खकनार थाने में पदस्थ पुलिस कर्मी ने की पत्रकार की पिटाई, सशक्त पत्रकार समिति, राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा, यूनाइटेड प्रेस ऑर्गेनाइजेशन ने मुख्यमंत्री एवं पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर की दोषी पुलिसकर्मी को निलंबित करने की मांग, कार्रवाई नहीं होने पर पत्रकारों ने दी आंदोलन की चेतावनी | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

खकनार थाने में पदस्थ पुलिस कर्मी ने की पत्रकार की पिटाई, सशक्त पत्रकार समिति, राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा, यूनाइटेड प्रेस ऑर्गेनाइजेशन ने मुख्यमंत्री एवं पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर की दोषी पुलिसकर्मी को निलंबित करने की मांग, कार्रवाई नहीं होने पर पत्रकारों ने दी आंदोलन की चेतावनी | New India Times

देश में आए दिन निष्पक्ष व निर्भीक पत्रकारिता करने वाले पत्रकारों पर झूठे मुकदमे, हमले व मारपीट से संबंधित मामले रोज प्रकाश में आ रहे हैं। बीते रविवार को भी बुरहानपुर में इसी तरह का मामला सामने आया। जिसमें खकनार थाने में पदस्थ एलएम मौर्य (सहायक उपनिरीक्षक) द्वारा खकनार निवासी पत्रकार प्रकाश जाधव को थाने बुलाकर उसके साथ अभद्र व्यवहार कर गाली गलौज की और उसकी पिटाई कर दी। थाने में इनका आतंक वीडियो में साफ देखने को मिला। पुलिस की वर्दी का दुरुपयोग करते हुए यह पीड़ित को धमकाते और पीटते नज़र आए।

खकनार थाने में पदस्थ पुलिस कर्मी ने की पत्रकार की पिटाई, सशक्त पत्रकार समिति, राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा, यूनाइटेड प्रेस ऑर्गेनाइजेशन ने मुख्यमंत्री एवं पुलिस अधीक्षक से शिकायत कर की दोषी पुलिसकर्मी को निलंबित करने की मांग, कार्रवाई नहीं होने पर पत्रकारों ने दी आंदोलन की चेतावनी | New India Times

दरअसल मामला ज़मीन व मकान बनाने से जुड़ा है। पत्रकार अपनी 25 वर्ष पुरानी ज़मीन पर निवास करने हेतु उसका मकान बना रहा है, जिस पर ग्राम पंचायत के उपसरपंच राजू चौहान ने आपत्ति ली और 19 अप्रैल को 100 नंबर डायल कर पुलिस बुलाकर पत्रकार प्रकाश जाधव की शिकायत की। शिकायत के बाद पुलिस ने पीड़ित को थाने ले गई जिसके बाद पुलिस ने प्रकाश जाधव पर ही धारा 151 के तहत कार्यवाई करते हुए पीड़ित पर ही केस बना दिया। पीड़ित ने कहा पुलिस कर्मी उपसरपंच के पक्ष में रहते हुए गलत कार्यवाही कर रहे हैं। मेरे पास मकान के दस्तावेज़ है और उक्त मामला राजस्व विभाग से जुड़ा है। इसमें पुलिस कार्यवाही कर रही है, जिसके बाद खकनार थाने में पदस्थ एलएम मौर्य सहायक उपनिरीक्षक आग बबूला हो गए और पीड़ित पत्रकार की पिटाई कर दी।

बता दें कि पीड़ित पत्रकार प्रकाश जाधव को पूर्व से ही आभास था कि पुलिस उसके साथ मारपीट कर सकती है, जिसके चलते सुरक्षा की दृष्टिगत रखते हुए और अपने पास सबूत के तौर पर पत्रकार ने अपने मोबाइल से थाने के भीतर जाने के पूर्व ही अपने मोबाइल का कैमरा चालू कर लिया और उसके बाद मारपीट गाली गलौज की पूरी घटना कैमरे में कैद हो गई। हालांकि पुलिस ने पत्रकार द्वारा वीडियो बनाए जाने पर आपत्ति जताई और कहा कि थाने की गोपनीयता भंग कर रहे हो। अपना कैमरा बंद करो। तभी पत्रकार ने जवाब दिया कि भले ही आप मेरी जान ले लो लेकिन कैमरा बंद नहीं होगा क्योंकि तुम मेरे साथ मारपीट कर रहे हो और इस मारपीट का वीडियो में उच्च अधिकारियों को बताकर न्यायालय में जाकर उचित कार्रवाई की मांग करूंगा।

इस पूरे मामले को लेकर सशक्त पत्रकार समिति, यूनाइटेड प्रेस ऑर्गेनाइजेशन राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा के पदाधिकारियों में मुल्ला तफज्जुल हुसैन मुलायमवाला प्रदेश महासचिव राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा, उमेश जंगाले प्रदेश अध्यक्ष सशक्त पत्रकार समिति, रिजवान अंसारी प्रदेश अध्यक्ष युनाइटेड प्रेस ऑर्गेनाइजेशन व अन्य पदाधिकारियों ने पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पाटीदार को पत्र सौंपते हुए ऐसे पुलिसकर्मी, जो पुलिस की साफ़ सुथरी छवि खराब करने में लगे हैं, जिनकी वजह से पुलिस विभाग का नाम बदनाम हो रहा है, ऐसे पुलिस कर्मियों को निलंबित कर उसके ऊपर विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर कड़ी कार्यावाही की जाए। प्रदेश महासचिव तफज्जुल हुसैन मुलायम वाला ने कहा कि ऐसी घटना की हम कड़ी निंदा करते हैं। उचित कार्रवाई होना चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष उमेश जंगाले ने कहा कि जो भी व्यक्ति पत्रकार के साथ दुर्वव्यवहार, अभद्र भाषाशैली का उपयोग व मारपीट कर रहा है, ऐसे लोगों पर कड़ी कार्रवाई होना जरूरी है।

प्रदेश अध्यक्ष रिज़वान अंसारी ने कहा कि एसपी साहब ने आश्वासन दिए हैं। हमें भरोसा है कि वह इस मामले को गंभीरता से लेते हुए कार्यवाही ज़रूर करेंगे। वहीं पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पाटीदार ने कहा कि जल्द ही इस मामले की जांच कर जो भी दोषी होगा उन पर कार्रवाई की जायेगी। उक्त मामले को लेकर  मुख्यमंत्री एवं आईजी व डीआईजी से भी शिकायत की गई। इस दौरान विनोद लोंढे, प्रीतम महाजन, अनिल महाजन, तौकीर आलम, संजय रघुवंशी, ओपी श्रीवास, कलीम खान, सोहेल खान, फैसल समरोज, संदीप भालसिंह, भगवानदास शाह, मो. इकबाल, कुणाल दसोरे, प्रकाश जाधव सहित आदि पत्रकार मौजूद रहे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading