेहलका इकबाल अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

मध्य प्रदेश की पूर्व कैबिनेट मंत्री और बुरहानपुर की पूर्व विधायिका श्रीमती अर्चना चिटनीस दीदी द्वारा तहसील, जनपद पंचायत कार्यालय और पुराना सरकारी नेहरू अस्पताल को लेकर दो दिन पूर्व आयोजित की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष किशोर महाजन, कांग्रेस प्रवक्ता अजय उदासीन, पूर्व वरिष्ठ पार्षदगण सर्वश्री इस्माइल अंसारी, अमर यादव मुन्ना भैया, दिनेश शर्मा, राजेश भगत, सिद्दिक पहलवान आदि की मौजूदगी में पूर्व मंत्री पर इतिहास बनाया है इतिहास बनाएंगे के उनके पुराने स्लोगन को लेकर उन पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जनता ने इन्हें घर बैठा दिया। क्या पूर्व मंत्री अपनी हार का बदला जनता से ले रही हैं? उन्होंने कहा कि पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस दीदी ने पुराना सरकारी अस्पताल, तहसील और जनपद पंचायत जनपद कार्यालय को लेकर प्रस्तुत की गई योजना को लेकर भी कई सवालात किए हैं और कहा है कि इससे जनता को कोई फायदा नहीं हो रहा है, प्रस्तावित योजनाएं जनहित के विरुद्ध है। 113 करोड रुपए के विकास कार्यों पर जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष ने कहा कि यह घर बेचकर तीरथ करने के समान है। इन राशि से शासकीय कर्मचारियों के रिहायशी मकान बनाना और कलेक्टर कार्यालय के ऊपर शासकीय विभागों के कार्यालय बनाना भी औचित्यपूर्ण नहीं है। इस राशि को उद्योग धंधों में लगाना, रोजगार के अवसर पैदा करना आदि पर खर्च करना चाहिए था, जो कि अनावश्यक मद में खर्च की जा रही है। ग्रामीण क्षेत्र का तहसील कार्यालय बुरहानपुर के कलेक्ट्रेट कार्यालय के आसपास बनाने का क्या औचित्य है? वही बुरहानपुर के तहसील कार्यालय को शहर से 5 किलोमीटर दूर ले जाने का भी कोई औचित्य नहीं है। इतनी दूर कार्यालय बनने से जनता को बहुत परेशानी होगी। इतनी दूर दफ्तर लेकर जाना और शहर से बाहर अस्पताल तहसील एसडीएम कार्यालय शहर से दूर बनाकर पूर्व मंत्री क्या साबित करना चाहती है जहां पहुंचने में जनता को ₹100 खर्च करना पड़ता है। कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष अजय रघुवंशी ने कहा कि 70 साल में देश के विकास की एक एक धरोहर को जिस प्रकार इन के नेता बेच कर खा रहे हैं और उसे विकास का नाम दे रहे हैं। ठीक उसी प्रकार यहां की पूर्व मंत्री और भाजपा नेत्री भी हमारी धरोहरों को बेचकर हमें विकास का आइना दिखा रही है। उन्होंने कहा कि पिछले 3 वर्षों में अमृत योजना जैसी योजनाओं के नाम पर शहर को नर्क के समान बना दिया है जिससे जनता परेशान है। इन्होंने 15 महीनों में पावर लूम हब बनाने का दावा करने वाले नेता एक चुनाव हारते ही घर में घुस गए भले ही प्रदेश में सरकार है जनता के कामों से सरोकार तभी होगा जब भी चुनाव जीतेंगे। जिला कांग्रेस कमेटी बुरहानपुर के अध्यक्ष ने इस मामले को लेकर कोर्ट में जाने और जन आंदोलन करने की बात भी पत्रकार वार्ता के माध्यम से कही है। जनता से भी जागरूक होकर इस आंदोलन में सहभागी होने की अपील की है। कुल मिलाकर यह कहा जा सकता है कि जहां अर्चना चिटनीस शहर के विकास की योजना के लिए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मिलकर इस योजनाओं को अमलीजामा पहनाने का प्रयास कर रही है। वही जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय सिंह रघुवंशी ने कहा कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के शिलान्यास कार्यक्रम में आने का कांग्रेस विरोध करेगी और मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाए गी। इस मामले को लेकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष अजय रघुवंशी ने आने वाले समय में व्यापक जनआंदोलन की बात भी कही है।

Leave a Reply