टार्गेट पूरा करने के दबाव से परेशान डाॅक्टर का छलका दर्द, तमिया सामुदाईक स्वास्थ केंद्र का मामला

देश, राज्य

मो. मुजम्मिल, जुन्नारदेव/छिंदवाड़ा (मप्र), NIT:

तमिया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ डॉक्टर चिरंजीवी पवार ने कल सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल कर अपनी आपबीती सुनाई है. डॉक्टर का कहना है कि तामिया में पदस्थ तहसीलदार द्वारा उसे कोविड-19 संक्रमण में जांच कम होने के लिए जिम्मेदार मानते हुए धमकाया जा रहा है। गाली-गलौच और अभद्रता की जा रही है. उक्त डॉक्टर ने आरोप लगाया की टारगेट पूरा करने के चलते तहसीलदार मनोज चौरसिया हमेशा शासकीय नियमावली के विरुद्ध जाकर बात करते हैं और मुझ पर लापरवाह होने का आरोप लगाते हैं जबकि मौजूदा हालात ऐसे हैं की जिन ग्रामीण क्षेत्रों में डॉक्टर अपनी टीम लेकर कोविड-19 संक्रमण की जांच के लिए जाते हैं वहां पर लोगों में टेस्टिंग को लेकर उत्साह नजर ही नहीं आता है।
और तो और कई बार यह भी हुआ है कि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों ने डॉक्टर की टीम सहित डॉक्टर को मारने के लिए उतारू हो जाते हैं ऐसे में डॉक्टर का कहना है कि जब लोग समझने को तैयार ही नहीं हैं कि टेस्टिंग कितनी आवश्यक है तो वह कहां से टारगेट पूरा कर देंगे और तहसीलदार हमेशा जिला कलेक्टर का हवाला देते हुए मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते रहते हैं, जैसे तमाम आरोप डॉक्टर द्वारा तहसीलदार पर लगाये गये और अब डॉक्टर ने अपना इस्तीफा देने की बात कहकर विभाग में हड़कंप मचा दिया है, क्योंकि कोविड-19 संक्रमण के चलते वैसे ही जिला प्रशासन के पास चिकित्सकीय महकमे की बहुत कमी है. यहां हम आपको ये बता दें की तहसीलदार महोदय पर डॉक्टर समेत पूरे स्टाफ ने अभद्रता का आरोप लगाया है।

Leave a Reply