अति आवश्यक सेवाओं की समीक्षा बैठक जिला कलेक्टर श्रीनिधि बीटी की अध्यक्षता में की गई आयोजित | New India Times

यूसुफ खान, ब्यूरो चीफ, धौलपुर (राजस्थान), NIT:

अति आवश्यक सेवाओं की समीक्षा बैठक जिला कलेक्टर श्रीनिधि बीटी की अध्यक्षता में की गई आयोजित | New India Times

अति आवश्यक सेवाओं की समीक्षा बैठक जिला कलेक्टर श्रीनिधि बी टी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में उन्होंने कहा कि ग्रीष्म ऋतु के दौरान पडने वाली अत्यधिक गर्मी को देखते हुए मानव जीवन को सुरक्षित रखना हमारा दायित्व है। पीने के पानी की कमी के कारण मानव जीवन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पडता है। जिले में कोई भी व्यक्ति प्यासा न रहे इस उद्देश्य से राजकीय कार्यालयों, अस्पतालों, बस स्टैंड आदि सार्वजनिक एवं सुगम्य स्थानों पर विभिन्न स्रोतों के माध्यम से मटकियों वाली प्याऊ अथवा वॉटर कूलर आदि से पेयजल व्यवस्था किया जाना सुनिश्चित करें।

भामाशाहों या गैर सरकारी संगठनों, कार्मिक संगठन, धार्मिक ट्रस्टों आदि को प्रेरित कर पुनीत कार्य को करवाये जाने की व्यवस्था करें, साथ ही उनके नियमित रख-रखाव एवं संचालन की व्यवस्था स्वयंसेवी संगठनों एवं स्थानीय नागरिकों आदि के माध्यम से की जाये। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा सार्वजनिक प्याऊ अथवा वॉटर कूलर हेतु पेयजल की उपलब्धता नेटवर्क फिजिबिलिटी की उपलब्धता के आधार पर करवायी जा सकेगी, इसके साथ पक्षियों हेतु परिंडों एवं चुग्गा पात्र लगाने हेतु प्रेरित करने का कार्य भी किया जाये।

जिला कलक्टर ने साप्ताहिक समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि जेवीवीएनएल अवैध कनेक्शन के विरूद्ध कार्यवाही करे एवं इस प्रकार राजस्व की क्षति पहुंचाने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध विधिक कार्यवाही प्रस्तावित कराये, वहीं जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग अवैध रूप से पेयजल का उपयोग करने वाले लोगों के विरूद्ध कार्यवाही करें। गर्मी के मौसम को देखते हुए विद्युत लाईनों के मरम्मत कार्य पर पूर्ण ध्यान देवें।

पेयजल की आपूर्ति की जांच हेतु मौका भ्रमण कर वस्तुस्थिति का जायजा लिया जाये। सभी विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी, अधीनस्थ कार्यालयों के अधिकारी ई-फाइल की स्थिति देखें और लंबित फाइलों का शीघ्र निस्तारण करें, औसत फाईल निस्तारण समय को कम किया जाये। उन्होंने कहा कि कार्यालयों में भौतिक फाइल के स्थान पर ई-फाइल से अधिकतम कार्य किये जायें। उन्होंने कहा कि नगर परिषद शहर में ड्रेनेज प्रबंधन हेतु सीवरेज की नियमित अंतराल पर सफाई करवाये तथा नालों की सफाई कार्य की सफाई निरीक्षकों एवं जमादारों के जरिये मॉनिटरिंग की जाये।

उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को अपंजीकृत अस्पतालों के विरुद्ध कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया तथा मौसमी बीमारियों के विरुद्ध सभी तैयारियां दुरुस्त रखे जाने हेतु कहा। उन्होंने आगामी मानसून सीजन में सभी विभागों को उनके कार्यालयों एवं सार्वजनिक स्थलों पर अधिक से अधिक वृक्षारोपण कराये जाने हेतु कहा। उन्होंने गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए मनरेगा में कार्य करने वाले श्रमिकों के लिए कार्यस्थल पर छाया-पानी की व्यवस्था कराने के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि सम्बन्धित ग्राम विकास अधिकारी को पाबंद किया जाये।

उन्होंने सम्पर्क पोर्टल पर लंबित प्रकरणों एवं जन अभाव अभियोग के प्रकरणों का निस्तारण करने हेतु सभी संबंधित विभागों को निर्देशित किया। इस अवसर पर उप वन संरक्षक वी चेतन कुमार, अतिरिक्त जिला कलक्टर ब्रह्मलाल जाट, सीईओ जिला परिषद सुदर्शन सिंह तौमर, अतिरिक्त जिला पुलिस अधीक्षक मनोज शर्मा, डिप्टी रजिस्टार सत्येन्द्र सिंह मीना सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading