शासन द्वारा दिये जाने वाले फ्री राशन में विक्रेता कर रहे घोटाला, प्रशासन मौन

भ्रष्टाचार, राज्य

त्रिवेंद्र जाट, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

मध्यप्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान व केन्द्र सरकार के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कोरोना लाॅकडाउन को लेकर मजदूर गरीब मध्यम वर्ग की आर्थिक स्थिति को देखकर उनके परिवार के भरण पोषण के लिये 5 माह का फ्री राशन बाटने की घोषणा कर आदेश जारी कर चुके हैं जिस आदेश अनुसार तीन माह अपैल, मई, जून का फ्री राशन मुख्यमंत्री के आदेश पर राज्य सरकार द्वारा तथा दो माह का फ्री राशन केन्द्र सरकार के प्रधानमंत्री के आदेश पर बांटा जाना है जिसकी देख रेख व मानीटिरिंग करने के लिये मुख्यमंत्री द्वारा सभी कलेक्टर को निर्देश दिये गये हैं कि ग्राम स्तर पर पंचायत अधिकारी व राजस्व के साथ खाद्य अधिकारी की जिम्मेदारी होगी यदि कहीं भी कोई बिक्रेता फ्री राशन वितरण में यदि लापरवाही करता है तो उसपर सख्त कार्यवाही की जाये वहीं मध्यप्रदेश शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने भी एक कार्यक्रम दौरान स्पष्ट कडे शब्दों में कह दिया है कि गरीबों को दिये जाने वाले फ्री राशन में यदि कोई भी विक्रेता लापरवाही करता है तो उसके खिलाफ सीधे एफआईआर करें. गरीबों को दिये जाने वाले राशन में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नहीं की जायेगी मगर सागर जिले के देवरी क्षेत्र में कुछ और ही देखने को मिल रहा है जहां पर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के द्वारा दिये जाने वाले फ्री राशन में कुछ बिक्रेता खुले तौर पर भ्रष्टाचार करते नजर आ रहे हैं व प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री की योजना व आदेशों को पलीता लगाते नजर आ रहे हैं.

हम बात कर रहे हैं देवरी क्षेत्र के शासकीय उचित मूल्य दुकान बेलढाना की जहां के विक्रेता विनय दीक्षित हैं व सेल्समेन श्रीराम दीक्षित हैं जिनकी ग्रामीणों द्वारा बताया गया है कि राशन दुकान में मात्र दो माह फरवरी मार्च का राशन बांटा गया है जो कम तौल का बांटा गया है व राशन दुकान महीने में मात्र दो दिन खोली जाती है जिसको दो दिन में मिल जाता है तो ठीक है नहीं तो फिर बाद में किसी को नहीं बांटा जाता है. वहीं ग्रामीणों में संतोष राय, जमना अहिरवार, दयाली अहिरवार, ओमकार प्रजापति, छैकोडी प्रजापति, परसोत्तम पटेल, खुमान पटेल, तरवर पटेल, अर्जुन प्रजापति, क्रांति अहिरवार, कोमल अहिरवार, धन सींग कांछी, परमलाल अहिरवार, चेतराम अहिरवार आदि ने बताया कि हम लोगों को अभी फरवरी मार्च का राशन दिया गया है फ्री राशन अभी तक नहीं बांटा गया है जबकि जून माह आ गया है वहीं विक्रेता द्वारा हम लोगों के राशन पर्ची पर अपैल मई तक का फर्जी तरीके से राशन चढा दिया गया है कि हम लोगों को वितरण किया जा चुका है. हम लोगों को शासन द्वारा दिये जाने वाला राशन मिला ही नहीं है और राशन पर्जी में मिलना बताया जा रहा है सीधे दो माह के फ्री राशन में फर्जीवाड़ा किया जा रहा है और देवरी प्रशासन चुप्पी साध के बैठा हुआ है.

वहीं विक्रेता के सेल्समेन श्री राम दीक्षित का कहना है कि राशन बांटा जा रहा है ऐसा ही देवरी के शासकीय उचित मूल्य दुकान महाराजपुर का मामला है जहां पर विक्रेता श्याम मुरारी राजोरिया द्वारा मार्च के महीने का राशन बांटा ही नहीं गया और सभी राशन पर्चियों पर चढा दिया गया कि वितरण हो चुका है वहां के शांतिनगर एरिया के ग्रामीणों में दौलत अहिरवार सुख लाल गनेज जनकू सीता मिठठू सेवराज मुन्ना आदि ने बताया कि मार्च महीने का राशन दिया नहीं गया व फ्री राशन में भी अपैल माह के पैसे लिये गये हैं अब सवाल यह उठता है कि सरकार जब फ्री राशन देने की घोषणा व आदेश जारी कर चुकी है व एक मंत्री द्वारा ऐसे भ्रष्ट्राचार करने वाले विक्रेता ओ पर एफआईआर की बात कर रहे हैं तो इसके बाद भी देवरी मै ऐसे भ्रष्ट्राचारी बिक्रेता ओ को सरक्षण क्यो आखिर इन पर प्रशासन को कार्यकार्यवाही करने में क्या दिक्कत हो रही है जो गरीबो के राशन मै खुले आम भ्रष्ट्राचार कर रहे है और इसके बाद भी प्रशासन को सब जानकारी होने के बाद भी चुप्पी साध के बैठना ग्रामीणजन को बड़ा ही शंसय का विषय पैदा कर रहा है क्या ग्रामीणो का प्रशासन पर से भरोसा ही उठ जायेगा या प्रशासन के अधिकारी सोयी हुई नींद से जागकर ऐसे विक्रेता लोगों पर सख्त कारवाही करेंगे.

Leave a Reply