जिलाधिकारी उमेश प्रताप सिंह की अध्यक्षता में  जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक की गयी आहूत | New India Times

मुबारक अली, ब्यूरो चीफ, शाहजहांपुर (यूपी), NIT:

जिलाधिकारी उमेश प्रताप सिंह की अध्यक्षता में  जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आहूत की गयी। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग से सम्बन्धित योजनाओं की प्रगति की जानकारी ली। कम प्रगति वाले क्षेत्रों के एमओआईसी को प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिये।

बैठक के दौरान दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी एवं जिला कृषि रक्षा अधिकारी के अनुपस्थित रहने पर जवाब तलब करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने निर्देश दिए की आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनाने में तेजी लायी जाये। जननी सुरक्षा योजनांतर्गत मिर्जापुर में संस्थागत प्रसव की स्थिति सबसे खराब होने पर कड़ी नाराज़गी व्यक्त करते हुए संबंधित एमओआईसी को निर्देश दिए कि कार्य में सुधार लाएं और जो भी आशाएं गर्भवती महिलाओं को प्रसव के लिए प्राइवेट अस्पतालों में ले जा रही हैं ऐसी आशाओं को चिन्हित कर उनके विरुद्ध कार्रवाई करें।

टी0वी0 के मरीजों को दवाएं एवं भुगतान नियमित समय से किये जाने के निर्देश दिए, आभा आईडी कार्ड बनाने में नगर की स्थिति सबसे खराब होने पर एक सप्ताह में सुधार करने तथा संबंधितों को नोटिस देने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी सी0एच0सी0, पी0एच0सी0 पर तैनात डाक्टरो को निर्देश दिए कि अपनी तैनाती स्थल पर ही रात्रि में निवास करें। डीएम ने निर्देशि दिये कि अस्पतालों में मरीजों का समुचित उपचार किया जाए, मरीजो के साथ मधुर व्यवहार करें। उन्होंने कहा कि संवेदना बढ़ाएं किसी भी दशा में उपचार के दौरान कोई लापरवाही न बरती जाये।

उपलब्ध संसाधानों के अनुरूप मरीज का उपचार किया जाये किसी भी दशा में अनावश्यक रूप से मरीज को रेफर न किया जाये। उन्होंने निर्देशित करते हुये कहा कि टीकाकरण सेशन से पहले क्षेत्र में जानकारी दे दी जाए तथा टीकाकरण के महत्व के बारे में लोगों को जागरूक किया करें। टीकाकरण से कोई भी बंचित न रहे यह सुनिश्चित किया जाये। बैठक में आयुष्मान कार्ड, फैमिली प्लानिंग, पीसीपीएनडीटी एक्ट का क्रियान्वयन, कुष्ठ रोग नियंत्रण, राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम एवं जननी सुरक्षा योजना आदि बिन्दुओं विस्तृत समीक्षा की गयी।

विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं दस्तक अभियान के सफल क्रियान्वयन के संबंध में संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि परस्पर विभागीय समन्वय व टीमवर्क के साथ अभियान को सफल बनाएं। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह गंभीरतापूर्वक अपने विभागीय कार्यों को करें तथा वेरीफाइड माइक्रो प्लान 27 जून तक स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध कराएं। सौंपे गए दायित्व को अच्छे ढंग से निर्वहन करें।  संचारी रोग नियंत्रण अभियान 1 जुलाई से प्रारंभ होकर 31 जुलाई तक चलेगा तथा 11 जुलाई से दस्तक अभियान चलेगा।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों से सभी तैयारियां समय से पूर्ण करने तथा ब्लॉक व तहसील स्तर पर कार्यशाला आयोजित करने हेतु निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अधिकारी स्वयं सबसे प्रभावित स्थलों का निरीक्षण करें तथा उसी के अनुरूप वेरीफाइड माइक्रो प्लान बनाएं ताकि अभियान को सफल बनाया जा सके।

उन्होंने ग्रामों व शहरों में साफ सफाई की समुचित व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आमजन को अभियान के प्रति जागरूक किया जाए ताकि अभियान को जन सहभागिता के साथ सफल बनाया जा सके। प्रत्येक पैरामीटर पर जनपद में अच्छे ढंग से कार्य किया जाए। अभियान की सभी गतिविधियां समय से पूर्ण की जाए। उन्होंने निर्देश दिए की क्वालिटी एवं क्वांटिटी को मेंटेन किया जाए। इस अभियान में लगे सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों की उपस्थिति ऑनलाइन ली जाए।

इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 आर0के0, डीडीओ पवन कुमार सिंह, डीपीआरओ धनश्याम सागर सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading