सतपाल तंवर के वापिस हरदोई में आने की सूचना से बिलग्राम बना पुलिस छावनी | New India Times

फैज़ान खान, गुरुग्राम/नई दिल्ली, NIT:

सतपाल तंवर के वापिस हरदोई में आने की सूचना से बिलग्राम बना पुलिस छावनी | New India Times

बहुजन समाज पार्टी के बूथ लेवल कार्यकर्ता और चुनाव में बूथ एजेंट रघुनंदन लाल हत्या मामले में राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तूल पकड़ लिया है। शुक्रवार को सीधे दिल्ली से हरदोई आकर भीम सेना के प्रमुख नवाब सतपाल तंवर ने हरदोई पुलिस की नाक में दम कर दिया। तंवर अजंता बुद्ध विहार आकर गनीपुर गांव के लिए निकले तो पिछले हजारों भीम सैनिकों का काफिला निकल पड़ा। सतपाल तंवर बोले हम जहां से गुजरते हैं वहां रैलियां निकल जाती है और हम जहां ठहर जाते हैं वहां सभाएं हो जाती हैं।

हरदोई के कई थानों की पुलिस, एसडीएम, सीओ, कई दारोगा, फायर ब्रिगेड, दंगा विरोधी वाहन बुला लिए गए। सतपाल तंवर को राहुला गांव के पास रोक दिया गया। भीम सेना के मुखिया नवाब सतपाल तंवर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया ऐसे भी भीम सैनिकों का हुजूम आया और सतपाल तंवर को पुलिस हिरासत से छुड़ा ले गया। अपनी लूटी-पीटी इज्जत बचाने के लिए बिलग्राम थाने भी भीम सेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष नवाब सतपाल तंवर सहित 150 लोगों पर मुकदमा दर्ज कर दिया गया।

पुलिस को अचानक सूचना मिली कि सोमवार को अजंता बुद्ध विहार बिलग्राम में दलित महापंचायत हो रही है। भीम सेना के मुखिया नवाब सतपाल तंवर दोबारा वापिस हरदोई आ रहे हैं। बिलग्राम थाने में 150 लोगों पर दर्ज हुए मुकदमे के विरोध में, बसपा कार्यकर्ता रघुनंदन लाल हत्याकांड के विरोध में और सतपाल तंवर को रोके जाने के विरोध में दलित महापंचायत होने की खबर पूरे हरदोई में आग की तरह फेल गई। वरिष्ठ अधिकारियों ने भीम सेना की लोकल बॉडी से संपर्क किया तो लोकल बॉडी ने महापंचायत से अपना पल्ला झाड़ लिया। वहीं भीम आर्मी के एक जिला स्तरीय पदाधिकारी द्वारा पुलिस ने वीडियो वायरल करवाया कि इस दलित महापंचायत से उनका कोई लेना-देना नही है।

सतपाल तंवर के वापिस हरदोई में आने की सूचना से बिलग्राम बना पुलिस छावनी | New India Times

वहीं सतपाल तंवर का खौफ पुलिस के जहन में इस कदर बैठ गया कि आनन-फानन में अजंता बुद्ध विहार के अध्यक्ष से वीडियो वायरल करवाया गया कि इस जगह पर ऐसी कोई दलित महापंचायत नहीं होने दी जाएगी। पुलिस कप्तान केशवा चंद गोस्वामी और अतिरिक्त पुलिस कप्तान नृपेंद्र ने सतपाल तंवर से बातचीत करके आश्वासन दिया कि रघुनंदन लाल मामले में तत्परता से कार्रवाई की जा रही है और 150 लोगों पर दर्ज हुए मुकदमे को भी निरस्त करने का आश्वासन दिया। लेकिन पूरा दिन पुलिस में खौफ बना रहा कि कहीं नवाब सतपाल तंवर ना आ जाए। हरदोई के सभी थानों के फोर्स कम पड़ गई, तब रातों रात आसपास के जिलों शाहजहांपुर आदि से फोर्स मंगवाया गया।

पुलिस कप्तान केशवा चंद गोस्वामी खुद पूरा दिन सड़कों की खाक छानते देखे गए। भीम सेना के मुखिया नवाब सतपाल तंवर की दहशत ने शहर को संगीनों के साये में तब्दील कर दिया। एक बार तो शहर में कर्फ्यू जैसा माहौल हो गया था। शाम ढलने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली। सूत्रों ने बताया कि पुलिस रात में भी गश्त कर रही है। पुलिस, एसओजी, एसटीएफ को तैनात किया गया है। कहीं रात को नवाब सतपाल तंवर हरदोई में ना घुस जाए। वहीं बिलग्राम थाने के सब इंस्पेक्टर गोपाल मणी मिश्रा ने सतपाल तंवर को थाने में पेश होने के लिए नोटिस जारी कर दिया है। कुछ दिन हरदोई शहर के लिए बहुत नाजुक हैं।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading