झाबुआ पुलिस ने 24 घंटे में सुलझाया सनसनीखेज गोलीकांड की गुत्थी

अपराध, देश, राज्य

रहीम शेरानी हिदुस्तानी, ब्यूरो चीफ, झाबुआ (मप्र), NIT:

झाबुआ जिले के बामनिया में मंगलवार को सुबह अज्ञात व्यक्ति द्वारा महिला की गोली मारकर हत्या जैसी सनसनीखेज घटना को अंजाम दिया गया था, इस गोली कांड की गुत्थी को झाबुआ पुलिस ने सुलझा कर सिर्फ 48 घंटे के अंदर ही पूरे मामले का पर्दाफाश कर पुलिस ने तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है जिसमें एक महिला भी शामिल है। झाबुआ पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता द्वारा घटना को गंभीरता से लेते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में टीमें बनाकर घटना के खुलासे की जिम्मेदारी दी गई थी।

पेटलावद थाने पर अतरिक्त एसपी आनंदसिंह वास्कले द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि बामनिया अमरगढ़ रोड़ निवासी नर्मदा पति चंदू कहार उम्र 45 अपने घर के किचन में खाना बना रही थी तब एक अज्ञात व्यक्ति हाथ में पिस्टल लेकर घर में घुसा और महिला के ऊपर फायर कर दिए इस दौरान महिला की मौत हो गयी. घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गया। सभी टीमों द्वारा इस घटना की हर पहलू से जांच पड़ताल की जा रही थी तो यह पता चला कि यह घटना लूट के उद्धेश्य से नहीं की गई है। मृतिका नर्मदा की भुआ की लड़की राखी से मृतिका के बड़े बेटे रवि उर्फ लल्ला पिता चंदु कहार ने शादी कर ली जिस कारण मृतिका नर्मदा द्वारा बड़े बेटे रवि व राखी को घर में नहीं आने देती थी व रवि द्वारा रुपये मांगने पर नहीं देती थी। उसकी माँ नर्मदा मकान में हिस्सा नहीं दे रही थी व 8-10 दिन पहले भी उसकी माँ से इस बात को लेकर झगड़ा हुआ था। ओर मृतिका नर्मदा कुछ दिन पहले बाजार में घुम रहीं थी तब बहु राखी वहां पर मिली थी तब उसने मृतिका को जान से मारने की धमकी दी थी। मृतिका नर्मदा के अंतिम संस्कार में भी बड़ा बेटा रवि व पत्नी राखी नहीं आई तभी पुलिस की शक की सुई एक ही तरफ जाकर टीकी जिस पर पुलिस टीम द्वारा पिथमपुर में दबिश देकर मृतिका के बेटे रवि व बहु राखी को पकड़ा। पुछताछ करने पर बताया कि रवि और राखी ने जमीन-जायदात में हिस्सा नहीं देने की बात को लेकर उसके साले हेमराज को बताया तो हेमराज, रवि ओर राखी ने मिलकर नर्मदा की हत्या करने की योजना बनाई।
साथ ही साथ पुलिस को एक ओर अहम जानकारी प्राप्त हुई कि रवि के साले हेमराज का एक व्हाट्सएप स्टेटस भी प्राप्त हुआ जिसमें लिखा था कि “अब होगा मौत का तांडव” जो कि हत्या करने के कुछ ही समय पहले डाला गया था। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किया गया 32 बोर का पिस्टल भी बरामद कर लिया है ओर मामले के तीनो आरोपियों हरिओम उर्फ हेमराज पिता नारायण केवट उम्र 25 साल निवासी अमझेरा, रवि उर्फ लल्ला पिता चंदू कहार उम्र 21 वर्ष निवासी बामनिया, राखी पति रवि कहार उम्र 20 वर्ष निवासी अमझेरा हाल मुकाम बामनिया को गिरफ्तार कर लिया है। आगे की विवेचना के लिए पुलिस आरोपियों का रिमांड लेने का प्रयास करेगी ताकी मामले में ओर विवेचना की जा सके। संपुर्ण घटनाक्रम का खुलासा करने में एसडीओपी पेटलावद सुश्री सोनु डावर, थाना प्रभारी संजय रावत, बामनिया चौकी प्रभारी नरेश ननामा, अशोक बघेल, रामसिंह चौहान, राजेन्द्र शर्मा, प्रधान आरक्षक चंद्रपाल राजावत, सुनिल, आरक्षक रूपेश, दंगल, महिला आरक्षक कस्तुरी आदि टीम का सराहनीय योगदान रहा उक्त सराहनीय कार्य पर पुलिस टीम को झाबुआ पुलिस अधीक्षक द्वारा पुरूस्कृत करने की घोषणा की है।

Leave a Reply