भीम सेना ने 17 मार्च को दलित महापंचायत का किया ऐलान, भीमसेना चीफ सतपाल तंवर ने बढ़ाई बड़ागांव की गर्मी | New India Times

फैज़ान खान, रामपुर/नई दिल्ली, NIT:

भीम सेना ने 17 मार्च को दलित महापंचायत का किया ऐलान, भीमसेना चीफ सतपाल तंवर ने बढ़ाई बड़ागांव की गर्मी | New India Times

शनिवार देर रात भीम सेना चीफ नवाब सतपाल तंवर के सिलई बड़ागांव में दाखिल होने से अचानक प्रशासन हाई अलर्ट मोड़ पर आ गया। शहर के अम्बेडकर पार्क पर पुलिस की कई गाड़ियां लगाकर तंवर को रोकने के भरसक प्रयास किए गए। कई थाना प्रभारी और सीओ ने तंवर को रोकने के असफल प्रयास करते रहे। आखिरकार वे बड़ागांव पहुंच ही गए।

भीम सेना ने 17 मार्च को दलित महापंचायत का किया ऐलान, भीमसेना चीफ सतपाल तंवर ने बढ़ाई बड़ागांव की गर्मी | New India Times

बड़ागांव में दाखिल होने से पहले सतपाल तंवर की गाड़ियों को रोक लिया गया। उनके साथ आई भीम सेना टीमों की जानकारी रजिस्टर में लिखी गई। सतपाल तंवर को कई घंटे तक नजरबंद रखा गया। आखिरकार काफी जद्दोजहद और नोंक-झोंक के बाद सतपाल तंवर को इस शर्त पर पीड़ित परिवार के पास जाने की अनुमति दी कि वे वापिस लौट जाएंगे।

भीम सेना ने 17 मार्च को दलित महापंचायत का किया ऐलान, भीमसेना चीफ सतपाल तंवर ने बढ़ाई बड़ागांव की गर्मी | New India Times

लेकिन भीम सेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी। तंवर पीड़ित परिवार से मिलकर वहीं खाना खाकर ग्रामीणों के बाहर पर ठहर गए। सतपाल तंवर की बड़ागांव में मौजूदगी से पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए और भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। अधिकारी भी पूरी रात बड़ागांव में ही खाक छानते रहे और तंवर की गतिविधियों पर पैनी नजर रखी गई।

भीम सेना ने 17 मार्च को दलित महापंचायत का किया ऐलान, भीमसेना चीफ सतपाल तंवर ने बढ़ाई बड़ागांव की गर्मी | New India Times

सतपाल तंवर ने प्रशासन की मौजूदगी में रविवार सुबह ग्रामीणों और पीड़ित परिवार की सहमति से 17 मार्च को महासंग्राम की घोषणा करते हुए दलित महापंचायत का ऐलान कर दिया। पीड़ित परिवार और ग्रामीणों ने भीम सेना के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष नवाब सतपाल तंवर के साथ मिलकर देश भर के बहुजन दलित समाज, सभी संगठन, संस्थाओं और विपक्षी राजनीतिक दलों से 17 मार्च को अधिक से अधिक संख्या में सिलई बड़ागांव पहुंचने की अपील की है।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts to your email.

By nit

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading