अब पूरी दुनिया में होगी सृष्टि रचियता बृह्मा जी की नगरी अनूठी पहचान: चौधरी लक्ष्मी नारायन | New India Times

अली अब्बास, ब्यूरो चीफ, मथुरा (यूपी), NIT:

चौमुहां में बना बृह्मा जी का विशाल मंदिर, तीर्थ का दर्जा दिलाने को होगा प्रयास प्रांण प्रतिष्ठा 31 को, कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायन होंगे मुख्य यजमान चौमुहां। सृष्टि रचियता बृह्मा जी की नगरी में सैकडों वर्षों बाद एक नए मंदिर की स्थापना हुई है। जिससे बृजवासियों में अनूठी खुशी की लहर है। लोगों में व्यापार, रोजगार एवं पहचान की नई उम्मीद जागी है। ये विचार रविवार को प्रदेश के कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायन ने व्यक्त किए। वो यहां बतौर मुख्य यजमान बोल रहे थे।

उन्होंने कहा कि जिसने सारी सृष्टि की रचना की हो, भला उसका मंदिर दूसरा कौन बनवा सकता है। सृष्टि रचियता बृह्मा जी की असीम कृपा से उनका भव्य, दिव्य मंदिर बन रहा है। मंदिर को तीर्थ का दर्जा दिलाने का प्रयास होगा। जिससे यहां पर्यटन को बढावा मिलेगा। स्थानीय लोगों को रोजगार, व्यापार एवं चौमुहां कस्बा की पहचान
पूरी दुनिया में अनूठी हो सके। मंत्री ने कहा कि पूरे विश्व में बृह्मा जी के दो ही मंदिर हैं। एक पुष्कर राजस्थान में। दूसरा बृजभूमि चौमुहां में। यहां भगवान श्री कृष्ण की बृह्मा जी ने उनके अवतारी होने की परीक्षा ली थी। उनके ग्वाल वाल चुरा लिए थे, मगर भगवान श्रीकृष्ण ने अपनी मायावी शक्ति से उतने ही, उसी आकार प्रकार के ग्वाल वाल प्रकृट कर नंदगांव की ओर लेकर चल दिए थे। तब बृह्मा जी ने भगवान श्रीकृष्ण से क्षमा याचना मांगी। वरदान में इसी जगह तपस्या की मांग की थी। यहां बनी झाडी में बृह्मा जी हजारों साल तपस्या करते-करते लीन हो गए थे। इसलिए यही बृह्मा जी का प्राचीन मंदिर है। बृह्मा जी दर्शन मात्र से जीव का कल्याण होता है। कुष्ठ रोग ठीक होते हैं, घर में सुख, शांति एवं समृद्धि आती है।

बृह्मा जी के चार मुंह होने के कारण यहां बसे कस्बे का नाम चौमुहां पडा। मंदिर बनने से अब कस्बे की पहचान पूरे विश्व में स्थापित होगी। राममंदिर की प्रांण प्रतिष्ठा होने के उपरांत ही अब यहां 31 जनवरी को बृह्मा जी प्रांण प्रतिष्ठा होगी। विशाल भंडारे का आयोजन किया जा रहा है। इसमें सिसौदिया घार की व्यालीसी बढ चढकर भाग लेगी। पूर्व चेयरमैन राधारानी ने कहा कि मंदिर का निमार्ण प्रदेश सरकार के कद्दावर नेता एवं गन्ना विकास एवं चीनी मिल मंत्री चौधरी लक्ष्मीनारायन के नेतृत्व में कस्बावासियों, श्रद्धालुओं के सहयोग से हो रहा है। मंदिर की स्थापना से चहुंओर हर्षोल्लास छाया हुआ है। लगातार भजन, संकीर्तन एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन चल रहा है।
दूर-दराज के श्रद्धालुओं ने यहां डेरा डाला हुआ है। पूर्व चेयरमैन पाल सिंह यादव ने कहा कि करीब दो साल से मंदिर के निमार्ण का कार्य चल रहा है। बृह्मा जी की बेसकीमती मूर्ति मंगाई गई है। पिछले एक सप्ताह से प्रांण प्रतिष्ठा से पूर्व की पूजा अर्चना बडी धूमधाम से चल रही है। बृह्मा जी की महिमा सुन यहां बडी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं।

आचार्य चिंतामणी, कन्हैया लाल वशिष्ठ ने कहा कि 26 जनवरी को वेदियों का निमार्ण हुआ। 27 को गणेश अंबिका पूजन एवं सर्वतौभद्रादि पूजन हुआ। 28 को जलयात्रा, जलाधिवास एवं अन्नादिवास, नेत्रोन्मीलन
कार्यक्रम का आयोजन बडी धूमधाम से हुआ।
कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पूर्व जिला पंचायत सदस्य ममता चौधरी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य मनोज फौजदार, धीरज लाठर, सपना चौधरी, कर्मवीर चौधरी, राजवीर चौधरी, अन्नू, रमा, बुद्दो देवी, चेयरमैन सुषमा सिसौदिया, चेयरमैन प्रतिनिधि कारेबाबा, जगन्नाथ सिंह सिसौदिया, पूर्व चेयरमैन राधारानी, ओंकार सि,पूर्व चेयरमैन पाल सिंह यादव, पूर्व चेयरमैन वंदना सिंह, पूर्व चेयरमैन बिहारी राम, समाजसेवी ठाकुर बिहारी लाल उर्फ पूरन सिंह सिसौदिया, सुरेश मेंबर, कैलाश मेंबर, ज्वाला ताऊ, गिर्राज सिंह, डा पवन वाष्र्णेय, भाजपा नेता पवन वाषर्णेय, राजेन्द्र सिंह,भरत पंडित, पुष्पेन्द्र पहलवान, कालू पहलवान सहित सैकडों लोग कस्बावासी, क्षेत्रवासी भरपूर सहयोग कर रहे हैं।
प्रांण प्रतिष्ठा में मुख्य यजमान कैबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायन, सुपुत्र दिव्यांश चौधरी एवं उनकी पुत्रवधु सपना चौधरी रहेंगी।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading