थाना शिकारपुरा अंतर्गत प्रतापपुरा क्षेत्र में गुम हुई 6 वर्ष की मासुम बालिका के सनसनीखेज़ हत्याकाण्ड में पुलिस ने 24 घण्टे के अंदर किया खुलासा | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

थाना शिकारपुरा अंतर्गत प्रतापपुरा क्षेत्र में गुम हुई 6 वर्ष की मासुम बालिका के सनसनीखेज़ हत्याकाण्ड में पुलिस ने 24 घण्टे के अंदर किया खुलासा | New India Times

दिनांक 18/05/2024 को प्रतापपुरा निवासी फरियादिया द्वारा रिपोर्ट किया कि उसकी नाबालिग बेटी को कोई अज्ञात व्यक्ति अपहरण कर ले गया है। जिस पर थाना शिकारपुरा पर अपराध क्र. 262/24 धारा 363 भादवि का क़ायम कर विवेचना में लिया गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए प्रकरण में एसपी देवेन्द्र कुमार पाटीदार के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंतरसिंह कनेश के मार्गदर्शन, सीएसपी बुरहानपुर गौरव पाटिल एंव डीएसपी प्रीतमसिंह ठाकुर के नेतृत्व में थाना शिकारपुरा इंचार्ज प्रभारी उनि हेमेन्द्र सिंह चौहान के साथ विशेष टीम द्वारा अपहृत बालिका व अज्ञात आरोपी की तलाश की गई।

अपहृत बालिका की तलाश करते घटना स्थल के आसपास के पूरे क्षेत्र में सभी संभावित रास्तों के सीसीटीवी कैमरे देखे गए। डॉग स्क्वाड, ड्रोन कैमरों के माध्यम से भी क्षेत्र की सर्चिंग की गई। अपहृत बालिका के परिजनों, रिश्तेदारों व क्षेत्र के लोगों से पुछताछ की गयी। दिनांक 20/05/2024 को सूचना मिलने पर मृतिका के घर के पास खंडहर मकान में हरे रंग की नेट से ढका हुआ अपहृत बालिका का शव मिला जिसकी पहचान उसके परिजनों से करायी गयी।

मृतिका का पोस्ट मार्टम डॉक्टरों की टीम द्वारा किया गया। शार्ट पीएम रिपोर्ट के आधार पर प्रकरण में धारा 302, 201, 376(A-B) भादवि का तथा 5M/6 पाक्सो एक्ट का इज़ाफ़ा किया गया। प्रकरण में मृतिका बालिका जिस स्थान पर मिली थी उस स्थान के आसपास के रहवासी लोगों से पुछताछ की गयी। घटना स्थल से सटे मकानों में रहने वाले संदेहियों पर शंका के आधार पर गौरव उर्फ खुशाल को हिरासत में लेकर विस्तृत पुछताछ की गयी। जिसके द्वारा बताया गया कि दिनांक 18/05/2024 को दोपहर वह घर में अकेला था।

उसी दौरान बालिका खेलते हुये उसके घर के पास से निकल रही थी। तभी उसने पैसे व चाकलेट देने के बहाने बालिका को बुलाया और उसके साथ गलत काम करने लगा उसी बीच बालिका द्वारा विरोध करने पर आरोपी द्वारा मौके पर पड़ी रस्सी से उसका गला घोट दिया। जिससे बालिका की मृत्यु हो जाने पर आरोपी घबरा गया और उसने बालिका को पास वाले मकान की छत पर जाकर खंडहर वाले मकान में फेंक दिया और शव को छिपाने की उद्देश्य से उसके ऊपर हरे रंग की नेट डाल दी। आरोपी ने दुष्कृत्य की घटना एवं साक्ष्य छुपाने के उददेश्य से बालिका की हत्या की थी। पुलिस द्वारा परिस्थति जन्य साक्ष्य, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आरोपी गौरव उर्फ खुशाल पिता रूपचंद कलनारायण उम्र 21 वर्ष निवासी प्रतापपुरा बुरहानपुर को गिरफ्तार किया गया।

आरोपी की गिरफ्तारी में वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में इंचार्ज थाना प्रभारी शिकारपुरा उपनिरीक्षक हेमेन्द्र सिंह चौहान व उनकी टीम उनि सोहनसिंह चौहान, उनि सखाराम पगारे, सउनि मेहफूज अली, प्रआर. विजय पाटीदार, प्रआर. सचिन मिश्रा, प्रआर. नीतेश, प्रआर. ज्ञानसिंह, प्रआर. तुकाराम, प्रआर. रफीक खान, आर. विजय बडकारे, आर. गणेश, आर. संजय कपोले, आर. नेलसन, महिला आर. भारती, थाना कोतवाली से सउनि ओंकार पटेल, महिला आर. लीला तोमर, थाना गणपतिनाका से सउनि शैलेष पाल, प्रआर. नईम खान, आर. विनोद परिहार थाना खकनार से आर शादाब अली व थाना लालबाग से प्रआर. प्रदीप व सायबर सेल टीम का महत्वपूर्ण भूमिका रही।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading