स्कूल परिसर ही बनी शमशान घाट, डर के माहौल में पढ़ाई कर रहे हैं मासूम बच्चे, शिकायत के बाद भी नहीं हो रही है कोई कार्यवाही | New India Times

त्रिवेंद्र जाट, देवरी/सागर (मप्र), NIT:

देवरी जनपद पंचायत के ग्राम पंचायत समनापुर सेठ में शासकीय माध्यमिक शाला परिसर जो पूरी ग्राम पंचायत का शमसान घाट बनके रह गया है। जब भी ग्राम पंचायत में कोई भी व्यक्ति कि मृत्यु होती है तो उस व्यक्ति के शव को जलाने के लिए स्कूल परिसर की भूमि पर ही जलाया जाता है जिससे वहां स्कूल में पढ़ रहे करीब 81 बच्चे/बच्चियों को शव को जलते देख डर का माहौल बना हुआ रहता है। कुछ बच्चे तो स्कूल जाना ही बंद कर चुके हैं तो कुछ बच्चों ने ग्राम के स्कूल से नाम कटवा कर अन्य स्कूल में नाम लिखवा लिया। वहीं बात कि जाए ग्राम पंचायत समनापुर सेठ के पुराने शमसान घाट कि तो वो पुरानी पंचायत भवन के पास ही है जो करीव 2 एकड़ भूमि में होने के बाबजूद भी अतिक्रमण ग्रस्त है। वहां के ही एक दबंग ग्रामीण द्वारा उस शमसान घाट की भूमि पर दबंगता के साथ अतिक्रमण किया गया है। ग्राम पंचायत ने इसकी शिकायत देवरी जनपद सीईओ से लेकर तहसीलदार एस डी एम तक की मगर कोई कार्यवाही नजर नहीं आई। इन मासूम बच्चों की सुनने वाला कोई नज़र नहीं आया ना ही इनकी किसी को कोई चिंता है। वहीं स्कूल के बच्चों से जब पूछा गया तो मासूम बच्चों ने बताया कि हम लोगों को स्कूल आने में भी डर लगता है और ना ही हम लोग स्कूल परिसर में खेलने जाते हैं। इस समस्या के सबंध में देवरी के पत्रकारों ने भी ये मामला कई बार उठाया पर मूकदर्शक बने अधिकारियों ने कोई सुध लेनी नहीं चाही। उनके द्वारा सिर्फ जांच कराने की बात कहकर बात टाल दी गई‌ वहीं डर के माहौल से यदि किसी बच्चे के साथ कोई बड़ी घटना घटती है तो उसकी पूरी जिम्मेदारी देवरी के वरिष्ठ अधिकारियों की ही होगी। अब आगे यह देखते हैं कि इन मूकदर्शक बने अधिकारी इस मामले पर क्या कार्यवाही करते हैं है या फिर इस मामले को पुनः नजरअंदाज़ करते हैं।जबकि नये मुख्यमंत्री मोहन यादव ने भी अतिक्रमण पर कार्यवाही करने के सभी अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं उसके बाबजूद भी यदि कोई कार्यवाही नहीं होती है तो सीधा मुख्यमंत्री यादव के आदेश की अवहेलना होगी।

मेरे द्वारा देवरी सीईओ तहसीलदार एस डी एम को कई बार लिखित शिकायत कि गई मगर कोई कार्यवाही नहीं हुई: श्रीमती गोमती कमलेश लोधी, सरपंच सामनापुर सेठ ग्राम पंचायत।

मैंने लिखित रूप से पत्र के माध्यम से सीईओ, तहसीलदार, एसडीएम से शिकायत की है तो एक दिन नायब तहसीलदार साहब आये थे पर उसके बाद कोई कार्यवाही नहीं हुई जबकी उस अतिक्रमण वाली जगह पर नया शमसान घाट बनाया जाना है। पंचायत से टीन सेट लगवा देंगे पर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही तहसीलदार करवा दें तो वहां शमसान घाट का निर्माण करा दिया जाएगा: अनिल मिश्रा सचिव ग्राम पंचायत समनापुर सेठ।

मैंने स्कूल की तरफ से देवरी बीआर सी सर और एस डी एम सर को कई बार लिखित शिकायत की है पर कोई कार्यवाही अभी तक नहीं हुई है। स्कूल में बच्चे डर के माहौल में पढ़ते हैं कुछ बच्चे डर के कारण स्कूल भी नहीं आते हैं: सत्य सींग ठाकुर, प्रभारी प्रधानाध्यापक शासकीय माध्यमिक शाला समनापुर सेठ।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading