भाजपा जिला अध्यक्ष मनोज लधवे के नेतृत्व में भाजपा का प्रतिनिधिमंडल एडीएम से मिला, सम्पूर्ण जिला को अनलॉक करने की रखी मांग, एडीएम ने दिया जल्द बाजार खोलने का आश्वासन

देश, राज्य

मेहलका इक़बाल अंसारी, बुरहानपुर (मप्र), NIT:

भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज भीम सेन लधवे के नेतृत्व में गुरूवार 10 जून 2021 को भाजपा नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल एडीएम शैलेंद्रसिंह सोलंकी से मिलने कलेक्टर कार्यालय पहुंचा। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे ने प्रशासन से आग्रह किया कि जिले में कोरोना संक्रमण की दर में काफी सुधार आया है। आमजन ने प्रशासन को कोरोना कर्फ्यू के दौरान पूरा सहयोग दिया, यही वजह है कि एक सप्ताह से मिली छूट के दौरान भी कोरोना रफ्तार थमी रही इसलिए अब रेस्टारेंट, होटल, जलपान गृह सहित पूरे बाजार को अनलॉक किया जाना चाहिए। ज्यादा भीड़ वाले स्थानों पर कम क्षमता का नियम लागू किया जा सकता है लेकिन बाजार को कोरोना गाइड लाइन का पालन कराते हुए चालू किया जा सकता है, क्योंकि अधिक टेस्टिंग के बावजूद कोरोना संक्रमित नहीं मिल रहे हैं यह जिले के लिए अच्छा संकेत है।
उन्होंने कहा कि डेढ़ माह से अधिक कोरोना कर्फ्यू के कारण छोटे, बड़े व्यवसायियों के व्यवसाय बंद होने से आर्थिक स्थिति बिगड़ गई है। अब जब कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार कम होती जा रही है तो अन्य शहरों की तरह कोरोना गाइड लाइन के नियमों के तहत पूरे बाजार खोल दिए जाएं। बाजार के साथ ही विवाह कार्यक्रमों में शामिल होने वाले लोगों की संख्या बढ़ा दी जाए। जिससे विवाह आयोजनों से जुड़े आयोजकों व मजदूरों को भी काम मिल सकेगा। अपर कलेक्टर से चर्चा के दौरान पूर्व महापौरगण सर्वश्री अतुल पटेल एवं अनिल भोंसले, पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष दिलीप श्राफ, पूर्व जिपं अध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाटिल, नगर निगम के पूर्व अध्यक्ष मनोज तारवाला आदि मौजूद थे। एडीएम श्री सोलंकी ने प्रतिनिधि मंडल से कहा कि कोरोना महामारी से हमें पूर्ण रूप से छुटकारा नहीं मिला है। जनता और डाक्टरों व अन्य सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से लगातार हम इस बीमारी से विजय प्राप्त कर रहे हैं, लेकिन अभी भी हमें संभल कर रहने की आवश्यकता है। परंतु फिर भी कलेक्टर को स्थिति से अवगत कराएंगे और बाजार जल्द खोलने का प्रयास करेंगे।

होटल, रेस्टोरेंट्स, कैफे मिष्ठान भी हो अनलॉक

जिलाध्यक्ष श्री लधवे ने कहा कि शहर के होटल, रेस्टोरेंट्स, कैफे मिष्ठान सहित समस्त खाद्य प्रतिष्ठान कोविड-19 महामारी के कारण 15 अप्रैल से बंद पड़े हैं। इतने दिनों तक प्रतिष्ठान बंद होने से संचालकों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई है। उक्त प्रतिष्ठान नियम और शर्तों के आधार पर चालू करने की अनुमति दी जाए।

Leave a Reply