फ्री वैक्सिनेशन पर हल्ला बोल, डोटासरा बोले, प्रधानमंत्री मन की बात तो करते हैं काम की बात कब करेंगे

देश, राजनीति, राज्य

अशफाक कायमखानी, ब्यूरो चीफ, जयपुर (राजस्थान), NIT:

प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से प्रदेशभर में शुक्रवार को वैक्सीन के मामले में केन्द्र की मोदी सरकार को घेरा गया. प्रदेश के सभी जिला मुख्यालयों पर कांग्रेस पदाधिकारियों ने जिला कलक्टरों को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया. प्रदेश की राजधानी जयपुर में पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा ने देशभर में हर आयु वर्ग के लोगों को निःशुल्क वैक्सीन मुहैया कराने के मामले में राज्यपाल को ज्ञापन दिया. इसके बाद पीसीसी चीफ ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय में मीडिया से बातचीत की.

पीसीसी चीफ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मन की बात तो देश की जनता से करते हैं लेकिन काम की बात कब करेंगे पता नहीं. उन्होंने कहा कि जब देश में कोरोना की पहली लहर आई तो मोदी सरकार देश में चुनी हुई सरकारों को गिराने में लगी हुई थी. इसके बाद दूसरी लहर की तैयारी के लिए काफी समय मिला लेकिन कोविड प्रबंधन की तरफ ध्यान नहीं दिया गया. सरकार ने बजट में 3500 करोड़ का प्रावधान वैक्सीन के लिए किया लेकिन कोरोना की दूसरी लहर आते ही सरकार ने अपने बयान बदल दिए.

केन्द्र ने अचानक कह दिया कि वैक्सीन राज्य अपने स्तर पर खरीदें. उन्होंने कहा कि इससे ज्यादा शर्म की बात क्या हो सकती है. डोटासरा ने कहा कि जब राज्य सरकारें अपने पैसे देने को तैयार हैं तो फिर केन्द्र को वैक्सीन उपलब्ध करानी चाहिए. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने ग्लोबर टेंडर की भी प्रक्रिया अपनाई लेकिन तकनीकी कारणों से सफल नहीं हो सके. पीसीसी चीफ डोटासरा ने कहा कि राज्य सरकारों को केन्द्र सरकार बेवजह वैक्सीन वेस्टेज के मामले में बदनाम करने की साजिश रच रही है. डोटासरा ने मीडिया को केन्द्र की चिट्ठी दिखाते हुए कहा कि खुद केन्द्र ने अपनी गाइडलाइन में दस फीसदी तक का दावा किया था. लेकिन राजस्थान में यह आंकड़ा महज दो प्रतिशत है.

डोटासरा ने कहा कि युवाओं के वोट के दम पर मोदी दूसरी बार सत्ता में आए लेकिन अब युवाओं को अपने हाल पर छोड़ दिया. इस तरह की सियासत अब नहीं चलने वाली है. डोटासरा ने कहा कि राजस्थान की जनता ने मोदी सरकार को 25 सांसद दिए इसके बाद भी सांसद चुप है. इसलिए अब राजस्थान के सांसदों को भी वैक्सीन मुहैया कराने के लिए केन्द्र सरकार को पत्र लिखना चाहिए. पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि कोरोना की पहली व दूसरी लहर के दौरान राज्य सरकार कोविड प्रबंधन के मामले में सबसे आगे रही है. इसी वजह से मृत्युदर अन्य राज्यों की तुलना में काफी कम है.

डोटासरा ने कहा कि खुद केन्द्र सरकार को राजस्थान के कोविड प्रबंधन की सरहाना करनी पड़ी.डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस का मोदी सरकार के खिलाफ संघर्ष जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार को सभी आयु वर्ग के लोगों को निशुल्क वैक्सीन लगानी होगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की अध्यक्षा सोनिया गांधी व राहुल गांधी की ओर से भी लगातार यह मांग उठाई जा रही है. उन्होंने कहा कि दो दिन पहले सरकार की ओर से सोशल मीडिया के जरिए केन्द्र सरकार को घेरा गया.

Leave a Reply