अगर मेरी हत्या हुई तो इसका जिम्मेदार जिला प्रशासन: ओम प्रकाश

देश, राज्य

गणेश मौर्य, ब्यूरो चीफ, अंबेडकर नगर (यूपी), NIT:

जरा ऊंचा सुनती है जलालपुर पुलिस अगर हत्या हुई तो उसके जिम्मेदार जिला प्रशासन, जमीनी रंजिश को लेकर हत्या का मन बनाया बैठा विपक्ष, ना रहेगी बांस ना बजेगी बांसुरी. ओमप्रकाश पुत्र स्वर्गीय रामशब्द निवासी ग्राम कन्नूपुर (महमूद पुर) ने अंबेडकर नगर पुलिस अधीक्षक और उत्तर प्रदेश के राज्यपाल से न्याय की गुहार लगाई है. पीड़ित ने अपने शिकायती पत्र में लिखा है कि पुरानी जमीनी रंजिश को लेकर मेरी हत्या करने की कोशिश की जा रही है जिसमें पीड़ित डर बस 4 महीने से घर छोड़ कर मारा मारा फिर रहा है। जलालपुर पुलिस को ओम प्रकाश ने बताया कि घर से लगभग रात्रि 8 बजे बड़े पुर के प्रहलाद शर्मा के घर से दूध देकर लौट रहा था तो वापस आते समय राम अजोर ड्राइवर के भाई की किराने की दुकान के पास प्रशांत सिंह दीपक गांव के पूर्व प्रधान पति हैं ने गाली देकर बोला कि आज जान से मारना है। इतने में प्रशांत सिंह दीपक बुलेट गाड़ी घुमऻकर मुझे अशरफपुर तक दौड़ा लिए, मैं किसी तरह वहाँ से जान बचाकर भगा. थाने पर विपक्षियों को बुलाया गया तो वहां सिपाही और दरोगा के सामने भी अपनी हेकड़ी दिखाते हुए कहा छोडूंगा नहीं, जिस पर पुलिस वालों ने डांट फटकार लगाते हुए वहां से उसे भगा दिया। जलालपुर पुलिस ने भरोसा दिलाते हुए बोला कि आप जाकर गांव में रहो अगर इस तरह की कोई भी घटना होती है तो उसके जिम्मेदार आपकी शिकायत के अनुसार यही लोग होंगे।

Leave a Reply