सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम का हुआ आयोजन | New India Times

मेहलक़ा इक़बाल अंसारी, ब्यूरो चीफ, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम का हुआ आयोजन | New India Times

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग जिला बुरहानपुर में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत विश्व मासिक स्वास्थ्य दिवस माह सीएचसी लेवल पर मानसिक स्वास्थ्य एवं मातृत्व मानसिक स्वास्थ्य जांच, उपचार शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बुरहानपुर जिला न्यायालय के विधिक सहायता अधिकारी श्री जयदेव मानिक, सामाजिक न्याय विभाग के श्री हरिचद्र इंद्रास, सामाजिक विभाग श्रीमान नंदकिशोर बेलेकर मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किए गए। कार्यक्रम के अंतर्गत सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग जिला बुरहानपुर के बीएमओ डॉ विक्की चौकसे एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग में कार्यरत मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर विनोद कुमार जैनवार एवं जिला चिकित्सालय बुरहानपुर के मेडिकल ऑफिसर एवं मनकक्ष विभाग के नोडल अधिकारी डॉ देवेंद्र झडानिया एवं स्टाफ उपस्थित रहा।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग में राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम का हुआ आयोजन | New India Times

कार्यक्रम में सामाजिक न्याय विभाग प्रमुख श्री हरिचंद्र इंद्रास ने मानसिक स्वास्थ्य को लेकर जागरूकता तथा सामाजिक न्याय विभाग से मानसिक विकार वाले मरीजों को मिलने वाली सहायता के बारे में अपने विचार रखें। साथ ही सामाजिक न्याय विभाग से नंदकिशोर बेलेकर ने मानसिक स्वास्थ्य एवं मानसिक मंदता वाले पीड़ित बच्चों में सुधार हेतु मानसिक स्वास्थ्य बनाए रखना तथा गर्भवती माता को गर्भावस्था में गर्भस्थ शिशु को मानसिक विकार से कैसे बचा सकते हैं? इस विषय पर अपने विचार रखें। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग के बीएमओ डॉक्टर विक्की चौकसे ने मानसिक स्वास्थ्य को लेकर हर वर्ग की भागीदारी, समाज में जागरूकता के साथ- फील्ड वर्क स्टाफ को भी मानसिक स्वास्थ्य के प्रति विशेष कार्य करने के लिए प्रेरित। जिला चिकित्सालय मनकक्ष विभाग के नोडल अधिकारी एवं मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर देवेंद्र झडानिया के द्वारा मानसिक स्वास्थ्य एवं टेली मानस की उपयोगिता (टोल फ्री नंबर 14416) के बारे में जानकारी दी।

मानसिक स्वास्थ्य समाज के प्रत्येक व्यक्ति के लिए क्यों जरूरी है ? एवं गर्भवती महिलाओं के लिए “पेरिनेटल मेंटल हेल्थ केयर “महत्व के बारे में बताया गया। गर्भावस्था के शुरुआती समय से लेकर 2 साल तक कम से कम हर माह गर्भवती महिला की मानसिक स्वास्थ्य की स्क्रीनिंग की जानी चाहिए। इसके लिए गर्भवती महिला स्वयं, परिवार और स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मचारी जागरूक बने, क्योंकि गर्भावस्था के दौरान ही अगर महिला का मानसिक स्वास्थ्य स्वस्थ रहा तो वह एक स्वस्थ शिशु को जन्म देगी। मनकक्ष प्रभारी एवं सीनियर नर्सिंग ऑफिसर श्रीमती सीमा डेविड ने कहा की मानसिक स्वास्थ्य समाज के लिए एक महत्वपूर्ण विषय है। इसके लिए सभी को जागरूकता की ओर कदम बढ़ाना होगा। साथ ही इसी कड़ी में मानसिक स्वास्थ्य गर्भवती माता के लिए क्यों जरूरी है।ताकि एक गर्भवती महिला को उसके मन में उठने वाले विभिन्न प्रकार के तनाव, चिंता और डिप्रेशन के साथ- प्रसव के पहले, प्रसव के दौरान एवं प्रसव के बाद होने वाली मानसिक विकारों से बचाव के बारे में बताया। मानसिक स्वास्थ्य को लेकर गर्भवती माता की स्क्रीनिंग की गई।

संबंधित आशा कार्यकर्ता बहनों को गर्भवती माता के लिए मानसिक स्वास्थ्य की उपयोगिता के बारे में बताया गया एवं मानसिक स्वास्थ्य एवं गर्भवती माता के लिए मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल संबंधी पंपलेट बांटे गए। कार्यक्रम में जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री जय देव माणिक बतौर मुख्य अतिथि एवं सामाजिक न्याय विभाग हरिचद इंद्रास एवं श्रीमान नंद किशोर बेलेकर, बीएमओ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग डॉ विक्की चोकसे, डॉ विनोद जैनवार मेडिकल ऑफिसर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग एवं मनकक्ष प्रभारी एवं नोडल अधिकारी डॉ देवेंद्र झडानिया, मनकक्ष सीनियर ऑफिसर नर्सिंग ऑफिसर श्रीमती सीमा डेविड, नर्सिंग ऑफिसर प्रमिला जाधव एव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लालबाग का समस्त स्टाफ एवं शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता बहने एवं समस्त फील्ड स्टाफ एवं अधिक से अधिक संख्या में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीज एवं उनके परिजन उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य समाज में मानसिक स्वास्थ्य के प्रति समर्थन एवं जागरूकता के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य के प्रति प्रत्येक व्यक्ति की भागीदारी के बारे में जागरूक किया गया। गर्भवती महिला की मानसिक स्वास्थ्य संबंधी स्क्रीनिंग की आवश्यकता एवं महत्व बताना। कार्यक्रम का सफल संचालन एवं आभार प्रदर्शन मनकक्ष प्रभारी जिला चिकित्सालय बुरहानपुर एवं सीनियर नर्सिंग ऑफिसर श्रीमती सीमा डेविड ने किया।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading