विकास भवन सभागार में प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी श्री जुनैद अहमद की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति (डीएचएस) की बैठक हुई संपन्न | New India Times

अरशद आब्दी, ब्यूरो चीफ, झांसी (यूपी), NIT:

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में प्रभारी जिलाधिकारी ने उपस्थित चिकित्सकों को स्पष्ट निर्देश दिए कि जमीनी स्तर पर नवजात बच्चे एवं गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण और उनके स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देते हुए कार्य किया जाए तो स्वास्थ्य सेवाओं में गुणात्मक सुधार होगा। जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर से और बेहतर बनाए जाने के प्रयासों में निरंतरता बनाए रखें। इसके अतिरिक्त जनपद में टीकाकरण सहित विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान के दृष्टिगत भी ग्रामीण क्षेत्र में एमओआईसी निश्चित रूप से क्षेत्र भ्रमण करना सुनिश्चित करें।

प्रभारी जिलाधिकारी श्री जुनैद अहमद ने जिला स्वास्थ्य समिति (शासीनिकाय) की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि सरकार की मंशा है कि जनपद के प्रत्येक नागरिक सहित बच्चा एवं गर्भवती महिलाओं को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध हों। उन्होंने कहा की जमीनी स्तर पर यदि गर्भवती महिलाओं का समुचित टीकाकरण एवं बच्चों के टीकाकरण पर अधिक फोकस किया जाए तो स्वास्थ्य सेवाओं में गुणात्मक सुधार होगा। उन्होंने उपस्थित समस्त चिकित्सकों को निर्देश देते हुए कहा कि मातृ मृत्यु दर में कमी ले जाने के प्रयासों में तेजी लाएं। उन्होंने जनपद में 04 मातृ मृत्यु दर के संबंध में संबंधित एमओआईसीसे जानकारी प्राप्त की।

जिला स्वास्थ्य समिति बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रभारी जिलाधिकारी ने प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से संदर्भित केसों विशेष कर फर्स्ट रेफेरल यूनिट के संदर्भित केसों की जानकारी ली और निर्देश दिए कि मेडिकल कॉलेज में रजिस्टर के माध्यम से मरीज का सत्यापन किया जाना सुनिश्चित किया जाए ताकि यह संज्ञान में आ सके की समस्त मरीज मेडिकल कॉलेज में दाखिल हुए अथवा नहीं। जननी सुरक्षा योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने तत्काल समस्त महिलाओं का भुगतान सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

प्रभारी जिलाधिकारी ने जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में आरबीएसके की समीक्षा करते हुए बेसिक शिक्षा अधिकारी से टीम द्वारा बच्चों की नियमित जांच की जा रही है के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि नवजात बच्चों को लगाए जाने वाले टीकाकरण को संवेदनशील होकर किया जाना सुनिश्चित किया जाए। स्वस्थ बच्चा ही स्वस्थ समाज का निर्माण करेगा।

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना गोल्डन कार्ड बनाए जाने की समीक्षा करते हुए प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक विकासखंड में ऐसे गांव को चिन्हित किया जाए जहां अधिक से अधिक गोल्डन कार्ड बनाया जाना लंबित है। वहां फोकस करते हुए कैंप आयोजित कर ग्रामीणों को मुनादी के माध्यम से जानकारी दें ताकि अधिक से अधिक परिवारों के गोल्डन कार्ड बनवाया जाना सुनिश्चित किया जा सके।

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में जिलाधिकारी ने आयुष्मान भारत योजना, परिवार कल्याण कार्यक्रम, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, राष्ट्रीय अंधता नियंत्रण कार्यक्रम, एंबुलेंस सेवा, राष्ट्रीय कुष्ठ रोग नियंत्रण कार्यक्रम तथा वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम की प्रगति और किए गए कार्यों की बिंदुवार समीक्षा की।

इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ॰ सुधाकर पांडेय, सीएमएस जिला अस्पताल डॉक्टर पी के कटियार,सीएमएस मेडिकल कॉलेज डॉक्टर सचिन माहौर, सीएमएस महिला अस्पताल डॉक्टर सुमन, एसीएमओ डा.एन के जैन, डॉ॰ रवि शंकर, डॉ राम बाबू,डॉ० आरके सक्सेना,डा॰ रमाकांत, डीएमसी श्री आदित्य जयसवाल, डीसीओ श्री रजनीश मिश्रा, वीसीसीएम गौरव वर्मा सहित समस्त एमओआईसी व अन्य चिकित्सक, विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।


Discover more from New India Times

Subscribe to get the latest posts sent to your email.

By nit

This website uses cookies. By continuing to use this site, you accept our use of cookies. 

Discover more from New India Times

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading