लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम में अवैध वसूली रोकने के लिए रखी जाएगी 25 कैमरों से नजर, लेते थे 5 हजार चिता सजाने के

देश, भ्रष्टाचार, राज्य, समाज

हिमांशु सक्सेना/ चेतन रजक, ग्वालियर(मप्र), NIT;

लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम में अंत्येष्टि के लिए हो रही अवैध वसूली को रोकने के लिए यहां 25 कैमरे लगाए गए हैं। कैमरों के माध्यम से मुक्तिधाम में हो रहे अंत्येष्टि एवं मौजूद लोगों पर निगमायुक्त शिवम वर्मा, उपायुक्त अतिबल सिंह चौहान एवं नोडल अधिकारी केशव चौहान अपने मोबाइल के माध्यम से निगरानी कर सकेंगे।

कोरोना के चलते शहर में एक हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। इन सभी की अंत्येष्टि लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम सहित अन्य मुक्तिधामों में विगत एक साल के अंदर की गई है। अप्रैल माह से सबसे अधिक मौतें हुई हैं। हालात यह थे कि लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम में लोगों के दाह संस्कार के लिए वेदी ही कम पड़ने लगी थी साथ ही यहां मृतकों के परिजनों से शव को एंबुलेंस से उठाकर अंत्येष्टि के लिए चिता पर रखने के लिए चोरी-छिपे एक हजार रुपये वसूले जा रहे थे। वहीं दाह संस्कार के लिए भी अनजान लोगों द्वारा ठेके लिए जा रहे थे। चिता तैयार करने के लिए पांच हजार स्र्पये तक वसूलने की शिकायतें सामने आईं थीं। इसे रोकने के लिए नगर निगम आयुक्त ने पहले वहां पर मौजूद एक कर्मचारी का स्थानातंरण भी किया था अब कैमरे भी लगवाए हैं। गाैरतलब है कि पिछले दिनाें लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम में अवैध वसूली काे लेकर कई शिकायतें मिली थी, इसके चलते यह निर्णय लिया गया है।

लक्ष्मीगंज में अवैध वसूली को रोकने के लिए वहां 25 कैमरे लगाए गए हैं। निगमायुक्त, उपायुक्त व अन्य अफसर मोबाइल के माध्यम से इन कैमरों को कनेक्ट कर मुक्तिधाम पर निगाह रख सकेंगे: केशव चौहान, नोडल अधिकारी मुक्तिधाम.

Leave a Reply